नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नोएडा अफसरों की जल व सीवर से जुड़ी समस्याओं पर फोनरवा कार्यालय में मंथन

1 min read

नोएडा, 16 अप्रैल।
आरडब्लूए की समस्याएं प्राधिकरण के जल एवं सीवर विभाग के अधिकारियों ने सुनी समस्याएं
फोनरवा कार्यालय सेक्टर-52 में फेडरेशन ऑफ नोएडा रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा प्राधिकरण के जल एवं सीवर विभाग के उप महाप्रबंधक आरपी सिंह तथा विभाग के अन्य अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित की गई,जिसमें फोनरवा व विभिन्न आरडब्लूए के पदाधिकारियों द्वारा उपस्थित अधिकारियों को जल एवं सीवर की समस्याओं से अवगत कराया गया ।
ज्यादातर सेक्टर के प्रतिनिधियों की शिकायत थी कि उनके सेक्टर में सीवर का लेवल सही नहीं है जिसके कारण सीवर ओवरफ्लो हो जाता है। बहुत सी जगह सीवर जाम रहते हैं और कुछ सेक्टरों में सीवर लाइन पुरानी हो गई है उनको बदलने की आवश्यकता है। कुछ सेक्टर में पानी का प्रेशर कम रहता है और कुछ सेक्टर में निर्धारित समय पर पानी की आपूर्ति नहीं हो पाती है श्री रोहित घई अध्यक्ष आरडब्लूए सेक्टर 33 तथा अन्य पदाधिकारियों ने कहा कि उनको पानी के बिल नहीं मिले हैं। इसके अलावा कुछ सैक्टर में पानी की टंकी पर चौकीदार की तैनाती नहीं हुई है। श्री अशोक शर्मा सेक्टर 135 ने बताया कि उनके सैक्टर में गंगाजल की सप्लाई नहीं होती है।
श्री आर पी सिंह ने बताया कि नोएडा में निम्नलिखित जलापूर्ति होती है
जलापूर्ति:-
जलापूर्ति में कुल जलापूर्ति मांग 407 MLD
जलापूर्ति हेतु जल उपलब्धता (गंगाजल) 200 MLD
वर्तमान में क्रियाशील नलकूपो द्वारा उपलब्धता (394 नग) 280 MLD
रेनीवेल द्वारा उपलब्धता (05क्रियाशील) 30 MLD
कुल उपलब्धता 510 MLD

वर्तमान में मांग के सापेक्ष स्रोतों द्वारा उपलब्ध जलापूर्ति विवरण
गंगाजल द्वारा – 50 प्रतिशत
नलकूपों एवम रेनीवेल द्वारा – 50 प्रतिशत
आरपी सिंह ने कहा कि सीवर की जाम लाइन की सफाई कराई जाएगी और जहां पर सीवर लाइन का लेबल सही नहीं है उनको ठीक कराया जाएगा जिससे कि सीवर लाइन की ओवरफ्लो की समस्या का समाधान हो जाएगा जिन सेक्टर में सीवर लाइन 20 साल से पुरानी है उसमें ओवरफ्लो होता है उनको बदला जाएगा।
श्री आर पी सिंह ने बताया कि गर्मियों में पानी की किल्लत न हो इसके लिए नोएडा प्राधिकरण ने शहर में बेहतर पेयजल आपूर्ति के लिए पुराने टयूबवेल ठीक कराए गए हैं और नए टयूबवेल भी सेक्टरो में लगाए गए हैं।
उन्होंने कहा कि जल्दी ही अधिक पानी का उपयोग करने वाली हाउसिंग सोसाइटी एवम अन्य संस्थाओं में 5000 पानी के स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे इससे जल की बर्बादी पर भी अंकुश लगने की प्रबल संभावना रहेगी।
उप महाप्रबंधक आरपी सिंह ने आरडब्ल्यूए को आश्वस्त किया कि सभी समस्याओं को नोट कर लिया गया है और जल्दी ही इनका समाधान किया जाएगा।
फोनरवा अध्यक्ष योगेंद्र शर्मा ने कहा कि जल संरक्षण की योजना के अंतर्गत बड़े पार्क, बरात घर तथा अन्य उपयुक्त स्थानों पर वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की व्यवस्था होनी चाहिए जिसे जिसे जिससे जमीन में अधिक से अधिक पानी रिचार्ज हो सके इससे ग्राउंड वाटर लेवल में भी सुधार होगा और बरसात के दौरान पानी सड़कों बार सीवर में नहीं भरेगा। हम पिछले कई सालों से मांग कर रहे हैं की नोएडा प्राधिकरण की पानी सप्लाई की टंकियों मैं फ़िल्टर लगाये जाए जिससे नोएडा के निवासियों को शुद्ध पीने के पानी की आपूर्ति हो सके।
महासचिव के के जैन ने कहा कि गंगाजल की निर्भरता कम करने के लिए जरूरी है कि हम पुराने खराब रेनीवेल व ट्यूबवेल्स को ठीक करवाएं और जहां पर पानी की सप्लाई कम हो जाती है वहां पर नए ट्यूबवेल्स का निर्माण किया जाए। जिससे विशेषकर गर्मियों में पीने के पानी की आपूर्ति सुचारू रूप से होती रहे।इसके अलावा जिन सेक्टरों में पानी के बिल नही मिले है वहां शीघ्र से शीघ्र बिल भेजे। जिससे लोग भुगतान करके छूट का फायदा उठा सके।
इस अवसर परअध्यक्ष योगेंद्र शर्मा महासचिव के के जैन कोषाध्यक्ष अशोक कुमार मिश्रा ओ पी यादव जे पी उप्पल पवन यादव अशोक त्यागी देवेंद्र चौहान राजीव चौधरी जयपाल सिंह प्रदीप मिश्रा अंजना भागी गोविंद शर्मा रजनीश शर्मा अशोक शर्मा शरद जैन वीरेंद्र सिंह रामेश्वर यादव नरोत्तम शर्मा टी सी गौड़ ए के शर्मा सुशील यादव संजय पाराशर आर पी सिंह डीजीएम देवेंद्र कुमार रोहित घई रघुनाथ सिंह भूषण शर्मा जिम्मी वालिया सुशील कुमार शर्मा आर एल वर्मा तथा विभिन्न सेक्टरों की आरडब्ल्यूए के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

 6,923 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.