नोएडा खबर

खबर सच के साथ

कोनरवा ने नोएडा प्राधिकरण की सीईओ के साथ बैठक में उठाए 10 मुद्दे

1 min read

नोएडा, 7 सितम्बर।

कनफिडिरेशन ऑफ एन0सी0आर0 रेजिडेन्टस वेलफेयर एसासियेशन कोनरवा नौएड़ा चैप्टर के पदाधिकारियों ने बुधवार 7.09.2022 को नौएड़ा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्रीमति ऋतु महेश्वरी जी से उनके कार्यालय में बैठक की। बैठक में पी0एस0जैन, ब्रि0 अशोक हक, मनीश शर्मा, एम0एल0शर्मा, पी0के0अग्रवाल, श्रीमति किरन भरद्वाज, श्रीमति रविन्द्र के अहलूवालिया, वी0वी0 बलेचा आदि उपस्थित थे। बैठक में निम्न विषयो पर चर्चा की गई।

1.पीने योग्य पानी के बारे में सीईओ को बताया गया कि 46 वर्षो के बाद भी शहर को पीने योग्य पानी नही मिल रहा है। गंगा वाटर में अन्डर ग्राउन्ड वाटर जिसका टी0डी0एस0 1500 से 2500 तक है उसे मिक्स करने से गंगा वाटर जिसका टी0डी0एस 250 से 350 होता है तथा शुध पानी है। उसको खराब कर दिया जाता है। अतः मिक्स करने से पूर्व ग्राउन्ड वाटर को भी ट्रिटिड करके मिलाया जाये तो पानी पीने योग्य बन सकता है। रेनिवैल व टयूब वैल की रोस्टर बना कर मेनटेन्स किया जाये तथा आपूर्ति किये जा रहे पानी की नियमित रोस्टर के अनुसार पाईपो की फ्लैसिंग की जाये तो मात्रा, प्रेशर में सुधार होगा।

2.वाटर हार्वेस्टिंग व्यवस्थाः- वाटर की हार्वेस्टिंग की दूरगामी योजना बना कर सुचारू व क्रियान्वित करवाई जानी चाहिए। जिसके लिए संस्था का सुझाव है कि सर्वप्रथम सभी सरकारी प्रतिस्ठानों, प्रशांसनिक कार्यालयो, कारपोरेट औफिस, आई0टी0 औफिस, कम्युनिटि सेन्टर, मेरिज होम, सरकारी बंगले, कॉलेज, स्कूल, विश्वविद्यालय, हाउसिग सोसाईटिज, माल, पार्क, स्टेड़ियम, बस टर्मिनल, रेलवे स्टेशन, एयर पोर्ट आदि में क्षेत्रफल के अनुसार वाटर हार्वेस्टिंग कराये जाने चाहिए।

3.एलीवेटिड रोडः- एलीवेटिड रोड पर भारी वाहनो की आवा जाही बढ गई है जिसके कारण एलीवेटिड रोड़ पर कम्पन भी ज्यादा होने लगा है। जिससे किसी बड़ी दुर्घटना की सम्भावना बनी रहती है। इस समबंध में संस्था का सुझाव है कि ऐलिवेटिड रोड़ पर लो राईज बैरियर लगाया जाना चाहिए।

4.10 वर्षीय योजना :- शहर के विकास एवम् रखरखाव की कोई निश्चित योजना, आगामी 5 अथवा 10 वर्ष की अभी तक नही बनाई गई है तथा कोन सा कार्य को समय प्रणाली के अनुसार कब शुरू करना है तथा कब समाप्त करना है। उसका स्थाई रिकार्ड/प्रारूप प्राधिकरण द्वारा नही बनाया गया है। जैसेः-

