नोएडा खबर

खबर सच के साथ

ब्रेकिंग न्यूज़ – इलेक्टोरल बांड से चुनावी चंदे के रूप में राजनीतिक दलों को 7 खरब, 33 अरब 60 करोड़ 35 लाख 45 हजार मिले, आरटीआई में खुलासा

1 min read

-चुनावों के लिए एक करोड़ वाले इलेक्टोरल बांड 92.3 प्रतिशत ने खरीदे

-आरटीआई में हुआ खुलासा, कमोडोर लोकेश बत्रा ने  आरटीआई के जरिये मांगी सूचना
-14363 इलेक्टोरल बांड जारी हुए, इनमें 14,217 भुना लिए गए
विनोद शर्मा, नई दिल्ली
चुनावों में पारदर्शिता से चंदा लेने की राजनीतिक दलों की कोशिश इलेक्टोरल बांड से कितनी सफल होगी यह तो समय बताएगा मगर वर्ष 2018 से जुलाई 2021 तक 17 बार इलेक्टोरल बांड जारी हो चुके हैं। जुलाई 2021 में भी एक जुलाई से 10 जुलाई तक बांड जारी हुए थे। अभी तक की सूचना के अनुसार इलेक्टोरल बांड खरीदने वालों में ज्यादातर ऐसी कंपनियां या संस्थाएं हैं जिन्होंने एक करोड़ वाले बांड खरीदे। अब तक एक करोड़ वाले ही 92.3 प्रतिशत बांड खरीदे गए हैं। सभी बांड की बिक्री से राजनीतिक दलों के खाते में 7 खरब, 33 अरब, 60 करोड़ 35 लाख रूपये 45 हजार रूपये की राशि आई है। नोएडा खबर डॉट कॉम को भी इसकी जानकारी मिली है
देश के जाने माने आरटीआई एक्टिविस्ट कमोडोर लोकेश बत्रा ने इस सूचना के लिए आरटीआई के जरिए सूचना मांगी थी। यह सूचना दो अगस्त को स्टेट बैंक आफ इंडिया ने जारी की है। नोएडा खबर डॉट कॉम से बातचीत में कमोडोर लोकेश बत्रा ने बताया कि मिली सूचना के अनुसार अभी तक 14 हजार 363 इलेक्टोरल बांड जारी हुए हैं। इनमें से एक करोड़ के बांड 6812, दस लाख वाले 5494,एक लाख वाले 1886 बांड थे। यानी 92.3 प्रतिशत बांंड सिर्फ एक करोड़ वाले थे। एक लाख कीमत वाले बांड खरीदने वालों का आंकड़ा सिर्फ 0.256 और दस लाख वाले बांड खरीदने वालों का आंकडा 7.36 प्रतिशत था। जो बांड जारी हुए थे उनमें सिर्फ 20 करोड 28 लाख 35 हजार के ऐसे बांड थे जो भुनाए नहीं गए। बाकी सभी बांड भुना लिए गए। जुलाई 21 में एक से दस जुलाई तक इलेक्टोरल बांड बेचने के लिए जारी हुए थे। इनमें एक अरब 50 करोड 51 लाख 30 हजार के बांड भुनाए गए थे। इनमें सबसे ज्यादा कोलकाता ब्रांच से 80 करोड के बॉन्ड बेचे गए। जुलाई में जारी बांड में सबसे ज्यादा बांड कोलकाता ब्रांच से 80 करोड़ के भुनाए गए हैं।
(नोएडा खबर डॉट कॉम को मिली जानकारी के अनुसार जारी)

 2,017 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.