नोएडा खबर

खबर सच के साथ

त्यागी समाज की महापंचायत के बाद लोनी विधायक नंद किशोर गुर्जर की चिट्ठी ने मचाई खलबली, कहा कुछ नेता और अधिकारी फैला रहे वैमनस्य

1 min read

नोएडा, 22 अगस्त।

गौतम बुध नगर में षड्यंत्र के तहत अधिकारी और नेताओं की गठजोड़ के कारण सनातन धर्म में जातीय व्यवस्था को बढ़ाकर ग्रह युद्ध की स्थिति उत्पन्न की जा रही है इस गठजोड़ को लेकर बीजेपी में लोनी के विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव गृह अवनीश अवस्थी को पत्र लिखा है इस पत्र में कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं और उनकी जांच की मांग की गई है हम आपके लिए लोनी विधायक है पत्र हूबहू प्रकाशित कर रहे हैं ताकि आप उनकी भाषा को समझ सके और पढ़ सकें उल्लेखनीय की श्रीकांत त्यागी केस में पैरवी करने के लिए मैं केवल पश्चिम उत्तर प्रदेश के बहुत सारे लोग सक्रिय हुए बल्कि भंगेल में एक त्यागी महापंचायत का आयोजन भी किया गया इसके राजनीतिक परिपेक्ष में निहितार्थ निकाले जा रहे हैं आप पढ़िए विधायक नंदकिशोर गुर्जर की यह चिट्ठी

अपर मुख्य सचिव गृह,

उत्तर प्रदेश शासन, लखनऊ।

दिनांक 21.08.2022

विषय: गौतमबुद्धनगर में षड्यंत्र के तहत अधिकारी और नेताओं के गठजोड़ के कारण लगातार सनातन धर्म में जातीय वैमनस्यता को बढ़ाकर गृहयुद्ध की स्थिति उत्पन्न करने के संबंध में ।

आपको अवगत करान है कि गौतमबुद्धनगर जनपद में पिछले दिनों एक व्यक्ति द्वारा अमिक्स सोसायटी में एक महिला को अपमानित एवं वैश्य समाज के खिलाफ अर्मयादित शब्दों का प्रयोग किया गया जिसकी वीडियो एवं ऑडियो समाचार चैनलों व सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे। मामला संज्ञान में आने पर उक्त व्यक्ति एवं अन्य उनके समर्थन में पहुंचे व्यक्तियों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। माननीय मुख्यमंत्री जी ने स्वयं इस विषय को गंभीरता से लिया था। उक्त प्रकरण में नियमानुसार कार्यवाही होने पर सभी पक्षों द्वारा मौन साध लेने के कारण कुछ स्थानीय नेता जनपद के ही एक बड़े अधिकारी क शह पर जो स्थानीय सांसद मा. डॉ महेश शर्मा जी के विरोधी थे क्योंकि डॉ. महेश शर्मा कार्यकर्ताओं की बात मजबूती से रखने और उक्त अधिकारी के लूट में बाधक थे इसलिए राजनीतिक षड्यंत्र के तहत जिला प्रशासन के लिए आंखो की किरकिरी बन चुके डॉ महेश शर्मा और भाजपा को निशाना बनाने लगे और ब्राहम्ण समाज के लिए भी अभद्र टिप्पणी करने लगे जिसमें अधिकारी के साथ मिलकर नोएडा के ही भाजपा प्रभारी द्वारा मा. मुख्यमंत्री जी के आदेश की खिल्ली उड़ाते हुए जेल गए व्यक्तियों एवं प्रकरण का खुलेआम पक्ष लिया गया और फेसबुक पोस्ट के माध्यम से भाजपा अनुशासन के विपरीत जाकर साथ देने की बात कही गई और प्रकरण को तूल देकर जातीय वैमनस्यता को मजबूत करने का कार्य किया गया।

