नोएडा खबर

खबर सच के साथ

दादरी विधानसभा का सर्वे, 63 प्रतिशत की नजर में बिल्डर्स- बायर्स सबसे बड़ा मुद्दा होगा

1 min read

 

ग्रेटर नोएडा/दादरी, 15 अगस्त।

यूपी में 5 महीने बाद चुनाव होने वाले हैं। गौतमबुद्धनगर जिले में दादरी विधानसभा सबसे संवेदनशील सीट है जिस पर बीजेपी को खतरा हो सकता है। इस सीट पर 2007 और 2012 में बसपा जीती थी, 2017 में बीजेपी के तेजपाल नागर विधायक बने हैं। पिछले 4 साल में दादरी विधानसभा में बिल्डर्स-बायर्स के बीच विवाद चल रहे हैं। हमारी न्यूज़ वेबसाइट noidakhabar.com ने इस क्षेत्र में रहने वालों के बीच सर्वे किया। इसके नतीजे का विश्लेषण इस तरह है।

63 प्रतिशत ने बिल्डर्स-बायर्स विवाद को दादरी विधानसभा का सबसे बड़ा मुद्दा माना

noidakhabar.com ने गौतम बुद्ध नगर दादरी विधानसभा क्षेत्र में चुनावी मुद्दों को लेकर एक ऑनलाइन सर्वे किया, जिसमें शहर के 60 लोगों ने हिस्सा लेकर अपनी वोट दर्ज कराई और प्रतिक्रिया दी। इस ऑनलाइन सर्वे में पूछा गया था कि, आपकी नजर में -गौतमबुद्धनगर जिले के दादरी विधानसभा क्षेत्र में क्या होगा बड़ा मुद्दा?
इसमें 63% लोगों ने बिल्डर-बायर्स के मुद्दे को आने वाले चुनाव के लिए बड़ा मुद्दा माना, वही 15% लोगों ने किसानों की समस्याओं को, 13%रोजगार व 8% लोगों ने स्वास्थ्य शिक्षा को दादरी विधानसभा क्षेत्र के बड़े मुद्दों में गिना।

उल्लेखनीय है कि इन दिनों लोग अपने फ्लैट की रजिस्ट्री, फ्लैट ना मिलने , बिजली, पानी व अन्य सुविधाओं को लेकर काफी परेशान है। जिसको लेकर नोएडा अथॉरिटी ने 9 अगस्त से 24 सितंबर के बीच बिल्डर्स और बायर्स के विवाद को सुलझाने के लिए नोएडा अथॉरिटी अपनी ओर से कोशिश करते हुए अलग-अलग बिल्डर्स के साथ बैठक कर रही हैं। वही ग्रेनो में बीते दिनों, ग्रेटर नोएडा वेस्ट की इको विलेज 1,2,3 की सोसाइटी के खरीदारों ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण और बिल्डर के खिलाफ सोसायटी के निवासियों ने ग्रेनो वेस्ट स्थित ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के दफ्तर के बाहर प्रदर्शन भी किया, साथ ही, अपना विरोध भी दर्ज कराया। लोग 7 सालों से अपने फ्लैट की रजिस्ट्री के नहीं होने से परेशान है। बायर्स सोशल मीडिया पर ट्विटर के माध्यम से अभियान छेड़ दिया है, लोग अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं, साथ ही, बिल्डर और प्राधिकरण दोनों से ही जवाब मांग रहे हैं। लोगों का मानना है कि, ग्रेनो प्राधिकरण बिल्डर के ऊपर सख्त कार्रवाई नहीं कर रहा हैं, जिसकी वजह से उनकी रजिस्ट्री नहीं हो पा रही है। खरीदार रजिस्ट्री नहीं होने काफी परेशान है। जिसके चलते लोग बिल्डर और अधिकारियों के चक्कर काटने को मजबूर है।

इस सर्वे से साफ है कि लोग बिल्डर्स के साथ चल रहे विवाद का जल्द निपटारा चाहते है, जिन बिल्डरों ने समय पर काम नही किया उन पर सख्त कार्रवाई चाहते हैं। अब यह विधायक तेजपाल नागर व ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पर निर्भर है कि वे भी नोएडा की तर्ज पर ऐसी बैठक करा पाएंगे या नही , यह मुद्दा धीरे धीरे जोर पकड़ेगा।

(नोएडा खबर डॉट कॉम के लिए प्रियंका शर्मा की रिपोर्ट )

 4,771 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.