नोएडा खबर

खबर सच के साथ

क्या योगी सरकार पर भारी पड़ेगा आम आदमी पार्टी का फ्री बिजली का दांव !

1 min read

(Noidakhabar.com )

लखनऊ, 16 सितम्बर।

बिजली का करंट क्या योगी सरकार को दे सकता है झटका,  दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने उत्तर प्रदेश की जनता के लिए बिजली के जरिये अपना एजेंडा फिक्स कर दिया है । उन्होंने कहा है कि प्रदेश में आम आदमी पार्टी की सरकार बनते ही 300 यूनिट तक बिजली फ्री दी जाएगी ।

इसके साथ ही किसानों को खेती के लिए मुफ्त बिजली, 38 लाख बकायेदारों के बिजली बिल माफ और उत्तर प्रदेश में 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने का वादा आम आदमी पार्टी ने किया है । दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की इस घोषणा से एक बात साफ हो गई है कि उत्तर प्रदेश में 2022 के चुनाव को लेकर आप का एजेंडा दिल्ली का प्रशासनिक सिस्टम है। मनीष सिसोदिया ने पत्रकार वार्ता में साफ किया कि अगर यूपी में आम आदमी पार्टी की सरकार बनती है 24 घण्टे के अंदर 300 यूनिट तक बिजली फ्री, 38 लाख बिजली बिल के बकायेदारों के  सब बिल माफ होंगे । उन्हें बिजली के बिल भरने की जरूरत नहीं पड़ेगी । इसके साथ ही किसानों के बिजली को मुफ्त में देने की व्यवस्था की जाएगी ।

यह एक बहुत बड़ी घोषणा है ग्रामीण क्षेत्र में किसानों के बीच महंगी बिजली एक बड़ा मुद्दा बनने जा रही है उत्तर प्रदेश में बिजली कुप्रबंधन किसी से छिपा नहीं है । निगम 60 हज़ार करोड़ घाटे में चल रहे हैं । बिजली निगम की बागडोर आईएएस अधिकारी के हाथ में हो या टेक्नोक्रेट के हाथ में इसको लेकर बिजली विभाग के कर्मचारी व अधिकारी लगातार आंदोलन कर रहे हैं उनका कहना है जब तक बिजली विभाग की बागडोर टेक्नोक्रेट्स के हाथ में थी तब तक बिजली विभाग ने एनटीपीसी जैसे महारत्न का शुभारंभ कराया था और जब से बिजली विभाग की बागडोर आईएएस ने संभाली है तब से वितरण उत्पादन और पारेषण तीनों में ही स्थिति डांवाडोल हो गई है और आज उत्तर प्रदेश में तीनों निगम इतने घाटे में आ गए हैं कि इनकी फिर से एकीकरण की मांग उठने लगी है आपको याद होगा कि मुलायम सिंह की सरकार ने 1991 में बिजली विभाग का पुनर्गठन किया था तब विभाग को तीन निगमों में बांटा था उस समय भी हजारों करोड़ का घाटा था और सरकार ने उसे माफ कर दिया था। तीन निगम बन जाने के बाद भी स्थिति में ज्यादा सुधार नहीं आया है हालत यह है कि सरकारी विभागों पर जो बिजली का बिल बकाया है उनका भुगतान नहीं हो पाता। छोटे छोटे किसान पर बिजली बिल बकाया वसूलने के प्रेशर देता रहता है। यूपी में सरकारी स्कूलों में बिजली कनेक्शन लगवाए गए लेकिन बिल जमा ना करने के कारण कनेक्शन कट गए बकायेदारों के रूप में स्कूल के पूर्व प्रधानाचार्य का नाम चल रहा है। ऐसे में बिजली स्कूलों में कैसे जलेगी यह सवाल है।  उत्तर प्रदेश में 2022 के चुनाव में बिजली बहुत बड़ा मुद्दा बन कर उभरे , इसमें कोई शक नहीं है और हो सकता है इसी मुद्दे पर आम आदमी पार्टी को जनता की हमदर्दी का फायदा मिले । यह फायदा कितना मिलेगा यह समय बताएगा लेकिन इतना तय है कि आम आदमी पार्टी ने अपना एजेंडा फिक्स कर दिया है और यह एजेंडा दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और यूपी के प्रभारी राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने पत्रकार वार्ता में घोषित भी कर दिया। इसी मुद्दे पर आम आदमी पार्टी अपने बूथ को मजबूत करेगी जिसका असर कुछ दिन में दिखाई देने वाला है और आम आदमी पार्टी के इस नजरिए से विपक्ष की पार्टियां समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी कितनी सहमत हैं यह भी पता चलेगा।  इस कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह भी मौजूद थे।

 4,730 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.