नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नोएडा : मुख्यकार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी ने प्रोजेक्टस की प्रोग्रेस का लिया जायजा

1 min read

नोएडा, 25 जुलाई।

नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी ने सोमवार को नौएडा के विभिन्न क्षेत्रों को भ्रमण किया तथा विभिन्न क्षेत्रों में चल रहे विकास कार्यों, सफाई. सौन्दर्यीकरण कार्यों की समीक्षा भी की गई तथा कार्यों में तीव्रता लाने एवं गुणवत्ता सम्बन्धी निर्देश दिये गये।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी  द्वारा मुख्यतः सैक्टर-5,9,31,72,74,75,76,77, 92 93बी, 168, 80, 81, फेस-2 एवं हॉजरी कॉम्प्लैक्स एवं ग्राम हरौला, निठारी, मोरना, पर्थला खंजरपुर, नगली वाजिदपुर आदि का भ्रमण किया गया। सर्वप्रथम सैक्टर-14ए से प्रस्थान कर उद्योग मार्ग का निरीक्षण किया गया. उद्योग मार्ग के निरीक्षण उपरान्त सैक्टर-5 के आन्तरिक मार्ग का भ्रमण किया गया जहाँ इन्टरलॉकिंग टाईल आदि का कार्य प्रगतिरत पाया गया। तदोपरान्त सैक्टर-4-9 के मध्य मार्ग सैक्टर-19 व 27 होते हुए एम.पी.-1 से एम.पी. 2 मार्ग तक का भ्रमण किया गया।

एम.पी.- 2 मार्ग पर पहुँचकर ग्राम निठारी के सामने बी.ओ.टी. के आधार पर निर्मित टॉयलेट का निरीक्षण किया गया, जहाँ समुचित साफ-सफाई नहीं पाई गई, जिस हेतु बी.ओ.टी. संविदाकार पर रु० 1 लाख की पेनल्टी लगाये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

इसके अतिरिक्त उपस्थित सफाई कर्मचारी द्वारा वर्दी नहीं पहनी गई थी, जिस हेतु संविदाकार को चेतावनी दिये जाने हेतु भी निर्देशित किया गया। इसके अतिरिक्त निठारी मार्ग का भ्रमण किया गया। ग्राम निठारी के सर्विस रोड पर कूड़े के ढेर एवं विभिन्न स्थानों पर बिल्डिंग मैटेरियल पड़ा हुआ पाया गया, जिसकी 3 दिन में सफाई कराने हेतु तथा संविदाकार चेन्नई एम.एस. डब्ल्यू पर रु0 5 लाख की पेनल्टी लगाये जाने हेतु तथा स्वास्थ्य निरीक्षक को चेतावनी निर्गत करने हेतु निर्देशित किया गया। इसके अतिरिक्त उक्त निठारी मार्ग पर ग्रामवासियों द्वारा बिल्डिंग मैटेरियल डालकर अतिक्रमण किया हुआ पाया गया, जिसको तत्काल हटवाये जाने हेतु वरिष्ठ प्रबन्धक, वर्क सर्किल -3 को निर्देशित किया गया। साथ ही उक्त क्षेत्र के सुपरवाईजर को हटाने हेतु तथा वरिष्ठ प्रबन्धक एवं प्रबन्धक को चेतावनी निर्गत करने हेतु निर्देशित किया गया। एम.पी.-3 मार्ग का भ्रमण करते हुए एम. पी. 3 मार्ग पर पर्थला चौक पर निर्माणाधीन फ्लाईओवर के कार्यस्थल पर पहुँचकर कार्य का निरीक्षण किया गया, जहाँ कार्य की गति धीमी पाई गई। उक्त फ्लाईओवर को शीघ्रातिशीघ्र पूर्ण कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया। तत्पश्चात वापस एम.पी. 3 मार्ग का भ्रमण करते हुए रोड नम्बर 6 का भ्रमण किया गया, जहाँ स्पैक्ट्रम मॉल के समीप मुख्य सिंचाई नाले की सफाई का कार्य प्रगतिरत पाया गया।

