नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नोएडा : एमिटी यूनिवर्सिटी में छात्रों के लिए “कैरियर योजना सत्र”

1 min read

नोएडा, 14 जून।

एमिटी विश्वविद्यालय के ‘‘ कैरियर योजना सत्र’’ में छात्रों और अभिभावकों ने प्रवेश प्रक्रिया और पाठयक्रम की जानकारी ली। छात्रों के लिए 12वी कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद कैरियर चुनना एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया होती है।

प्रोग्राम व संस्थान को चुनने के भ्रम को दूर करने और छात्रों कीे क्षमता, रूचियों और कौशल को पहचानकार उनका मार्गदर्शन करने के लिए एमिटी विश्वविद्यालय द्वारा कैरियर प्लानिंग सत्र का आयोजन आई टू ब्लाक सभागार में किया गया। इस अवसर पर प्रवेश लेने वाले सैकड़ों छात्रों और उनके अभिभावकों को प्रवेश प्रक्रिया, छात्रवृत्ती आदि की विस्तृत जानकारी प्रदान की गई। इस कैरियर प्लानिंग सत्र में एमिटी विश्वविद्यालय उत्तरप्रदेश की वाइस चांसलर डा बलविंदर शुक्ला, एमिटी ग्रूप्‌ वाइस चांसलर डा गुरिंदर सिंह, एमिटी साइंस टेक्नोलॉजी एंड इनोवेशन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती और एडमिशन निदेशक मेजर जनरल भास्कर चक्रवर्ती द्वारा जानकारी प्रदान की गई।

एमिटी विश्वविद्यालय उत्तरप्रदेश की वाइस चांसलर डा बलविंदर शुक्ला ने कहा कि एमिटी छात्रों के सर्वागीण विकास के लिए प्रतिबद्ध है और हम हर छात्र को सफलता की एक कहानी बनाना चाहते है। गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ हम छात्रों में मानव मूल्यांे को पोषित करते है। तेजी से बदलते इस वैश्विक परिवेश में छात्रो ंको प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार करते है जिससे चाहे वे व्यापार करे या कोरपोरेट विश्व का हिस्सा बने, सदैव सफल रहे। ़नई शिक्षा नीति छात्रों को बहु प्रवेश एंव निकास, नियमित या ऑनलाइन मोड शिक्षा ग्रहण करने का अवसर दे रही है। हम छात्रों को उद्योग विशेषज्ञों से मिलने का अवसर प्रदान करते है जिससे उन्हे यह जानकारी हो कि आने वाले 2 से 3 वर्षो में उद्योग में किस प्रकार के मानव संसाधन की मांग होगी। हम छात्रों को शोध व नवाचार के लिए प्रेरित करते है जिसमे ंस्नातक के छात्रों को पेपर प्रस्तुत करने का अवसर और उन्हे उद्यम प्रारंभ करने के लिए नये आइडिया को पहचानने के लिए प्रोत्साहित करते है।

एमिटी ग्रूप्‌ वाइस चांसलर डा गुरिंदर सिंह ने कहा कि हम छात्रों को वैश्विक नागरिक बनाने के लिए वैश्विक अनावरण प्रदान करते है जिसमें छात्रों को क्रेडिट एक्सचेंज प्रोग्राम, स्टडी अब्राड प्रोग्राम, इंर्टनशिप अब्राड, सेमेस्टर एक्सचेंज आदि अवसर मिलते है। डा सिंह ने यूके, यूएस और ऑस्ट्रेलिया में शिक्षण के अवसर और अन्य विश्वविद्यालयों के साथ साझेदारी की जानकारी भी दी।

एमिटी साइंस टेक्नोलॉजी एंड इनोवेशन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती ने कहा कि हम छात्रों को शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक विकास में सहायक बन उन्हे शैक्षणिक डिग्री प्रदान करते हैए उन्हे विचार करने, निर्माण करने और समस्याओं का निवारण करने के लिए भी प्रेरित करते है। सबसे अधिक हम उन्हे जीवन मे चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार करते है। एमिटी में मानव व्यवहार, विदेशी भाषा का ज्ञान और वैश्विक अनवारण प्रदान किया जाता है जो छात्र के पूर्णकालिक विकास के लिए आवश्यक है।

एमिटी विश्वविद्यालय के एडमिशन निदेशक मेजर जनरल भास्कर चक्रवर्ती ने जानकारी देते हुए बताया कि एमिटी अवसरों का सागर है और आज विकसित हो रहे भारत में आपकी भूमिका को महत्वपूर्ण बनाते हुए एमिटी आपको विकास के अवसर प्रदान कर रहा है। किसी भी संस्थान मे ंप्रवेश लेने से पूर्व यह जरूर समझे की क्या पढ़ना है और कहां पढ़ना है, क्षमता को पहचाने और डिग्री के बाद भविष्य क्या होगा इस पर विचार करें। उन्होने कहा कि उन विषयों का चयन करे जिनमें आप बढ़िया हो, अपने जूनून को पहचाने, यह मत सोचें की लोग क्या सोचेंगे, किसी की नकल करके कोर्स का चयन ना करें। संस्थान के विविध कार्यक्रमों, वैश्विक अनावरण, शिक्षको, अनुसंधान क्षेत्रों, छात्रवृत्ती, छात्रों के लिए सुविधाओं आदि को जानें। उन्होनें एमिटी विश्वविद्यालय के पाठयक्रमों की विस्तृत जानकारी भी दी।

इस अवसर पर अभिभावकों और छात्रों ने कोर्स से संबधित कई प्रश्न किये जिनके उन्हे जवाब प्रदान किये गये। अभिभावको और छात्रों से रूचि के अनुरूप एमिटी विश्वविद्यालय के विभिन्न संस्थानों में शिक्षकों से मुलाकात की और उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी प्राप्त की। इस कार्यक्रम में एमिटी लॉ स्कूल के चेयरमैन डा डी के बद्योपाध्याय,एमिटी स्कूल ऑफ इंजिनियरिंग एंड टेक्नेालॉजी के सयुंक्त निदेशक डा मनोज पांडेय ने भी अपने विचार रखे।

 11,895 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.