नोएडा खबर

खबर सच के साथ

सीईओ नोएडा डॉ लोकेश एम ने सभी वर्क सर्किलों से गांवों में गली नम्बर व अन्य सुविधाओं पर रिपोर्ट मांगी, सार्वजनिक स्थलों पर लगेंगी मूर्तियां

1 min read

नोएडा, 14 जून।

नोएडा प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ लोकेश एम० ने शुक्रवार को प्राधिकरण के सिविल अभियान्त्रिकी विभाग की बैठक ली। इसमे अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी (एसपी) श्री सतीश पाल सिंह, उप महाप्रबन्धक (सिविल) श्री विजय रावल एवं समस्त वर्क सर्किलों के वरिष्ठ प्रबन्धक उपस्थित रहे। बैठक में नोएडा के गांवों की मूलभूत सुविधाओं गलियों के नम्बर, सीवर, सीसी रोड, बारातघर, श्मशानघाट, पानी, स्ट्रीट लाइट व सफाई पर सभी वर्क सर्किल से रिपोर्ट मांगी है।

बैठक में सीईओ डॉ लोकेश एम द्वारा विगत तीन बैठकों यथा- दिनांक 17.02.2024, 01.04.2024 एवं 27.05.2024 को ली गई बैठकों में दिये गये निर्देशों के क्रम में वर्क सर्किल 1 से 10 द्वारा की गई कार्यवाहियों की समीक्षा की गई। बैठक के दौरान विगत बैठकों में विभिन्न महत्वपूर्ण परियोजनाओं यथा-एलिवेटेड रोड, प्रशासनिक भवन, गोल्फ कोर्स की प्रगति की समीक्षा की गई एवं विभिन्न प्रगतिरत कार्यों के फोटोज देखे गये।

डी.एस.सी. मार्ग पर निर्माणाधीन एलिवेटेड रोड के सम्बन्ध में संविदाकार संस्था उ०प्र० राज्य सेतु निगम द्वारा प्रभावी कार्यवाही न किये जाने के दृष्टिगत सेतु निगम के प्रबन्धक निदेशक को पत्र भेजे जाने एवं निर्माणाधीन गोल्फ कोर्स की समीक्षा के दौरान परियोजना के स्थल की अवशेष भूमि का अधिग्रहण अभी तक न होने के दृष्टिगत भूलेख विभाग को पत्र प्रेषित करने हेतु निर्देशित किया गया। इसके अतिरिक्त मुख्य प्रशासनिक भवन में अधिकारियों के बैठने की व्यवस्था के सम्बन्ध में पृथक से विस्तृत विचार-विमर्श किये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

सैक्टर 51 व 52 मैट्रो स्टेशन के मध्य निर्माणाधीन स्काई वॉक के कार्य की समीक्षा की गई, जिसमें सम्बन्धित द्वारा सितम्बर 2024 के अन्त तक कार्य पूर्ण किये जाने के लक्ष्य से अवगत कराया गया। सीईओ द्वारा समय पर कार्य पूर्ण किये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

आगामी चिल्ला एलिवेटेड रोड परियोजना की समीक्षा के दौरान अवगत कराया गया कि परियोजना की निविदा आमंत्रण में 5 बिड प्राप्त हुई हैं, जिनका परीक्षण किया जा रहा है। महोदय द्वारा शीघ्रातिशीघ्र अग्रेत्तर औपचारिकतायें पूर्ण करते हुए कार्य प्रारम्भ कराये जाने के निर्देश दिये गये।

विगत बैठक में ग्रामवासियों द्वारा की जाने वाली मांगो के क्रम में प्राधिकरण द्वारा उक्त मांगों का तीव्र निस्तारण किये जाने के निर्देश दिये गये थे, उक्त के क्रम में कृत कार्यवाही की समीक्षा की गई, जिसमें कतिपय ग्रामों में सुधारात्मक कार्य किया जाना संज्ञानित हुआ। इस सम्बन्ध में महोदय द्वारा नौएडा के समस्त ग्रामों में प्रदान की गई मूलभूत सुविधाओं यथा- “सी.सी. रोड, ड्रेन, सीवर, पानी, बारातघर, शमशानघाट, पथ-प्रकाश व्यवस्था, सफाई व्यवस्था, एवं गलियों के नम्बर अंकन आदि सुविधायें प्रदान की गई हैं अथवा नहीं का प्रस्तुतिकरण फोटोग्राफ सहित किये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा पूर्व में दिये गये निर्देशानुसार वर्क सर्किलों द्वारा अतिक्रमण उन्मूलन की कार्यवाही की भी समीक्षा की गई, जिसमें उनके द्वारा विभिन्न वर्क सर्किलों द्वारा अतिक्रमण के विरुद्ध की गई प्रभावी कार्यवाहियों को आगे भी जारी रखने हेतु निर्देशित किया गया तथा अन्य वर्क सर्किलों को भी इसी प्रकार कार्यवाही किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। यह भी निर्देशित किया गया कि इस प्रकार के अतिक्रमण उन्मूलन अभियान चलाकर प्राधिकरण की अधिक से अधिक भूमि खाली करायी जाये, जिससे कि प्राधिकरण को लैण्ड बैंक प्राप्त हो सके तथा आगामी योजनाओं में उक्त भूमि को सम्मिलित किया जा सके।

