नोएडा खबर

खबर सच के साथ

फोनरवा ने नोएडा की सीईओ को लिखा पत्र, बरसात से पहले शहर में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लागू करें

1 min read

नोएडा, 11 मई।

फोनरवा ने नोएडा की मुख्य कार्यपालक अधिकारी, श्रीमती रितु महेश्वरी को पत्र लिखकर नोएडा में रेन वाटर हार्वेस्टर सिस्टम लगाने का निवेदन किया है ।
गर्मी के मौसम में और विशेषकर गंगाजल नहर की सफाई के समय नोएडा शहर में पानी की समस्या हो जाती है। भूमिगत जल के स्रोत की उपलब्धता न होने के कारण नोएडा शहर के निवासियों को गंगाजल की सप्लाई पर ही निर्भर रहना पड़ता है।
जनपद में पारंपरिक जल स्रोत खत्म होते जा रहे हैं ।इसके चलते बारिश का पानी भी एकत्र नहीं हो पाता है। साथ ही भूमिगत जल का लगातार दोहन हो रहा है। इससे जलस्तर लगातार गिर रहा है। जनपद में औसतन हर वर्ष एक मीटर से अधिक जल स्तर नीचे जा रहा है नोएडा में सेक्टर 34 में 38.14 मीटर और ममूरा 37.12 मीटर का तक जलस्तर पहुंच चुका है।
शहर में प्रतिवर्ष 5-6 फुट भूजल नीचे मिल रहा है यह आंकड़े नोएडा अथॉरिटी के जल विभाग के हैं गौतम बुध नगर में कई जगहों पर ग्राउंड वाटर समाप्ति के कगार पर है नोएडा में तो कई जगहों पर भूजल 30 मीटर यानी 98 फुट नीचे मिल रहा है पिछले 20 साल में यह औसत करीब 15 से 20 मीटर थी जो लगातार हर साल बढ़ती ही जा रही है यमुना किनारे शहर के लिए पानी निकालने को लगाए गए कई रेनीवेल और शहर में लगे ट्यूबवेल भी जलस्तर गिरने के कारण काम करना बंद कर चुके हैं इनको दोबारा चालू करवाना पड़ रहा है।
फोनरवा अध्यक्ष, योगेन्द्र शर्मा ने कहा कि
भूजल स्तर में गिरावट और जलवायु परिस्थितियों में उतार चढ़ाव के साथ-साथ पानी की बढ़ती कमी के प्रतिकूल प्रभावों को कम करने के लिए, वर्षा जल का संचयन व बरसात के दिनों में सेक्टरों में पानी भराव और सबसे विशेष रूप से पानी की कमी वाले क्षेत्रों में पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक है कि नोएडा शहर में रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाया जाए।
महासचिव के के जैन ने कहा कि बरसात के मौसम शुरू होने से पहले नोएडा शहर के बड़े पार्कों, बरातघर तथा अन्य उपयुक्त स्थानों पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाया जाए। इसके साथ साथ पूर्व में प्राधिकरण द्वारा बनाए गए रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की सफाई आदि करवाकर उनको क्रियाशील बनाया जाए।

 3,810 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.