नोएडा खबर

खबर सच के साथ

गौतमबुद्घ नगर जिले की समस्याओं का पुलिंदा लेकर डीडीआरडब्ल्यूए के अध्यक्ष मुख्यमंत्री योगी के पास पहुंचे

1 min read

लखनऊ/नोएडा।, 1 अगस्त।

गौतम बुद्ध नगर जिले की विभिन्न समस्याओं को लेकर डीडी आरडब्ल्यूए के अध्यक्ष एमपी सिंह के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और उन्हें उन समस्याओं से रूबरू कराते हुए उनके जल्द समाधान की मांग की।

एन पी सिंह ने बताया कि डीडीआरडब्ल्यूए (फेडरेशन), गौतम बुद्ध नगर, उत्तर प्रदेश 2014 से गौतम बुद्ध नगर के निवासियों और इसके निवासियों के कल्याण के लिए काम कर रहा है, और यह एकमात्र संगठन है जो पूरे जिले के लिए काम करता है। हमारा संगठन गौतम बुध नगर की तीनों अथॉरिटी (नोएडा, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण और यमुना प्राधिकरण) यानी पूरे जिले का प्रतिनिधित्व करता है। उन्होंने कहा कि हमारी संस्था जिले की तीनों प्राधिकारियों के समन्वय से सभी प्रकार के सामाजिक कार्यों एवं निवासियों की समस्याओं के समाधान में लगी हुई है। कोरोना महामारी के दौरान भी, हमने निवासियों को महामारी से बचाने के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिसमें नोएडा प्राधिकरण के साथ रोटी बैंक ड्राइव, सूखा राशन वितरण, निवासियों को ऑक्सीजन सिलेंडर और ऑक्सीजन सांद्रता प्रदान करना शामिल है, जैसा कि साथ ही फेस मास्क और सैनिटाइजर आदिकार्य निवासियों को उपलब्ध कराना था।

उन्होंने बताया कि डीडीआरडब्लूए गौतम बुध नगर संस्था/ फेडरेशन आपके संज्ञान में जिले के निवासियों की कुछ बुनियादी सुविधाएं जिससे जिले के नागरिक और दीपक वंचित है और कुछ ऐसी समस्या है जीना का निराकरण होना तुरंत होना आवश्यक है कि और आकर्षित करना चाहते हैं।

एन पी सिंह  ने मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि निवासियों की विभिन्न समस्याओं और बुनियादी सुविधाएं जिससे जिले के नागरिक जिले की स्थापना के 40 वर्षों के उपरांत भी वंचित है और कुछ शहर की प्रमुख ऐसी समस्या जिनका निराकरण तुरंत होना चाहिए परंतु प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे पा रहा है।

डीडीआरडब्ल्यूए ने जिला गौतम बुध नगर की प्रमुख समस्याएं रखी। इनमे खास

1. गौतम बुध नगर जिले में 5 डिग्री कॉलेज और 10 विश्वविद्यालय बनवाएं

जिला गौतम बुध नगर में बच्चे जो देश का भविष्य है उनकी पढ़ाई की और ध्यान रखते हुए यहां कम से कम 5 सरकारी डिग्री और 10 विश्वविद्यालय की तुरंत आवश्यकता है। देश की राजधानी दिल्ली से सटे होने और उत्तर प्रदेश राज्य को सर्वाधिक टैक्स देने के उपरांत भी हमारे जिले में सरकारी कॉलेज और स्कूलों की भारी कमी है।

जिले के निवासियों को प्राइवेट स्कूलों और कॉलेज में उच्च फीस देकर अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए मजबूर है। जिला गौतम बुध नगर के प्राइवेट स्कूलों की यह हालत है की यहां के स्कूल दिल्ली के स्कूलों से तीन गुना फीस ज्यादा वसूलते हैं और सरकार का इन पर कोई अंकुश नहीं है। यदि जिले में 5 सरकारी कॉलेज और 10 सरकारी स्कूल खुल जाए तो यहां के निवासी इन प्राइवेट कॉलेज और स्कूल वालों के चंगुल से मुक्ति पा सकेंगे।

2. ऑल इंडिया मेडिकल साइंसेस की तर्ज पर 3 अस्पताल जिनमें आईसीयू की सुविधाओं के साथ बनवाने का अनुरोध।

जिले में स्वास्थ्य सेवाओ की अत्यधिक कमी है जिसकी और ध्यान देते हुए संस्था डीडी आरडब्ल्यू ने कहा है कि जिला गौतम बुध नगर में कम से कम 3 अस्पताल AIIMS की तर्ज पर बनने की अत्यधिक आवश्यकता है । जिनमें आईसीयू ऑपरेटेड ऑपरेशन थिएटर भी हो। क्योंकि छोटी से छोटी बीमारी के इलाज हमारे जिले में नहीं हो पाता और हमारे जिले के निवासियों को इलाज के लिए दिल्ली एम्स सफदरजंग जैसे अस्पतालों में रेफर किया जाता है। आए दिन समाचार पत्रों में खबर आती है कि छोटे से छोटे इलाज करने में भी जिला गौतम बुध नगर के निवासियों को दिल्ली रेफर किया जाता है और छोटी सी चोट या फिंसी के इलाज में होने वाली लापरवाही के चलते लोगों के पैर तक काटने पड़े हैं।

