नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नोएडा में हेलीपोर्ट का प्रस्ताव शासन से मंजूर, जल्द टेंडर जारी होगा

1 min read

नोएडा, 15 दिसम्बर।

नोएडा शहर में पी पी मॉडल पर हेलीपोर्ट बनाने के प्रस्ताव को शासन ने मंजूरी दे दी। अब नोएडा प्राधिकरण ने इसका टेंडर जारी करने की तैयारी की है।

नोएडा प्राधिकरण के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 6 दिसम्बर को अपर मुख्य सचिव, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास विभाग उ०प्र० शासन की अध्यक्षता में नौएडा शहर में सैक्टर-151ए में पी.पी.पी. (Public Private Partnership) मॉडल पर हैलीपोर्ट विकसित किये जाने के सम्बन्ध में एक बैठक सम्पन्न हुई, जिसमें उ0प्र0 शासन की पी.पी.पी. बिड मूल्यांकन समिति द्वारा सैक्टर-151ए, नौएडा मेंपी.पी. पी. मॉडल पर विकसित किये जा रहे हैलिपोर्ट परियोजना की उपयोगिता के दृष्टिगत जनपयोगी पाते हुए परियोजना पर सहमति प्रदान की गई।

बैठक में शासन की पी.पी.पी. बिड मूल्यांकन समिति के नामित सदस्य / उनके प्रतिनिधि यथा – अपर मुख्य सचिव, वित्त विभाग, उ0प्र0 शासन अथवा उनके प्रतिनिधि, प्रमुख सचिव, न्याय विभाग, उ0प्र0 शासन उपस्थित रहे। उक्त बैठक में नौएडा प्राधिकरण के अधिकारियों द्वारा सैक्टर-151ए में हैलीपोर्ट विकसित किये जाने वाली परियोजना का प्रस्तुतीकरण किया गया। प्राधिकरण की ओर से समिति के समक्ष नौएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्रीमती रितु माहेश्वरी तथा अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी एवं प्राधिकरण व मैसर्स राईट्स लि० के अन्य अधिकारियों के द्वारा प्रतिभाग किया गया।

पूर्व में भी दिनांक 21 अक्टूबर, 2021 को अपर मुख्य सचिव, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास विभाग उ०प्र० शासन की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न हुई थी। उक्त बैठक में अपर मुख्य सचिव महोदय द्वारा दिये गये निर्देशों को इस परियोजना के प्रस्ताव में समायोजित करते हुए प्रस्तुतीकरण किया गया।

प्राधिकरण की 202वीं बोर्ड बैठक दिनांक 25.06.2021 में संचालक मंडल द्वारा अनुमोदित डी०पी०आर० (Detailed Project Report), आर.एफ.पी. (Request for Proposal) व Draft Concessioner Agreement का शासन की पी.पी.पी. कमेटी से अनुमोदन प्रदान करने के सम्बन्ध में पी.पी.पी. बिड मूल्यांकन समिति (पी.पी.पी. बी0ई०सी०) के समक्ष प्रस्तुतीकरण किया

गया।

सैक्टर-151ए में वाणिज्यिक / व्यवसायिक गतिविधियों को गति प्रदान करने हेतु PPP Model पर हैलिपोर्ट का निर्माण 9.35 एकड़ क्षेत्रफल भूमि पर विकसित किये जाने की योजना है। परियोजना की कुल अनुमानित लागत रु0 43.13 करोड़ है। उक्त हैलिपोर्ट का डिजाइन Bell 412 हैलीकॉप्टर (12 सीटर) के अनुसार तैयार किया गया है। हैलिपोर्ट में 05 नग Bell-412 हैलीकॉप्टर्स हेतु Parking Apron की सुविधा होगी। इस हैलिपोर्ट में सबसे बड़ा हैलीकॉप्टर एमआई 172 (26 सीटर) आपातकालीन / वी.आई.पी. गतिविधियों के लिए संचालित किया जा सकता है। उक्त हैलिपोर्ट में 500 वर्गमी0 क्षेत्रफल में टर्मिनल बिल्डिंग का निर्माण किया जायेगा, जोकि 20 आने वाले और 20 जाने वाले यात्रियों के संचालन हेतु पर्याप्त है। हैलीपोर्ट का संचालन केवल दिन के लिये है। उक्त हैलिपोर्ट में इलेक्ट्रिक सब स्टेशन, फायर स्टेशन, बाउंड्री वॉल, आंतरिक सड़कें और सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का प्रावधान भी रखा गया है।
उक्त हैलिपोर्ट की समीपस्थ सैक्टर 147- मेट्रो स्टेशन से 3 कि.मी. दूरी है, यमुना एक्सप्रेसवे से 7 कि.मी. दूर नौएडा से 17 कि.मी. दूरी, जेवर हवाई अड्डे से 47 कि.मी. दूरी तथा आई.जी.आई. हवाई अड्डे से 51 कि.मी. दूरी है।

हैलिपोर्ट में एक हैलीपैड 52m x 52m, टैक्सी वे 10m x 10m, पार्किंग एप्रन

170m x 52m, (5 नंबर बेल 412 हैलीकॉप्टरों के लिए) एक हैंगर 1 हैलीकॉप्टर के लिए पर्याप्त (बेल 412 या MI 172) की सुविधा होगी। साथ ही एयर ट्रैफिक कंट्रोल टॉवर – 15 मीटर ऊँचा एवं 50 कारों के लिए कार पार्किंग बनाई जायेगी।

निविदा के माध्यम से चयनित की जाने वाली कार्यदायी संस्था द्वारा उक्त हैलीपोर्ट का विकास तथा 30 साल तक संचालन व अनुरक्षण किया जायेगा । Concessioner द्वारा प्राधिकरण को भूमि लाइसेंस शुल्क और राजस्व शेयर (प्रति यात्री रुपये) का भुगतान किया जायेगा

मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्रीमती रितु माहेश्वरी द्वारा निर्देशित किया गया है कि शीघ्र अतिशीघ्र परियोजना की निविदा आमंत्रित की जायें।

 3,017 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.