गौतमबुद्धनगर में पिछले कुछ वर्षों में मौजूदा अधिकारी के कार्यकाल में लगातार जातीय वैमनस्यता एवं कटुता बढ़ने की घटना अप्रत्याशित है इसके पीछे सुनियोजित साजिश है जिसके तहत एक पैटर्न के तहत गुर्जर राजपुत, ठाकुर बनिया, यादव-गुर्जर, त्यागी-बनिया और ग्राहम्ण त्यागी समाज के बीच कटुता उत्पन्न होना संदेह पैदा करता है, जिससे पूरे देश में आपसी टकराव के कारण गृहयुद्ध कराने की मंशा स्पष्ट है जो उक्त समाज के बुद्धिजीवियों की सजगता के कारण टल गया और हिंदू समाज के एकजुटता को उन्होंने टूटने नहीं दिया। दादरी में सम्राट मिहिर भोज मूर्ति प्रकरण के तहत गुर्जर और राजपूत समाज में भी कटुता उत्पन्न करने का कार्य किया गया जबकि गौत्र और वंशावलियों के अनुरूप गुर्जर और राजपूत समाज एक है, इसी प्रकार अब एक ही गोत्र और वंशावली से आने वाले ब्राहम्ण और त्यागी समाज के बीच षड्यंत्र के तहत जातीय वैमनस्यकता पैदा करने का कुत्सित प्रयास किया गया। वहीं गत वर्ष लोनी में ही थानाप्रभारी राजेंद्र त्यागी ने 7 गौतस्करों का एनकाउंटर कर बहादुरी का कार्य था लेकिन उनके खिलाफ ही मुकदमा लिखा गया और स्थानांतरण कर दिया गया तब भी त्यागी समाज के कुछ लोगों ने आवाज उठाई लेकिन षड्यंत्र के तहत आवाज दबा दी गई और इतनी बड़ी घटना के बावजदू उस व्यक्ति के पक्ष में कोई आदोलन नहीं हुआ त्यागी समाज जिसका गौरवशाली इतिहास रहा है। जिसकी छवि बुद्धिजीवी और प्रबुद्ध वर्ग की रही है, किसी भी ऐसे व्यक्ति के साथ खड़ा नहीं हो सकता जिसके उपर नारी शक्ति को अपमानित करने का आरोप हो। उक्त प्रकरण में अपशब्दों के बावजूद व्यापारी समाज द्वारा प्रतिक्रिया न देकर टकराव को टालने का कार्य किया गया क्योंकि व्यापारी समाज ने सदैव हिंदू समाज को एकजुट और मजबूती प्रदान करने का कार्य किया है। इतिहास में भी दानवीर भामाशाह ने महाराना प्रताप जी की जवाब दे चुकी हिम्मत को अपना सर्वस्व प्रदान कर पुर्नजीवित करने का कार्य किया था।

आज मैं उस समय स्तब्ध रह गया जब नोएडा किसी कार्य से गया था वहां पूर्व में मेरे परिचित रहे एक वरिष्ठ अधिकारी से मुलाकात हुई जो गाजियाबाद में भी लंबे समय तक कार्यरत रहे, ने बातचीत में कहा कि आपकी सरकार में अधिकारी इतने ताकतवर हो गए है कि वे स्वयं नेता, अधिकारी और ठेकेदारी का कार्य कर रहे है। उन्होंने बताया कि डॉ. महेश शर्मा जी द्वारा इस प्रकरण के बाद एक बड़े अधिकारी एवं उनके टीम के कुछ साथियों के खिलाफ सख्ती से निष्पक्ष कार्यवाही के लिए शासन को कहा गया तब इस प्रकरण को षडयंत्र के तहत पुनः तुल दिया गया। दिनांक 21.08.2022 को जो रैली हो रही है उसमें भी उक्त अधिकारी द्वारा परिवहन, टेंट व मीडिया प्रबंधन के अतिरिक्त भीड़ के रूप में स्थानीय लोगों तक की व्यवस्था करवाई है जो अपने आप में एक गंभीर विषय है। इसके अतिरिक्त उन्होंने महत्त्वपूर्ण जानकारी देते हुए कहा कि इन अधिकारियों ने अकूत मात्रा में बेनामी संपत्ति अर्जित कर मुंबई व देश के बाहर अपना पैसा लगाया है। हिंदू समाज के ताने-बाने को नष्ट करने के लिए गौतमबुद्धनगर में कुछ डी कंपनी के लोग सक्रिय है जो हिंदू समाज के बीच लगातार जातीय वैमनस्यता बढ़ाने का कार्य कर रहे है जिसका केंद्र गौतमबुद्धनगर है क्योंकि यह मीडिया समूह का गढ़ भी है और हाईप्रोफाइल विधानसभा नोएडा सीट से मा. पंकज सिंह जी रिकॉर्ड मतों से जीतकर विधायक बने है इसलिए भी जातीय वैमनस्यता फैलाकर उनके भी जातीय समीकरणों को प्रभावित करने का लगातार प्रयास किया जा रहा है।

अतः उक्त प्रकरण का गंभीरता से संज्ञान में लेते हुए एक उच्च स्तरीय समिति बनाकर जांच करने का कष्ट करें जिससे भविष्य में संभावित अन्य जातीय वैमनस्यता और टकराव को टाला जा सकें और गृहयुद्ध जैसी स्थिति को रोका जा सकें।

नन्द किशोर गुर्जर ( विधायक लोनी विधानसभा 53 ) जनपद गाजियाबाद (उ.प्र.)

 23,679 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.