हमारे जिले में सरकारी अस्पताल में कुत्ता काटने के लिए भी इंजेक्शन नहीं मिलते।

जिले में अस्पताल, दवाई, डॉक्टर और स्वास्थ्य सेवाओं की कमी के चलते गौतम बुध नगर के निवासियों को प्राथमिक इलाज और कुत्ते के इंजेक्शन के लिए भी प्राइवेट अस्पतालों में मजबूरन प्राइवेट अस्पतालों में अधिक खर्च करके अपना इलाज करवाना पड़ता है। यदि जिले में 3 सरकारी अस्पताल ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेस की तर्ज पर खुले जाए क्यों यहां के निवासी प्राइवेट अस्पतालों के चुंगल से मुक्ति पा सकते हैं और इससे गरीबों को भी इलाज मिल पाएगा।

3. जिले को 50 फायर बिग्रेड गाड़ी 25 मंजिल इमारत तक की लिफ्ट के साथ और 2 फायर ब्रिगेड हेलीकॉप्टर देने की मांग

मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के संज्ञान में लाया जाता है कि जिला गौतम बुध नगर में हाई राइज सोसायटी ओं का जाल बना हुआ है आए दिन इन ऊंची मंजिलों में आग लगने और दुर्घटना घटना की शिकायत मिलती रहती है जिसमें अनेकों जिंदगी दांव पर लगती है।

इन सब जिंदीगियो की सलामती हेतु मुख्यमंत्री से अनुरोध किया गया है कि फायर ब्रिगेड को सशक्त करने के लिए जिले को नए 50 फायर बिग्रेड गाड़ी 25 मंजिल इमारत तक की लिफ्ट के साथ और 2 फायर ब्रिगेड हेलीकॉप्टर मोहिया करवाने की अत्यंत आवश्यकता है। जिससे अपनों की जिंदगी बचाई जा सके।

4. जल :- मनुष्य की सबसे बड़ी जरूरत है उनमें से एक हे जल । जैसा कि हम जानते हैं की जल है तो कल है इसी कहावत को सार्थक करते हुए मांग की कि जिले की स्थापना के 40 वर्षों के उपरांत भी जिला के निवासियों को स्वच्छ फीमेल वर्जन नहीं मिल पा रहा है यहां के निवासियों को जो जल सप्लाई किया जाता है उसका टीडीएस 2 हजार के करीब होता है। जो यहां के निवासियों को अनेक बीमारियों से ग्रसित कर रहा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली की तर्ज पर पोर्टेबल ड्रिंकिंग वॉटर जिला गौतम बुध नगर में सप्लाई होना चाहिए।

जल को बचाने के लिए वाटर हार्वेस्टिंग और नियमों को कड़ाई से पालन करवाने हेतु

जल को बचाने हेतु वॉटर हार्वेस्टिंग की भी अत्यंत आवश्यकता है अतः इस ओर भी कठोर नियम बनाने और उन्हें अप्लाई करवाने की अत्यंत आवश्यकता है। यदि धरती मां के गर्भ से जल का यूं ही दोहन होता रहा और वापस धरती के गर्भ में पानी पहुंचाने की व्यवस्था नहीं करी गई तो जल्द ही यहां के निवासी पानी की बूंद बूंद को तरसे है अतः आपसे अनुरोध किया जाता है कि जल को बचाने हेतु वाटर हार्वेस्टिंग हर घर में होनी चाहिए और नियमों का कड़ाई से पालन होना चाहिए नोएडा प्राधिकरण को आदेशित करें कि वह जिले के सभी पार्कों में वाटर हार्वेस्टिंग करवाएं और बड़े इंडस्ट्रियल प्लॉट और रजनीश अल्प ऑटो में जाकर चेक करें कि वाटर हार्वेस्टिंग सही प्रकार से चल रही है कि नहीं।

अंडरग्राउंड वायरिंग:

जैसा कि हम सभी जानते हैं जिला गौतम बुद्ध नगर हमारे उत्तर प्रदेश राज्य को सबसे ज्यादा revenue देने वाला जिला है और विद्युत आपूर्ति के जरिए ही करोड़ों रुपए का रेवेन्यू उत्तर प्रदेश सरकार यहां से एकत्रित करता है। परंतु उसके उपरांत भी थोड़ी सी बारिश की बूंदे पढ़ते ही यहां की विद्युत आपूर्ति ठप हो जाती है इसका मुख्य कारण बिजली की तारों का अंडरग्राउंड ना होना है यदि जिले में की सभी विद्युत तारों को अंडर ग्राम कर दिया जाए तो बरसात और तूफान इत्यादि में पेड़ गिरने से जो समस्याएं उत्पन्न होती है वह नहीं होगी और जिले में हर समय बिना अवरोधित बिजली निवासियों को मिल सकेगी।

हाई कोर्ट: हाई कोर्ट की एक बेंच जिला गौतम बुध नगर में खुलवाने हेतु लगातार कई दशकों से उत्तर प्रदेश सरकार से अनुरोध किया जा रहा है परंतु उसके उपरांत भी हमारे जिले में हाईकोर्ट की ब्रांच खुलवाने की कोई व्यवस्था नहीं करी गई है।

जब से उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी है तब से हमें यह उम्मीद जागी है कि हाईकोर्ट की ब्रांच इस एरिया में जल्द ही खोली जाएगी । महोदय जिले के निवासियों को 500 किलोमीटर दूर न्याय के लिए भटकना पड़ता है यदि गौतम बुद्ध नगर जिले में उत्तर प्रदेश माननीय उच्च न्यायालय की ब्रांच स्थापित हो जाए तो यहां के निवासियों की समस्याओं का निवारण हो सकेगा।

 5,026 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.