नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नोएडा : एचडीएफसी बैंक को लगाया 23 करोड़ का चूना, एक गिरफ्तार

1 min read

नोएडा, 6 जुलाई।

थाना फेस 1 पुलिस द्वारा फर्जी दस्तावेज बनाकर तथा फर्जी रूप से अलग अलग व्यक्तियों की आईडी एवं प्राइवेट लि0 कम्पनियाँ बनाकर बैंको में फर्जी खाता खोलकर धोखाधड़ी कर बैंको से लोन लेकर बैंको को लगभग 23 करोड़ रूपये की आर्थिक हानि पहुँचाने वाला वांछित 1 अभियुक्त गिरफ्तार किया गया है। उसके कब्जे से फिंगर प्रिंट डिवाइस(SAGEM COMPANY) व डाटा केबल तथा 1 आई स्कैनर IRITECH बरामद की गई है।

पुलिस मीडिया सेल के अनुसार थाना फेस 1 पुलिस ने 6 जुलाई 2023 को फर्जी दस्तावेज बनाकर तथा फर्जी रूप से अलग अलग व्यक्तियों की आईडी एवं प्राइवेट लि0 कम्पनियाँ बनाकर धोखाधड़ी कर बैंको से लोन लेकर बैंको को लगभग 23 करोड़ रूपये की आर्थिक हानि पहुँचाने वाले 01 वांछित अभियुक्त मौ0 रफी उर्फ रफीक पुत्र मौ0 सद्दीक को शिवानी फर्नीचर के पास सै0 10 नोएडा से गिरफ्तार किया गया। उसके कब्जे से एक फिंगर प्रिंट डिवाइस (SAGEM COMPANY) व डाटा केबल तथा 1 आई स्कैनर IRITECH बरामद किये गये।

इसके सम्बन्ध में एचडीएफसी बैंक लिमिटेड के ( डिप्टी वाईस प्रेसिडैंट क्रेडिट एन्टेलीजैंस एवं कंट्रोल की लिखित शिकायत  अभियुक्तगण द्वारा अवैध रूप से आर्थिक लाभ कमाने के उद्देश्य से फर्जी दस्तावेज बनाकर तथा फर्जी रूप से अलग अलग व्यक्तियों की आईडी एवं प्राइवेट लि0 कम्पनियाँ बनाकर धोखाधड़ी कर बैंक को आर्थिक हानि पहुँचाने के आधार पर थाना फेस 1 नोएडा पर मु0अ0सं0 246/2023 धारा 420/406/467/468/471/120बी भादवि दिनांक 12.05.23 को पूर्व में पंजीकृत कराया है। जिसमें 08 अभियुक्तगण को पूर्व में दिनांक 16.05.23 को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है, अभियुक्त उपरोक्त मुकदमा उपरोक्त में वांछित अभियुक्त है।

ऐसे करते थे धोखाधड़ी
अभियुक्तों द्वारा विभिन्न फर्जी नामों से आधार कार्ड बनवाकर इन्ही फर्जी नाम से पैन कार्ड बनाकर तथा ROC मे कम्पनी रजिस्टर कराकर तथा विभिन्न अन्य लोगों के आधार कार्ड तथा पैन कार्ड इसी तरह से बनाकर अलग- अलग बैंको मे खाते खुलवाते हैं इस प्रकार खोले गये खातों मे फर्जी कम्पनी के खाते से सैलरी के रुप मे धन ट्रान्सफर करते हैं । उस धन को एटीएम से निकालकर पुनः उसी कम्पनी के खाते मे जमा करा देते हैं। इस प्रकार 6- 7 महिने सैलरी देने पर ऐसा खातेदार लोन के लिये उपर्युक्त हो जाता है। तब ये लोग आनलाईन लोन एप्लाई करके तथा कई अन्य फाईनेन्स कम्पनियों से कार, मोबाईल व अन्य वस्तुएं फाईनेन्स कराते हैं। लोन के रुपयों को एटीएम के माध्यम से निकालकर तथा फाईनेन्स की वस्तुओं को गबन करके ये लोग बैंक को वापस नही करते हैं क्योकि यह सब काम गलत नामों से किया जाता है अतः बैंक इनको पकड़ नही पाता है ये लोग यह काम किराए के फ्लैट लेकर करते हैं GHCL कम्पनी मे फ्राड का काम इन लोगो ने सैक्टर 119 मे एक फ्लैट लेकर किया था। इन लोगो ने अभी तक एचडीएफसी सहित अन्य बैंको से लगभग 23 करोड़ रूपये लोन के रूप में लिये है और वापस नही किये। इस प्रकार बैंको को लगभग 23 करोड़ रूपये की हानि पहुँचायी है। GHCL (फर्जी कम्पनी) कम्पनी ने EPFO में कम्पनी के कर्मचारी के खाते खुलवा रखे थे और समय समय पर EPFO के खाते में पैसा जमा करते थे जिससे कम्पनी का अस्तित्व सही प्रतीत हो और फर्जी कर्मचारी दर्शाकर कर्मचारी के नाम पर लोन लेते समय बैंको को कोई शक न हो।

 

 4,555 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.