शहर के बड़़े नालो की सफाई से इसके लिए दुरगामी योजना स्थाई रूप से बनाई जाऐ जिसमें नालो की मरम्मत अन्दर व बाहर से, नालो की बाउन्डरी वाल की मरम्मत, नालो के अन्दर ढलान व नालो के ऊपर से कुड़ा नालो में न गिरे इसके लिए योजना बनाई जानी चाहिए, जिससे प्रति वर्ष यह समस्या न खड़ी हो। सैक्टरो की नालियो की मेनटेन्सि व डलान की नियमित रूप से सफाई व मेनटेन्सि होना चाहिए।

5.ग्रुप हाऊसिंगः- सोसाईटियों में अतिक्रमण, अतिरिक्त फ्लोर आदि बनाये जाने की सुचनाऐं दिन प्रति दिन अखबारो में छपती है। इस समबंध में आपसे अनुरोध है कि आप प्राधिकरण स्तर से सभी सोसाईटियो में जॉच कराने तथा अतिक्रमण व अतिरिक्त फ्लोर आदि मिलने पर उपयुक्त कार्यवाही करने का कष्ट करे। सोसाईटियों में मिलने आने वाले आगुन्तको की गाडीयॉ भी सोसाइटियो के परिसर में ही खड़ी कराई जानी चाहिए। जिससे सड़क पर आने जाने वालो के लिए रूकावट नही होगी।

6.हाई पावर लाईन के नीचे आने वाले पेड़ो की छटाई :- शहर में काफी लम्बे समय से सैक्टरो में पेड़ो की छंटाई का कार्य नही किया गया है। जिसके सम्बन्ध में आपको अवगत कराना है कि कई सैक्टरो में हाई पावर लाईन के निचे पेड़ लगे हुऐ है। कई जगह हाई पावर लाईन आवासिय प्लाट/हाऊस के सामने बनी ग्रीन बैल्ट में से गुजर रही है। जैसे सैक्टर 23 आदि में, जिनकी छटाई होना आवश्यक है।

7.रेहडी पटरी वालो का अतिक्रमणः- शहर की सड़को, मार्किटो व सैक्टारो में रेहड़ी पटरी वालो के द्वारा अतिक्रमण बढ़ता जा रहा है। ये लोग फुटपाथ पर भी कब्जा कर लेते है। जिसके कारण पैदल चलने वालो को भी जगह नही मिल पाती है। इसलिए इनके लिए सही स्थान का चुनाव कर वहॉ पर इनके लिए वेन्डींग जोन बनाया जाना चाहिए तथा इन्हे वहॉ पर स्थापित किया जाना चाहिए।

8.सिंग्ल विन्डो सिस्टमः- प्राधिकरण को अपने कार्यालय में सिंग्ल विन्डो सिस्टम के तहत कार्य किया जाना चाहिए इससे आर0डब्लू0ए0 के कार्या को तेजी व समय के साथ पुर्ण करने में सहायाता होगी तथा प्राधिकरण व आर0डब्लू0ए0 में समन्वय बढेगा।

9.सैक्टर 27 में कम्युनिटी सेन्टरः- सैक्टर 27 में कोई भी कम्युनिटी सेन्टर नही है अतः सैक्टर में कम्युनिटी सेन्टर का निर्माण करवाया जाना चाहिए जिससे सैक्टर के नागरिको को भी सुविधा का लाभ उठा सकेगे।

10.सब माल के निकट बनी पार्किग :- सब माल के निकट बनी पार्किग के उपर पार्क बनाया जाना प्रस्तावित था। जो अभी तक भी नही बनवाया गया हे। यह पार्किग भी 15 वर्षो के लिए ही दि गई थी और इसका समय भी समाप्त हो चुका हैं

उपरोक्त सभी बिन्दुओ पर विस्तार पूर्वक लगभग 45 मिन्ट चर्चा की गई, जिसे सी0ई0ओ0 महोदया ने ध्यान पूर्वक सुना व प्राधिकरण द्वारा इनके सम्बन्ध में किये जा रहे कार्यो से अवगत कराया तथा सभी सुझाव पर कार्यवाही करने का आश्वासन दिया।

 4,058 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.