नोएडा खबर

खबर सच के साथ

ग्रेटर नोएडा, 9 अक्टूबर।

किसान सभा के सैकड़ो कार्यकर्ताओं ने प्राधिकरण पर 237 निरस्त किए गए लीजबैक प्रकरणों के मामले में सोमवार को  जबरदस्त प्रदर्शन किया। प्राधिकरण अधिकारियों ने दो हफ्ते में मसले को हल करने का ठोस आश्वासन दिया। किसान सभा ने ठोस आश्वासन पर धरने को समाप्त करने की घोषणा की।

किसान सभा के घोषित कार्यक्रम के अनुसार सैकड़ो की संख्या में जिनमें महिलाओं की संख्या भी सैकड़ो में थी जैतपुर गोल चक्कर पर इकट्ठे होकर जुलूस की शक्ल में प्राधिकरण की ओर जबरदस्त नारेबाजी करते हुए कूच किया।प्राधिकरण के दूसरे गेट पर जबरदस्त नारेबाजी धरना प्रदर्शन करते हुए लोग धरने पर बैठ गए। धरने की अध्यक्षता बाबा रामचंद्र ने की संचालक किसान सभा के महासचिव जगबीर नंबरदार ने किया।

धरने को संबोधित करते हुए किसान सभा के अध्यक्ष डॉ रुपेश वर्मा ने कहा कि लीज बैक के शासन स्तर पर लंबित 533 प्रकरणों और बादलपुर के 208 प्रकरणों को अनुमोदित करने का दबाव किसान सभा ने बनाया था जिस पर लिखित समझौता 16 सितंबर को हुआ था लिखित समझौते में 31 अक्टूबर से पहले ही शासन स्तर पर लंबित लीज बैक प्रकरणों को प्राधिकरण ने अनुमोदित कराने का वादा किया था। परंतु 4 अक्टूबर को शासन स्तर से आई चिट्ठी में 533 में से 296 मामले अनुमोदित कर दिए गए और 237 मामले अनुमोदन के बजाय खारिज कर दिए गए हैं जिससे किसानों में आक्रोश फैल गया। किसान सभा ने जबरदस्त प्रोटेस्ट करते हुए अफसरो से शासन की भेजी चिट्ठी को निरस्त करने के लिए कहा है अफसरों द्वारा संतोषजनक उत्तर नहीं मिलने से आज का धरना प्रदर्शन किया गया, संयोजक वीर सिंह नागर ने कहा किसान सभा जो भी लड़ाई लड़ती है आर पार की लड़ती है आज हम आईडीसी मनोज कुमार सिंह के नाम और मुख्य कार्यपालक अधिकारी ग्रेटर नोएडा के नाम पर ज्ञापन दे रहे हैं ज्ञापन में हमने 4 अक्टूबर की चिट्ठी को निरस्त करने सभी 237 मामलों में लीजबैक का अनुमोदन शासन से मंगवाने बादलपुर के 208 प्रकरणों का अनुमोदन मंगवाने और शिफ्टिंग की नीति में संपूर्ण रकबे की नीति का अनुमोदन मंगवाने की मांग रखी है।

धरना स्थल पर अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी अमनदीप डूली ज्ञापन रिसीव करने पहुंचे अमनदीप डूली ने धरना रत किसान सभा के लोगों को अवगत कराया कि प्राधिकरण सभी 237 मामलों में तथ्यात्मक जानकारी शासन को उपलब्ध कराते हुए अनुमोदन की कार्रवाई करवायेगा। शिफ्टिंग के सभी मामलों में संपूर्ण रकबे की शिफ्टिंग पर किसान सभा के साथ लिखित में सहमति बन चुकी है शासन स्तर पर लंबित शिफ्टिंग के ड्राफ्ट को भी दुरुस्त कराया जाएगा साथ ही आश्वासन दिया कि बादलपुर और चौगानपुर के 208 प्रकरणों को यथावत अनुमोदित कराया जाएगा। इस कार्रवाई के लिए दो से तीन हफ्ते के समय की मांग की है। प्राधिकरण के ठोस आश्वासन के आधार पर संयोजक वीर सिंह नागर ने ज्ञापन सौंपते हुए दो से तीन हफ्ते का समय प्राधिकरण को देते हुए धरने के समाप्ति की घोषणा की।

समाप्ति के समय धरने को संबोधित करते हुए डॉक्टर रुपेश वर्मा ने कहा कि किसान सभा जिले का सबसे मजबूत मुस्तैद और जागरूक संगठन है किसानों के किसी भी मसले पर कोई भी नाजायज कारवाई किसान सभा होने नहीं देगी प्राधिकरण के पास सभी मसलों को हल करने के लिए 31 अक्टूबर तक का समय है प्राधिकरण ने किसी भी मसले पर जरा भी ढील की तो 1 नवंबर से प्राधिकरण के दोनों गेटों का ताला बंद कर दिया जाएगा प्राधिकरण को किसानों के मुद्दों को हल करें बिना काम नहीं करने दिया जाएगा किसान सभा के महासचिव जगबीर नंबरदार ने कहा कि आज के धरने प्रदर्शन को एक ही दिन के नोटिस पर बुलाया गया है इतनी बड़ी संख्या में आप लोग आए हैं इसके लिए आपको बधाई यह आपकी जागरूकता का परिचय है और यही वजह है कि एक ही दिन के धरने में प्राधिकरण को ठोस कार्रवाई करने का आश्वासन देना पड़ा है। आज धरने में जिला कमेटी के सदस्य तिलक देवी जोगेंद्री पूनम भाटी रीना भाटी बबीता सविता भाटी प्रेमवती शेखर प्रजापति दुष्यंत सेन गवरी मुखिया सुरेश यादव सतीश यादव बुधपाल यादव रजे सिंह यादव सेलक यादव संदीप भाटी जितेंद्र भाटी सुशांत भाटी रमेश भाटी निरंकार प्रधान अशोक कार्य रविंद्र बसोया राकेश ठेकेदार अजब सिंह भाटी विनोद सरपंच सुरेंद्र भाटी गुरदीप एडवोकेट अरुण नागर सचिन भती संदीप भाटी डेरिन, वरिष्ठ उपाध्यक्ष ब्रह्म सिंह नगर जितेंद्र मैनेजर रणवीर मास्टर जी और सैकड़ो की संख्या में महिला पुरुष किसान उपस्थित रहे।

 8,019 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.