नोएडा खबर

खबर सच के साथ

ब्रिटिश हाई कमिश्नर ने एमिटी यूनिवर्सिटी के छात्रों को दिया व्याख्यान

1 min read

 

ब्रिटिश हाईकमिश्नर ने एमिटी विश्वविद्यालय के छात्रों को दिया व्याख्यान

नोएडा, 15 नवम्बर।

एमिटी विश्वविद्यालय मे आयोजित एबेंसडर लेक्चर सीरिज के तहत आज भारत में ब्रिटिश दूतावास के हाईकमिश्नर महमाहिम श्री अलेक्जेंडर एलेक्स एलिस सीएमजी ने ‘‘यूके/भारत – विकास से परिवर्तन की ओर’’ विषय पर छात्रों को ऑनलाइन व्याख्यान दिया। इस अवसर पर एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष डा अशोक कुमार चौहान, एमिटी विश्वविद्यालय उत्तरप्रदेश के चांसलर डा अतुल चौहान और एमिटी गु्रप वाइस चांसलर डा गुरिदंर सिंह ने महमाहिम श्री अलेक्जेंडर एलेक्स एलिस सीएमजी का स्वागत किया। इस अवसर पर एमिटी विश्वविद्यालय के छात्र, शिक्षकगण और अधिकारीगण उपस्थित थे।

इस व्याख्यान सत्र में भारत में ब्रिटिश दूतावास के हाईकमिश्नर महमाहिम श्री अलेक्जेंडर एलेक्स एलिस सीएमजी ने ‘‘यूके/भारत – विकास से परिवर्तन की ओर’’ विषय पर संबोधित करते हुए कहा कि विश्व का भविष्य भारत से है और अंर्तराष्ट्रीय शिक्षण सहयोग इसे मजबूती प्रदान करेगा। उन्होनें छात्रों से कहा कि अवसर का लाभ उठाये और समय का उपयोग करते हुए ज्ञान अर्जित करें। विश्व शक्ति का केन्द्रीकरण भारत और इंडो ग्राफिक रिजन बन रहा हैं। श्री अलेक्जेंडर एलेक्स एलिस सीएमजी ने कहा कि मानव और तकनीकी के मध्य संबध स्थापित हुआ है और आने वाली पीढ़ीयों में इसकी तीव्रता कम नही होगी। नए विचारधारा का दौर हैं और लोकतंत्र उसका हिस्सा है। भारत और यूके के मध्य सबंध काफी समय से है आज भारत के व्यक्ति ना केवल यूके के अर्थव्यवस्था बल्कि राजनीति में भी सहयोग दे रहे है और दोनो देशों के छात्र एक दूसरे देश में शिक्षा ग्रहण कर रहे। लोगों का प्रवाह जिसमें छात्र, शोधार्थी, व्यापारी आदि शामिल है निरंतर भारत से यूके और यूके से भारत हो रहा है। महामारी के दौरान स्वास्थयरक्षा के क्षेत्र में भारत ने यूके की सहायता की। संयुक्त विचारधारा ही लंबी सहभागीता की नींव है। आज एमिटी जैसे कई अन्य भारतीय संस्थान सच्चे अर्थो में अंर्तराष्ट्रीय है और भारत, विश्व के लिए ज्ञान प्रदाता बन रहा है। भारत और यूके मिलकर जलवायु परिवर्तन की दिशा में साझा कार्य कर रहे है। भारत की बृहद जनसांख्यिकीय विविधता आपके लिए बेहतरीन अवसर है जिसका आपको लाभ उठाना चाहिए।

एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष डा अशोक कुमार चौहान ने संबोधित करते हुए कहा कि श्री अलेक्जेंडर एलेक्स एलिस सीएमजी के व्याख्यान ने हम सभी को प्रभावित किया है और आपके प्रेरित वचनों से छात्रों को अवश्य लाभ होगा। डा चौहान ने कहा कि शोध और शिक्षण द्वारा राष्ट्र निर्माण के लिए प्रतिबद्ध है और छात्रों को वैश्विक अनावरण प्रदान करते है। उन्होने कहा कि शोधार्थियों को यूके में शोध के क्षेत्र में उपलब्ध अवसरों का लाभ उठाना चाहिए।

एमिटी विश्वविद्यालय उत्तरप्रदेश के चांसलर डा अतुल चौहान ने कहा कि यूके में केवल एमिटी शिक्षण समूह के एक मात्र भारतीय संस्थान है जिसका परिसर है। यूके के कई संस्थानो के साथ एमिटी की भागीदारी है और कई क्षेत्र में संयुक्त शिक्षण कार्य और शोध कार्य का संचालन किया जा रहा है।

एमिटी गु्रप वाइस चांसलर डा गुरिदंर सिंह ने महमाहिम श्री अलेक्जेंडर एलेक्स एलिस सीएमजी का स्वागत करते हुए एमिटी शिक्षण समूह के अंर्तराष्ट्रीय और राष्ट्रीय संस्थानों सहित पाठयक्रमों की जानकारी प्रदान की।

व्याख्यान सत्र में एमिटी वेंचर कैपिटल के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट श्री अमोल चौहान, एमिटी इंस्टीटयूट ऑफ डिफेंस एंड स्ट्रैटजिक स्टडीज के डायरेक्टर जनरल लेफ्ट जनरल एस के गिडिओक आदि उपस्थित थे। इस अवसर पर छात्रों ने श्री अलेक्जेंडर एलेक्स एलिस सीएमजी ने कई प्रश्न किये जिनके उन्होनें जवाब प्रदान किये।

 

 6,933 total views,  4 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.