नोएडा खबर

खबर सच के साथ

कॉनरवा ने कहा, नोएडा शहर के विकास की 10 वर्षीय योजना तैयार करें, सीईओ को भेजी चिट्ठी

1 min read

 

नोएडा, 4 अगस्त।

कॉनरवा ने नोएडा की मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी को पत्र लिखकर मांग की है कि नोएडा शहर के विकास के लिए 10 साल की दीर्घकालिक योजना बनाई जाए कॉनरवा के अध्यक्ष पी एस जैन और महासचिव ब्रिगेडियर अशोक हक ने यह पत्र जारी किया है। उन्होंने कहा कि नौएड़ा उत्तर प्रदेश का आदर्श शहर है तथा यहॉ पर इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास प्राधिकरण द्वारा काफी अच्छा किया गया है। आपके आने के उपरान्त इन्फ्रास्ट्रेक्चर का विकास और अधिक तीव्र गति से हुआ है। जिसके लिए आप बधाई के पात्र है।

सभी योजनाऐ शीघ्रता से पूरी भी की गई है। परन्तु कुछ योजनाओ को पूर्ण करने में काफी विल्मभ हो रहा है। जिससे आवागमन में शहर के नागरिको को काफी परेशानी हो रही है। समभ्वतः विल्मभ के कारण प्राधिकरण का खर्च भी बढ़ गया होगा।

शहर के विकास एवम् रखरखाव की कोई निश्चित योजना, आगामी 5 अथवा 10 वर्ष की अभी तक नही बनाई गई है तथा कोन सा कार्य को समय प्रणाली के अनुसार कब शुरू करना है तथा कब समाप्त करना है। उसका स्थाई रिकार्ड/प्रारूप प्राधिकरण द्वारा नही बनाया गया है। जैसेः-

1. शहर के बड़़े नालो की सफाई –
शहर के बड़े नालो की सफाई प्रत्येक वर्ष विल्म्भ से शुरू होती है तथा बरसात शुरू होने के उपरान्त भी 50 प्रतिशत कार्य शेष रह जाता है। जबकि ठेका पूरा कार्य को समय से करने के लिए दिया जाता है। बरसात के समय में की गई सफाई से जो कचरा निकाला जाता है। वह बरसात में पुनः नालो व नालियों में चला जाता है। इस प्रकार केवल धन की बरबादी होती है। इसके लिए दुरगामी योजना स्थाई रूप से बनाई जाऐ जिसमें नालो की मरम्मत अन्दर व बाहर से, नालो की बाउन्डरी वाल की मरम्मत, नालो के अन्दर ढलान व नालो के ऊपर से कुड़ा नालो में न गिरे इसके लिए योजना बनाई जानी चाहिए, जिससे प्रति वर्ष यह समस्या न खड़ी हो।

2. भूगर्भ से जल की उपल्बधता के समबंध में –
संस्था द्वारा काफी समय से यह मांग की जा रही है। कि भूमि का जल स्तर दिन प्रति दिन कम हो रहा है। जिसके लिए वाटर की हार्वेस्टिंग की दूरगामी योजना बना कर सुचारू व क्रियान्वित करवाई जानी चाहिए। जिसके लिए संस्था का सुझाव है कि सर्वप्रथम सभी सरकारी प्रतिस्ठानों, प्रशांसनिक कार्यालयो, कारपोरेट औफिस, आई0टी0 औफिस, कम्युनिटि सेन्टर, मेरिज होम, सरकारी बंगले, कॉलेज, स्कूल, विश्वविद्यालय, हाउसिग सोसाईटिज, माल, पार्क, स्टेड़ियम, बस टर्मिनल, रेलवे स्टेशन, एयर पोर्ट आदि में क्षेत्रफल के अनुसार वाटर हार्वेस्टिंग कराये जाने चाहिए जिसको कराना सीधे तोर पर सरकारी व प्रशासनिक अधिकारीयों के हाथ में है। जिस से काफी वाटर हार्वेस्टिंग होगा तथा भूजल का स्तर बढ जायगा। तथा इनका कार्यरत रहने के लिए लगाने वाले ठेकेदार को ही 5 वर्ष का ठेका भी दिया जाना चाहिए जिससे आगामी 5 वर्षो तक सही काम करने के कारण आने वाले समय में भूजल के स्तर में अभूतपूर्व सुधार होगा।

हमें आशा ही नही पूर्ण विश्वास है कि शहर में इन्फ्रास्ट्रेक्चर के सुधार के समबंध में उपरोक्त तथ्यो का संज्ञान लेकर नियम बनाऐ जाऐ तथा उनका अनुपालन सुनिश्चित किया जाऐ। जिससे हमारा शहर वास्तव में आदर्श शहर होगा।

 8,392 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.