मुख्य सिंचाई नाले की सफाई के दौरान नाले की सिल्ट का सीधे ट्रैक्टर में डालकर कार्टेज किया जा रहा था। उक्त मार्ग पर निर्मित बी.ओ.टी. टॉयलेट का निरीक्षण किया गया, जहाँ समुचित साफ-सफाई न पाये जाने के दृष्टिगत बी.ओ.टी. संविदाकार पर रु० 1 लाख पेनल्टी लगाये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

तत्पश्चात सैक्टर-74, 75, 76 के मध्य मार्ग का भ्रमण किया गया, जहाँ मै० चेन्नई एम.एस.डब्ल्यू द्वारा मैकेनिकल स्वीपिंग प्रगतिरत पाई गई। इसके अतिरिक्त फेस-2 एवं सैक्टर-80 के मध्य 60 मी0 चौड़ी रोड पर मैकेनिकल स्वीपिंग प्रगतिरत पाई गई। डी.एस.सी. मार्ग पर जंगल झाडियों उगी हुई पाई गई। इसी एजेन्सी द्वारा डी.एस.सी. रोड पर सैक्टर-83 व हौजरी कॉम्प्लैक्स पर भी कार्य प्रगतिरत पाया गया।

सैक्टर-92 व 93बी के आन्तरिक मार्गों का भ्रमण किया गया। सिंचाई नाले के पुल के पास रोड पर विभिनन स्थानों पर आर.एम.सी. वेस्ट मैटेरियल पड़ा हुआ पाया गया, जिसको हटवाने के निर्देश दिये गये। तत्पश्चात नगली वाजिदपुर में आन्तरिक गलियों का निरीक्षण किया गया, जहाँ कुछ नालियों में फ्लोटिंग पाई गई। इस सम्बन्ध में प्रतिदिन नालियों से फ्लोटिंग साफ कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया। सैक्टर-168 में 100 एम.एल.डी. क्षमता के एस.टी.पी. का भ्रमण किया गया, जहाँ एस.टी.पी. का कार्य पूर्ण पाया गया है तथा ट्रायल रन प्रगतिरत है। परियोजना को Inlet / Outlet सभी प्रकार से संतृप्त कर परियोजना को शीघ्र ही लोकार्पण कराने की तैयारी कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा नौएडा-ग्रेटर नौएडा एक्सप्रेस-वे पर प्रगतिरत विभिन्न अण्डरपासों एवं एक्सप्रेस-वे रिसफर्सेसिंग का निरीक्षण किया गया। एक्सप्रेस-वे के चैनेज 19.400 पर निर्माणाधीन कोण्डली अण्डरपास का कार्य अन्तिम चरण में है, जो कि 31.07.2022 तक पूर्ण करने के निर्देश दिये गये। इसके अतिरिक्त एक्सप्रेस-वे के चैनेज 10.300 पर निर्माणाधीन एडवान्ट अण्डरपास को आगामी डेढ़ माह में पूर्ण कराने हेतु निर्देशित किया गया। यद्यपि संविदाकार द्वारा अवगत कराया गया कि अण्डरपास के अन्तर्गत अभी 30 मीटर पुशिंग अवशेष है, जिसको पूर्ण करने में न्यूनतम 45-50 लगना सम्भावित है। इस सम्बन्ध में 15 सितम्बर तक कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिये गये तथा पूर्ण न किये जाने की दशा में पेनल्टी लगाये जाने हेतु निर्देशित किया गया।नौएडा-ग्रेटर नौएडा एक्सप्रेस वे रिसर्फेसिंग के कार्य की गति नगण्य होने के दृष्टिगत परियोजना पर अग्रिम निर्णय लिये जाने हेतु सम्बन्धित वरिष्ठ प्रबन्धक को पत्रावली प्रेषित किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। उपरोक्त के अतिरिक्त एक्सप्रेस-वे के 2.36 चैनेज पर सैक्टर-96 व 126 के मध्य निर्माणाधीन अण्डरपास का निरीक्षण के दौरान संविदाकार द्वारा कार्य की प्रगति से अवगत कराया गया। संविदाकार द्वारा अवगत कराया गया कि परियोजना के अन्तर्गत स्थल पर Soll में रेत की मात्रा अधिक है, जिससे बॉक्स पुशिंग में समस्या आ रहा है, जिसके दृष्टिगत सावधानपूर्वक धीरे-धीरे बॉक्स पुशिंग की जा रही है। कार्य की धीमी गति के दृष्टिगत मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा अप्रसन्नता व्यक्त की गई तथा परियोजना का कार्य शीघ्रातिशीघ्र पूर्ण किये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

