नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नोएडा प्राधिकरण के प्रधान महाप्रबंधक राजीव त्यागी ने असगर पुर गांव में स्वच्छता व्यवस्था का जायजा लिया

1 min read

नोएडा, 23 जून।

नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी द्वारा दिये गये निर्देशों में 23.06.2022 को नौएडा प्राधिकरण के प्रधान महाप्रबन्धक श्री राजीव त्यागी द्वारा विभिन्न स्थानों का औचक निरीक्षण कर जनस्वास्थ्य विभाग के क्रियाकलापों का जायजा लिया गया। गौरतलब है कि ग्राम असगरपुर के निवासी बुधवार को सफाई व्यवस्था के सम्बन्ध में श्रीमती रितु माहेश्वरी, मुख्य कार्यपालक अधिकारी, नौएडा से मिले थे, जिसके क्रम में मुख्य कार्यपालक अधिकारी के निर्देशों के क्रम में श्री राजीव त्यागी, पी.जी.एम. द्वारा आज सुबह-सुबह ग्राम असगरपुर का भ्रमण कर निरीक्षण किया गया। इनके द्वारा सुबह 7.30 बजे से दोपहर तक नौएडा के विभिन्न क्षेत्रों का निरीक्षण किया गया।

पी. जी. एम. श्री राजीव त्यागी द्वारा प्राधिकरण की जनस्वास्थ्य विभाग की टीम एवं वर्क सर्किल की टीम के साथ सम्पूर्ण ग्राम में पैदल घूमकर प्रत्येक बिन्दु का निरीक्षण किया। श्री राजीव त्यागी द्वारा निरीक्षण के दौरान जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निम्नवत् निर्देश देते हुए सख्त रूप से अनुपालन करने हेतु कहा गया:

1. ग्राम असगरपुर में तालाब से फ्लोटिंग मैटेरियल निकालने के निर्देश दिये गये।

2. ग्राम की सभी नालियों को गली तक सफाई का कार्य तीन दिन में पूर्ण करने के निर्देश दिये गये।

3. असगरपुर में सफाई व्यवस्था मानकों के अनुरूप न पाये जाने पर सम्बन्धित संविदाकार पर रु० 1 लाख की पेनल्टी लगाये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

4. संविदाकार के 4 सफाई कर्मचारी, जो कई दिन से बिना बताये छुट्टी पर थे, उनको बर्खास्त करके दूसरे कर्मचारियों को तैनात किये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

5. ग्राम के तालाब के साथ की रोड़ का लेवल नीचे होने के कारण सड़क पर जल भराव होता है। इस भाग में सड़क को ऊंचा कराने के निर्देश दिये गये ।

6. सभी मुख्य नालों की सफाई का कार्य प्रारम्भ कराते हुए 15 दिन में पूर्ण कराने के निर्देश दिये गये।

7. अस्थाई गौवंश आश्रय स्थल सैक्टर-135 में रंगाई पुताई व मरम्मत का कार्य एक सप्ताह में पूर्ण करने के निर्देश दिये गये।

8. गोबर गैस प्लान्ट के चारों ओर एक सप्ताह में ग्रास लगाकर हरित क्षेत्र विकसित करने हेतु उप निदेशक-3 को निर्देशित किया गया ।

9. सभी रास्तों पर नालियों के ऊपर स्लैब लगाने के निर्देश दिये गये ।

10. गोबर का समुचित उपयोग गमलों हेतु किया जाये।

11. सभी कर्मचारियों को समय से कार्य पर पहुँचने के निर्देश दिये गये ।

12. गौवंश आश्रय स्थल के प्लान का बोर्ड लगाने के निर्देश दिये गये।

13. नालियों एवं सड़कों की सफाई नियमित रूप से की जाये, कहीं भी कूड़ा दिखाई न दे। इस हेतु सड़कों पर पर्याप्त मैनवार तैनात किया जाये।

14. सभी सफाईकर्मी समय से पहुँचकर तथा अपनी पूर्ण वर्दी (जैकेट सहित ) में रहकर कार्य करें।

