नोएडा खबर

खबर सच के साथ

-वादाखिलाफी से फैला आक्रोश किसान सभा ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पर फिर से दिन रात का धरना जमाया

-प्राधिकरण से बिना सांसद सुरेंद्र नागर के वार्ता करने से किया इनकार

ग्रेटर नोएडा, 18 जुलाई।

24 जून को राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर मध्यक्षता कर सरकार की ओर से किसानों के मसले पर हाई पावर कमेटी का 30 जून तक नोटिफिकेशन कराकर 15 जुलाई तक फैसला कराने का लिखित में आश्वासन दिया था। जिस पर प्राधिकरण और सरकार ने सांसद की प्रतिष्ठा की परवाह किए बिना लिखित वादे के पालन से इनकार कर दिया 7 जुलाई को किसान सभा ने अपनी कमेटियों की बैठक बुलाकर 18 जुलाई से दिन-रात के धरने का ऐलान किया था। एलान के अनुसार आंदोलन को आज 62 वें दिन शुरू करते हुए दिन रात का महापड़ाव शुरू कर दिया गया है।

मुद्दों को हल किये बिना नही हटेगा धरना

किसान सभा की एक्शन कमेटी ने फैसला किया है कि किसानों का पक्का मोर्चा आंदोलन के मुद्दों को हल किए बिना नहीं हटेगा । तय कार्यक्रम के अनुसार हजारों की संख्या में किसान जैतपुर गोल चक्कर पर इकट्ठा हुए वहां से जुलूस के रूप में प्राधिकरण के गेट पर कब्जा कर लिया । आज भी महिलाओं की संख्या पुरुषों से भी ज्यादा थी ढाई हजार से ज्यादा महिलाओं ने धरना प्रदर्शन में हिस्सा लिया ऐतिहासिक तौर पर ग्रेटर नोएडा में पहली बार किसी धरने में संख्या के नजरिए से भी और नेतृत्व के नजरिए से भी महिलाएं आंदोलन को आगे बढ़ा रही हैं।

किसान सभा के आज के महापड़ाव की अध्यक्षता नंबरदार जगदीश ने की संचालन टीकम नागर ने किया महापड़ाव को डॉक्टर रूपेश वर्मा ब्रह्मपाल सूबेदार किसान यूनियन बलराज के हातम सिंह भाटी किसान यूनियन ओमपाल किसान यूनियन अजगर के नरेश और हरवीर नागर ने संबोधित किया पार्टियों की ओर से कांग्रेस के गौतम अवाना लोक दल से जनार्दन भाटी समाजवादी पार्टी से सुधीर भाटी ने संबोधित किया सीटू के जिला अध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा किसान सभा के वित्त सचिव पूर्व विधायक कृष्ण प्रसाद किसान सभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं 8 बार के लोकसभा के पूर्व सांसद हन्नान मौला ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा पूरी तरह किसान विरोधी सरकार है जो सांसद अपने आपको यहां पर किसानों का नुमाइंदा कहता है जिसने आकर मध्यस्थता की, जिसने किसानों से वादा किया लिखित में समझौते को नकारते हुए उसके प्रतिष्ठा को धूल में मिलाने का काम किया गया है।

रूपेश वर्मा ने धरने को अवगत कराया कि किसान सभा की जिला एक्शन कमेटी ने स्थगित आंदोलन को पुनः महापड़ाव के रूप में शुरू करने का फैसला किया है महापड़ाव दिन रात का होगा और तब तक चलेगा जब तक कि आंदोलन के मुद्दे पूरी तरह हल नहीं होते प्राधिकरण के अधिकारियों की ओर से सीईओ स्तर पर वार्ता करने का निवेदन किया गया जिस पर किसान सभा की कमेटी में सांसद सुरेंद्र नागर को शामिल कर वार्ता करने की बात कही। डॉ रुपेश वर्मा ने महापड़ाव में उपस्थित हजारों लोगों के सामने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के विरुद्ध वादाखिलाफी करने का निंदा प्रस्ताव पास किया जिसे सभी ने सर्वसम्मति से पास करते हुए आक्रोश भी जाहिर किया ।

सूबेदार ब्रह्मपाल ने कहा कि सांसद को बीच में लिए बिना क्योंकि सांसद के आश्वासन पर ही उन्हीं के विश्वास पर ही धरना स्थगित हुआ था हम वार्ता में नहीं जाएंगे सूत्रों से पता चला सांसद को लगातार अधिकारियों द्वारा बुलावा भेजा गया परंतु सांसद वार्ता में शामिल होने नहीं पहुंचे हैं आशंका है वह भी अधिकारियों से नाराज है महापड़ाव को सुशील प्रधान जी भारतीय वीर दल के विजय सिंह जी बबली गुर्जर जी पूर्व प्रत्याशी समाजवादी पार्टी नरेंद्र नागर ने संबोधित किया और समर्थन की घोषणा की महिला समिति की नेता आशा शर्मा आशा यादव चंदा बेगम ने धरने को संबोधित किया और ऐलान किया कि महिला शक्ति इस आंदोलन का नेतृत्व करेंगी और अब की बार और बड़ी महापंचायत में और अधिक संख्या में महिलाएं आएंगी।

धरने पर लगभग 4:00 बजे समाजवादी पार्टी के सरधना से विधायक अतुल प्रधान समर्थन देने पहुंचे किसानों को संबोधित करते हुए अतुल प्रधान ने ऐलान किया कि मैं संघर्ष के कारण विधायक बना हूं आपके आंदोलन के पहले चरण में आपके साथ था आगे भी आपके साथ रहूंगा जब तक आप के मुद्दे हल नहीं होते तब तक साथ रहूंगा आपकी इच्छा के अनुसार जब आप कहोगे सब अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को धरना स्थल पर लेकर के आऊंगा मैं आपके साथ हूं धरने में मोहित भाटी अजब सिंह नेताजी संदीप भाटी शशांकप, प्रशांत भाटी श्याम सिंह प्रधान जी निशांत रावल अभय भाटी जिला अध्यक्ष नरेंद्र भाटी महाराज सिंह प्रधान जी गवरी मुखिया बुध पाल यादव जी सुरेश यादव जी राजीव नागर जी मोनू मुखिया विजेंद्र नगर रविंद्र नागर संजय नागर मनोज प्रधान सुरेंद्र भाटी प्रकाश प्रधान बिजेंद्र नागर भीम सिंह नागर प्रीतम नागर सुशील सुनपुरा मुकेश खेड़ी मटोल खेड़ी सुंदर भनौता जगबीर नंबरदार निरंकार प्रधान एवं अन्य हजारों किसानों महिलाओं ने हिस्सा लिया फैसले के अनुसार सैकड़ों की संख्या में दिन रात के धरने में महिला पुरुष धरने पर जमे रहेंगे।

 4,520 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.