नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नोएडा के पूर्व एसीईओ राकेश मिश्र के चौथे काव्य संग्रह “शब्दों का देश” का लोकार्पण

1 min read

लखनऊ, 8 अक्टूबर।
लखनऊ में चल रहे पुस्तक मेले में आज राकेश मिश्र के चौथे काव्य-संग्रह ‘शब्दों का देश’ का लोकार्पण समारोह आयोजित हुआ जिसकी अध्यक्षता कथाकार और ‘तद्भव’ के सम्पादक अखिलेश ने की।समारोह में बोलते हुए लखनऊ के उपन्यासकार वीरेंद्र सारंग ने राकेश जी की कविताओं की सहजता की प्रशंसा की।बलरामपुर के कवि-लेखक और संगीत मर्मी डॉ.प्रकाश चन्द्र गिरि ने ‘शब्दों का देश’ की कुछ कविताओं के माध्यम से राकेश मिश्र की रचना प्रक्रिया पर बातें रखीं और कहा कि ऐसे समय में जब हिंदी पाठक कविता से दूर हो रहे हैं तब यह आश्चर्यजनक है कि राकेश जी के पिछले तीन वर्षों में चार संग्रह आ चुके हैं और इनकी कविताएँ पाठकों को अपनी तरफ खींचने में सफल रही हैं।लेखक डॉ.मधुसूदन उपाध्याय ने राकेश जी की कविताओं में सृजनशील मानस के द्वंद्व और असमंजस पर बोलते हुए कहा कि इनकी कविताएं द्वैत से अद्वैत की ओर जाती हैं।’जनसन्देश’ के संपादक और कवि सुभाष राय ने कोरोना काल में राकेश जी द्वारा प्रशासनिक दायित्वों के तहत संवेदनशीलता के साथ लोगों की मदद करने की प्रशंसा की।’इंडिया इनसाइड’ के संपादक अरुण सिंह ने राकेश जी लघुकाय कविताओं की प्रशंसा की।उपन्यासकार बालेंदु द्विवेदी ने मिश्र जी की कविताओं में मानवीय मूल्यों की प्रतिष्ठा की सार्थकता पर प्रकाश डाला।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे प्रतिष्ठित उपन्यासकार श्री अखिलेश ने विस्तार से ‘शब्दों का देश’ की कविताओं पर चर्चा की।उन्होंने प्रशासनिक दायित्वों के निर्वहन के साथ ऐसी गंभीर और सार्थक कविताओं के लिए राकेश जी की प्रशंसा की।पुस्तक मेले के इस आयोजन में नगर के अनेक प्रशासनिक अधिकारी,पत्रकार और सुधी साहित्य प्रेमी उपस्थित रहे।संचालन श्री मनोज पाण्डेय जी ने किया ।

 10,706 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.