15 क्षेत्र के सुपरवाईजर सफाई हेतु पूर्ण रूप से जिम्मेदारी लेते हुए कार्य सम्पादित

करायें ।

16. प्रत्येक कर्मचारी अपनी बीट पर कार्य करें।

17. सभी कर्मचारियों की नियमित रूप से उपस्थिति चैकिंग की जाये। कोई भी कर्मचारी बिना बताये लम्बे समय तक छुट्टी पर रहता है, तो उसके विरुद्ध कार्यवाही की जाये।

18. डोर-टू-डोर गार्बेज कलेक्शन भलीभांति किया जाये तथा प्रत्येक घर से कूड़ा कलेक्ट करना सुनिश्चित किया जाये, ताकि जनसाधारण द्वारा बाहर बिल्कुल भी कूड़ा न फेंका जाये।

19. कहीं भी सी. एण्ड डी. वेस्ट खुले में न पड़ा हो।

उपरोक्त के अतिरिक्त सैक्टर-14ए के सामने नवनिर्मित का भी निरीक्षण किया गया तथा निम्न निर्देश दिये गये:

1. शीघ्र अतिशीघ्र बेसहारा गायों एवं नन्दियों को गौशाला में संरक्षित किया जाये ।

2. गौशाला के संचालक द्वारा गौशाला में आवश्यक कार्यों हेतु की जा मांग पर नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही करते हुए कार्य कराये जायें।3. गौशाला में पौधारोपरण किये जाने हेतु उद्यान विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया।

4. संचालक द्वारा गौशाला में जल विभाग एवं उद्यान विभाग से सम्बन्धित कार्यो हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को तत्समय ही निर्देशित किया गया।

5. गौशालाओं में Cow Dung Log मशीन स्थापित कर गोबर का सदुपयोग किया जाये, जिसका उपयोग अन्तिम निवास में किया जायेगा।

प्रधान महाप्रबन्धक द्वारा चेतावनी दी गई कि किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। जो भी ठेकेदार भलीभाँति कार्य नहीं कर रहा है, वे कार्यवाही हेतु तैयार रहें। यदि ठेकेदारों द्वारा अनुपालन नहीं किया गया तो उन पर भारी पेनल्टी लगाई जायेगी तथा ब्लैकलिस्ट करने की कार्यवाही की जायेगी।

साथ ही यह भी निर्देशित किया गया कि जनस्वास्थ्य विभाग के सभी परियोजना अभियन्ता, सहायक परियोजना अभियन्ता, स्वास्थ्य निरीक्षक एवं सुपरवाईजर प्रातः जल्दी साईट पर निकलें तथा भलीभाँति अपने क्षेत्रों का निरीक्षण करें तथा निरीक्षण आख्या अपने-अपने रिपोर्टिंग अधिकारी को प्रस्तुत करें। ऑफिस सम्बन्धी कार्यों को अपराह्न 3 बजे के बाद प्राथमिकता के साथ सम्पादित करें।

प्रधान महाप्रबन्धक द्वारा प्रतिदिन किसी भी क्षेत्र का औचक निरीक्षण किया जायेगा तथा कमी पाये जाने पर सम्बन्धित के विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी।

प्रधान महाप्रबन्धक द्वारा सभी विभाग, सिविल, जनस्वास्थ्य, विद्युत आदि विभागों से अपेक्षा की गई कि सभी विभागों द्वारा टीम- नौएडा की भावना से कार्य किया जाये तथा नौएडा प्राधिकरण से सम्बन्धित किसी भी समस्या के निराकरण हेतु परस्पर समन्वय किया जाये। साथ ही अपेक्षा की गई कि नौएडा के स्वच्छता अभियान में जनता की भागीदारी सम्मिलित करते हुए जन आंदोलन बनाते हुए नौएडा को स्वच्छता रैंकिंग में नम्बर -1 बनाना है।

 5,686 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.