नौएडा प्राधिकरण द्वारा कराये जाने वाले विकास कार्यों हेतु अपनायी जाने वाली प्रक्रिया हेतु मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) का निर्धारण किये जाने हेतु अग्रिम कार्यवाही शीघ्रातिशीघ्र सम्पादित किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। इसके अतिरिक्त प्राधिकरण की निविदाओं में निविदाकारों से ली जाने वाली Performance Guarantee की शर्तों में संशोधन किये जाने की कार्यवाही हेतु भी निर्देशित किया गया।

वर्क सर्किल 3 एवं 8 के अन्तर्गत विभिन्न आगामी परियोजनाओं यथा मार्केट का नवीनीकरण, फूड जोन / वेन्डिंग जोन इत्यादि के सम्बन्ध में प्रस्तुतिकरण किये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

सड़कों पर फुटपाथ एवं ब्लैक टॉप के मध्य के.सी. ट्रेन में कूड़ा एकत्रित न हो इस सम्बन्ध जनस्वास्थ्य विभाग से समन्वय करते हुए आगामी बरसात से पूर्व नौएडा की सभी के.सी. ड्रेन की सफाई करवाये जाने हेतु निर्देशित किया गया, ताकि उक्त के कारण सड़कों पर जलभराव की स्थिति उत्पन्न न हो।

वर्क सर्किलों द्वारा नालों को कवर किये जाने के कार्य की समीक्षा के दौरान निर्देशित किया गया कि विभिन्न स्थानों पर नाले की चौड़ाई से अधिक बड़े कवर्स लगाये गये हैं, जो कि उचित नहीं है। अतः नालों की चौड़ाई के अनुसार ही नालों पर कवर रखवाये जायें।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी (एसपी) द्वारा उप महाप्रबन्धक (सिविल) को ग्राम निठारी का सम्पूर्ण निरीक्षण किये जाने हेतु निर्देशित किया गया तथा निरीक्षण के दौरान पाये जाने वाले समस्त तथ्यों को समायोजित करते हुए प्रस्तुतिकरण किये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

नौएडा प्राधिकरण द्वारा प्रस्तावित विभिन्न तालाबों के जीर्णोद्धार, सौन्दर्गीकरण एवं नये तालाबों के निर्माण के सम्बन्ध में विस्तृत विवरण सहित एक प्रस्तुतिकरण किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। उक्त दोनों प्रस्तुतिरकण एक ही दिन किये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

बैठक में विचार-विमर्श किया गया कि नौएडा क्षेत्र में महत्वपूर्ण सार्वजनिक स्थलों पर किसी भी प्रकार की मूर्ति स्थापना का अभाव है। उक्त के दृष्टिगत नौएडा प्राधिकरण क्षेत्र में महत्वपूर्ण चौराहों / तिराहों अथवा अन्य महत्वपूर्ण स्थलों के सौन्दर्य को बढ़ाने के दृष्टिगत स्थलों पर मूर्ति की स्थापना के दृष्टि से स्थलों को चिन्हित करते हुए प्रस्तुतिकरण किये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

वर्क सर्किल-1 द्वारा अपने क्षेत्रान्तर्गत कुछ मार्गों पर सौन्दर्याकरण कराये जाने का प्रस्तुतिकरण दिया गया, जिसके सम्बन्ध में मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा उक्त पर अग्रिम कार्यवाही के निर्देश दिये गये तथा अन्य वर्क सर्किलों को भी अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत कम से कम 500 मी० (दोनों ओर) पायलट प्रोजेक्ट के रूप में इसी प्रकार विकसित किये जाने हेतुनिर्देशित किया गया तथा प्रत्येक वर्क सर्किल द्वारा अगले 2 दिनों में अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत उक्त मार्गों को चिन्हित करते हुए अवगत कराने हेतु निर्देशित किया गया।

बैठक के उपरान्त मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा सिविल विभाग के अधिकारियों के साथ स्थलों पर प्रगतिरत कार्यों की समीक्षा हेतु स्थल निरीक्षण भी किया गया।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा वर्क सर्किल 1 के क्षेत्रान्तर्गत ग्राम-हरौला और सैक्टर-2 के मध्य निर्माणाधीन नाले का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान कार्य को तीव्र गति से पूर्ण कराने तथा कार्य के दौरान सुरक्षा सम्बंधी मानकों का समुचित पालन करने के निर्देश दिये गये। यह भी निर्देश दिये गये कि कार्य इस प्रकार सम्पादित किया जाए कि जनमानस को आवागमन में कोई असुविधा न हो तथा यातायात व्यवस्था भी प्रभावित न हो। साथ ही कार्य की गुणवत्ता से कोई समझौता न करने हेतु निर्देशित किया गया।

तदोपरान्त मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा डी०एस०सी० मार्ग पर बॉटेनिकल गार्डन के सामने फुटपाथ के प्रगतिरत कार्य का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान फुटपाथ में लगाई जा रही टाईलों को एक लेविल में लगाने हेतु निर्देशित किया गया। साथ ही प्रगतिरत कंक्रीट के कार्य को अलग-अलग पैच में न करते हुए सम्पूर्ण कंक्रीट का कार्य एक साथ करने के निर्देश दिये गये।

 11,428 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.