उक्त परियोजनाओं में निर्दिष्ट समय से अधिक विलम्ब होने की दशा में संविदाकारों पर हैवी पेनल्टी अधिरोपित करने तथा नियमानुसार कठोर कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये गये।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदया द्वारा अन्य महत्वपूर्ण कार्यवाहियों हेतु निर्देशित किया गया:

1. विभिन्न खण्डों द्वारा नवीन प्रकृति के इन्फ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं / Initiatives प्रस्तावित करने हेतु निर्देशित किया, जो कि जनमानस हेतु लाभकारी सिद्ध हो सके।

2. नौएडा में गुजर रहे विभिन्न मुख्य / बड़े नालों को कवर किये जाने की कार्यवाही में तीव्रता लाई जाये।

3. स्वच्छता सर्वेक्षण के दृष्टिगत साफ-सफाई, सड़कों / नालियों के अनुरक्षण, बस

शेल्टर अनुरक्षण, संकेतक बोर्ड के अनुरक्षण आदि पर विशेष ध्यान दिया जाये।

4. आगामी “हर घर तिरंगा के दृष्टिगत समस्त तिरंगा लाईटों एवं फसाड लाईटों

को शत-प्रतिशत अनुरक्षित रखा जाये तथा आवश्यतानुसार ऊर्जीकृत किया

जाये।

5. सैक्टर-14ए प्रवेश द्वार पर मै० चिनार इम्पैक्स द्वारा लगाई गई एल.ई.डी. व

फसाड लाईट को अनुरक्षित कराया जाये। 6. पिंक वेन्डिंग जोन में महिला वेन्डर्स को शीघ्र अतिशीघ्र शिफ्ट किया जाये। 17. नौएडा के विभिन्न अवस्थापनाओं पर वॉल पेन्टिंग हेतु एच.सी.एल. के अतिरिक्त

अन्य संस्थाओं से भी समन्वय किया जाये ।

उपरोक्त के अतिरिक्त निम्न स्थानों पर सामान्य अनुरक्षण की आवश्यकता परिलक्षित

1. सैक्टर-168 के बाहर सैन्ट्रल वर्ज क्षतिग्रस्त अवस्था में पाया गया, जिसको तत्काल ठीक कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

2. सैक्टर-96 के सामने भी सैन्ट्रल वर्ज क्षतिग्रस्त पाया गया, जिसकी मरम्मत तत्काल कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

3. सैक्टर-43 में घास की कटिंग कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया। इसके अतिरिक्त अन्य क्षेत्रों में भी नियमित रूप से घास की कटिंग कराये जाने हेतु उद्यान विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया।

4. विभिन्न स्थानों पर उद्यानिक मलबा पड़ा हुआ पाया गया, जिसको साफ करने हेतु उद्यान विभाग को निर्देशित किया गया। 5. सी. एण्ड डी. वेस्ट प्लान्ट के समीप वाली रोड पर रोड मार्किंग पेन्ट कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

6. नौएडा में निर्मित समस्त अण्डरपासों में ऐसी व्यवस्था की जाये कि बरसात में त्वरित गति से जल की निकासी हो तथा कहीं भी जलभराव की स्थिति उत्पन्न न हो।

7. एस. ई.जेड के सामने घास कटाई की आवश्यकता है।

 14,816 total views,  4 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.