नोएडा खबर

खबर सच के साथ

ग्रेटर नोएडा, 4 जुलाई।

इटेड़ा गांव में मंगलवार को किसान सभा से जुड़ी सभी कमेटियों की बैठक में आंदोलन की अब तक की उपलब्धियों, समीक्षा और आगे की रणनीति पर विचार विमर्श किया गया।

इटेड़ा गांव में सुरेंदर यादव की बैठक पर किसान सभा की गांव कमेटियों के प्रमुख पदाधिकारियों की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता संजय नागर इमलिया ने की बैठक का एजेंडा आंदोलन की अब तक की उपलब्धियां आंदोलन की समीक्षा जेल गए साथियों का सम्मान और आगे आंदोलन की रणनीति रहा। किसान सभा के प्रवक्ता डॉ रुपेश वर्मा ने बड़ी संख्या में इटेड़ा पटवारी रोजा मिलक के महिला पुरुष किसानों और क्षेत्र की किसान सभा की कमेटियों के पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए आंदोलन की अब तक की उपलब्धियों का ब्यौरा रखा।

मुद्दों के बारे में डॉक्टर रूपेश वर्मा ने मौजूद लोगों को अवगत कराया कि 10% आबादी प्लॉट 40 वर्ग मीटर का भूमिहीनों का प्लॉट सर्कल रेट का चार गुना मुआवजा रोजगार आदि मुददे प्राधिकरण ने वर्षों पहले खत्म कर दफना दिए थे पुनः मुद्दों को उठाया गया है जिसमें शुरुआती दौर में प्राधिकरण ने मुद्दों पर बात करने से इनकार कर दिया था। 6 जून को किसानों की गिरफ्तारी लाठीचार्ज और 7 जून से पुन धरना स्थल पर किसानों द्वारा कब्जा करने के कारण अन्य किसान संगठनों और विपक्षी पार्टियों द्वारा किसानों को समर्थन देने के कारण सरकार प्राधिकरण और प्रशासन दबाव में आया और 24 जून को आंदोलन के दबाव में आंदोलन के मुद्दों पर फैसला लेने के बावत हाइपॉवर कमेटी के गठन पर सरकार राजी हुई प्राधिकरण स्तर के मुद्दों पर प्राधिकरण ने तुरंत कार्रवाई करने का लिखित आश्वासन दिया।

बैठक को किसान सभा के संयोजक वीर सिंह नागर ने संबोधित करते हुए कहा कि आंदोलन ने 61 दिन लगातार प्राधिकरण पर बैठकर जो उपलब्धि हासिल की है वह ऐतिहासिक और बेमिसाल है महिलाओं की संख्या युवाओं की संख्या भूमिहीनों की संख्या और उनकी भागीदारी बेमिसाल रही क्षेत्र के लोगों ने पुलिस के दमन और उत्पीड़न का बहादुरी के साथ सामना करते हुए आंदोलन को आगे बढ़ाया और जीत हासिल की प्राधिकरण का पूरा इतिहास वादाखिलाफी का इतिहास रहा है यदि हम समझौते को लागू कराना चाहते हैं तो हमें अपने गांव कमेटियों के संगठन को मजबूत करना होगा जिन गांवों में कमेटियों का निर्माण नहीं हुआ है वहाँ पर कमेटियां बनानी है संगठन के बूते पर ही समझौते को लागू किया जा सकेगा।

बैठक को संबोधित करते हुए ब्रह्मपाल सूबेदार ने कहा हमारा संगठन और हमारी एकता ही हमारी ताकत है अपने संगठन अपने विचार अपने मुद्दों और खुद अपने ऊपर हमें विश्वास कायम रखते हुए मजबूती के साथ आगे बढ़ना है। साथ ही चेतावनी देते हुए कहा कि प्राधिकरण ने 15 जुलाई तक का वक्त मांगा है यदि 15 जुलाई तक समझौते के अनुसार फैसला नहीं आया तो 20,000 से भी अधिक की संख्या में किसान पुनः प्राधिकरण पर हल्ला बोल देंगे बैठक का संचालन सतीश यादव अजय पाल भाटी ने मिलकर किया बैठक को रंगीलाल भाटी बुद्धपाल यादव रण पाल गुर्जर निरंकार प्रधान चंद्रमल प्रधान नीतीश रावल अजबसिंह प्रधान मोहित भाटी एम पी यादव ने संबोधित किया।

बैठक के अंत में जेल गए साथियों वीर सिंह नागर डॉक्टर रूपेश वर्मा रण पाल गुर्जर अमित यादव सुरेश यादव रणवीर यादव बुधपाल यादव गबरी मुखिया हरवीर बैसोया बालेश्वर पवन बैसोया नीरज शर्मा नितिन भाटी नीतीश रावल अंकित यादव मुकुल यादव भीम सिंह नागर ब्रह्मपाल नागर का माला पहनाकर हौसला अफजाई की सम्मान किया गया। बैठक में सभी गांवों में कमेटियों का विस्तार करने संगठन को मजबूत करने और आंदोलन के अगले चरण की तैयारी करने का फैसला किया गया बैठक में समझौते को लागू करने के संबंध में 15 जुलाई तक 11 सदस्यीय कमेटी जो लगातार प्राधिकरण और डीएम से मिलकर मुद्दों के बारे में लागू करने के बारे में वार्ता करती रहेंगी और सभी किसानों को अवगत कराती रहेंगी साथ ही यह फैसला भी लिया गया है कि हर रोज़ दो गांवों में किसान सभा की कमेटियों की बैठक

बुलाई जाए और बैठक में कमेटियों को मजबूत किया जाए।

 3,186 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.