नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नोएडा प्राधिकरण सीईओ रितु माहेश्वरी ने की उद्यान विभाग की समीक्षा, बच्चों के पार्क बनाने में देरी पर नाराजगी जताई, दिया अल्टीमेटम

1 min read

नोएडा 30 सितंबर।

नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी में उद्यान विभाग की समीक्षा की समीक्षा के दौरान निदेशक उद्यान, महाप्रबंधक उद्यान,  उप महाप्रबंधक व सभी उप निदेशक उद्यान उपस्थित रहे। उन्होंने उद्यान विभाग के अधिकारी से कहा है कि 15 अक्टूबर तक शहर में लगे सभी गमलों को नए सिरे से सजाकर पेंट किया जाए और सभी गमलों पर सुंदर नोएडा शब्द लिखा जाए उन्होंने नोएडा शहर में हर सेक्टर में बच्चों के पार्क बनाने में देरी पर नाराजगी व्यक्त की और सभी अधिकारियों को 2 महीने का समय दिया है बैठक में उन्होंने कुछ महत्वपूर्ण निर्देश दिए जो इस प्रकार हैं।

1. वर्तमान समय में बड़े सैक्टरों में अनुरक्षण कार्यों एवं सिविल कार्यों के अनुरक्षण कार्यों के अनुरक्षण के एक टेण्डर तथा छोटे सैक्टरों में कई सैक्टरों को मिलाकर एक टेण्डर बनाकर प्रकाशित किये जाने की प्रक्रिया चल रही है। जिसके तहत 105 टेण्डर प्रकाशित होने है। अभी तक मात्र 41 टेण्डर प्रकाशित हुए है। 5 अक्टूबर तक प्रत्येक दशा में सभी टेण्डर प्रकाशित किये जाये।

2. हर हालत में 15 अक्टूबर तक सभी गमलों के पुराने रंग को साफ करते हुये नई पेन्टिंग करायी जाये तथा उस पर स्पष्ट सुन्दर शब्दों में नौएडा लिखवाया जायें।

3. वेटलैण्ड सैक्टर-54, 91 एवं चिल्ड्रन पार्क का कार्य प्रत्येक दशा में दिसम्बर तक पूर्ण करके उदघाटन कराया जाये। किसी भी दशा में कोई भी वेरियेशन प्रस्तुत नही किया जाये।

4. जिन पार्को/ ग्रीन बेल्टों / पथवृक्षारोपण के अनुरक्षण से सम्बन्धित टेण्डर के कार्यों की अवधि समाप्त हो गई है तथा समय विस्तार किन्ही कारणों से नहीं हो सका है। वहां के लिये लेबर ले लिया जाये किन्तु यह सुनिश्चित किया जाये की उसकी अवधि दिनांक 15.12.2021 से अधिक न हो। निश्चित समय सीमा में टेंडर की प्रक्रिया पूरी कर ली जाए।

5. सभी पार्को/ ग्रीन बैल्टों / पथवृक्षारोपण से सम्बन्धित जो भी अनुरक्षण कार्य चल रहे है, यदि संविदाकार के माध्यम से है, तो संविदाकार से सम्बन्धित विवरण सहित बोर्ड पर एवं यदि विभागीय स्तर से कराया जा रहा है, तो विभागीय सुपरवाईजर एवं उद्यान निरीक्षक आदि के नाम सहित साईड पर बोर्ड अवश्य लगाया जाये। 15 दिन के बाद मौके पर बोर्ड नहीं मिलने की स्थिति में सम्बन्धित के विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी।

6. निदेशक (उद्यान) / महाप्रबन्धक (उद्यान) / उप महाप्रबन्धक (उद्यान) प्रतिदिन अपने अन्य कार्यों के साथ Feild में कम से कम 02 घण्टे उद्यानिक कार्यों का भी निरीक्षण करते हुये कार्य की गुणवत्ता सुनिश्चित कराये।

7. सभी उप निदेशक (उद्यान) / सहायक निदेशक (उद्यान) / उद्यान निरीक्षक संविदाकार द्वारा प्रस्तुत बिल का मौके पर कार्यों का निरीक्षण करने के उपरान्त ही प्रस्तुत किया करें। यदि मौके पर कार्य खराब मिलता है, तो बिलों में कटौती अपने स्तर से करनी सुनिश्चित करें।

8. प्रत्येक सैक्टर में RWA की सहमति से कम से कम एक पार्क बच्चों के खेलने के लिये तैयार किया जाना था, उस पर कार्यवाही न होने से नाराजगी व्यक्त की गई और निर्देशित किया गया कि अग्रिम – 02 माह में प्रत्येक उप निदेशक (उद्यान) अपने खण्ड में कम से कम 10 सैक्टरों में इस प्रकार के पार्क तैयार कराकर अवगत करायेगें।l

 3,826 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.