नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नोएडा : नोएडा प्राधिकरण के पीजीएम ने किया सफाई व्यवस्था का औचक निरीक्षण, लापरवाही बरतने वाली 5 एजेंसियों पर 4 लाख की पेनल्टी लगाई

1 min read

 

नोएडा, 25 जून।

नौएडा प्राधिकरण के प्रधान महाप्रबन्धक श्री राजीव त्यागी द्वारा शनिवार को विभिन्न स्थानों का भ्रमण कर निरीक्षण किया गया । उन्होंने सफाई अभियान में लापरवाही बरतने पर विभिन्न सेक्टरो में कार्य कर रही 5 कंपनियों पर 4 लाख रुपये की पेनल्टी लगाई और नोटिस जारी कर दिया।

शनिवार अवकाश के दिन भी पी.जी.एम. द्वारा प्रातः काल से ही फील्ड पर रहकर प्राधिकरण की महत्वपूर्ण परियोजनाओं एवं जनस्वास्थ्य विभाग के क्रियाकलापों का जायजा लिया गया। पी.जी.एम. द्वारा प्रातः 7 बजे से 3.00 बजे तक फील्ड पर भ्रमण कर विभिन्न क्षेत्रों का निरीक्षण किया गया।

पी. जी. एम. श्री राजीव त्यागी द्वारा निरीक्षण के दौरान निम्न निर्देश दिये गये:

1. एक्सप्रेस वे पर महामाया फ्लाई ओवर से सैक्टर-105 तक निरीक्षण के दौरान सड़क के किनारे पॉलिथीन पाई गई सड़क के किनारे पूरा पत्तों के ढेर पड़े हुए थे सफाई संतोषजनक ना होने के दृष्टिगत M/s Chennai MSW रु01.00 लाख की पेनल्टी लगाकर नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए।

2. सैक्टर-105 व सैक्टर-108 के मध्य मार्ग पर सैक्टर-105 की तरफ जज कॉलोनी के साथ रोड पर कूड़े के ढेर पड़े हुए थे, जिसे लंबे समय से साफ नहीं किया गया था। सैक्टर-108 व 82 के मध्य मार्ग पर भी सैक्टर-108 की ओर फुटपाथ के पीछे कूड़े के ढेर पड़े हुए पाए गए M/s BVG India Pvt. Ltd. द्वारा सफाई कार्य में लापरवाही के दृष्टिगत रु0 1.00 लाख की पेनल्टी लगाकर नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए।

3. सैक्टर-182 व ग्राम गेझा के मध्य मार्ग पर सैक्टर-82 की ओर सर्विस रोड पर कूड़े के ढेर व पॉलिथीन फैली हुई पाई गई। सुबह 9:30 बजे तक सफाई नहीं की गई थी। अतः संविदाकार Ms Advance Services Pvt. Ltd. पर रु0 50,000 की पेनल्टी लगाते हुए नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए।

4. हौजरी कॉन्प्लेक्स में CT No. 64 पर सफाई उचित नहीं पाई गई तथा टॉयलेट में साबुन अथवा Liquid Soap उपलब्ध नहीं था। इसके अतिरिक्त हौजरी कॉम्पलैक्स की नालियों में भी फ्लोटिंग मेटेरियल पाया गया, जिस हेतु संविदाकार M/s Oyux Management Services Pvt. Ltd. पर रु0 50,000 की पेनल्टी लगाई गई।

5. फेस-2 औद्योगिक क्षेत्र में भूखंड संख्या बी-210 के समीप नाली ओवरफ्लो पाई गई। बी – 208 व बी- 210, फेस-2 के समीप पुलिया को आगामी एक सप्ताह में साफ करने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए।

6. संख्या सी – 44, सैक्टर-81 के साथ सर्विस रोड पर कूड़ा तथा जंगल आदि पाया गया, जोकि लंबे समय से साफ नहीं किया गया था। संविदाकार M/s Chennai MSW को उक्त कार्य हेतु भी रु० 1.00 लाख की पेनल्टी लगा कर नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए।

7. कंस्ट्रक्शन एंड डिमोलिशन वेस्ट प्रोसेसिंग प्लांट का भी निरीक्षण किया गया। प्लांट के कच्चे भाग को टाइल लगाकर अथवा घास इत्यादि से डस्ट फ्री जोन करने के निर्देश दिए गए। कंपाउंड में सफाई बढ़ाने, मरम्मत, पेंटिंग आदि कार्य कराने तथा सभी जगहों पर आवश्यकतानुसार बोर्ड लगाने के निर्देश दिए गए।

8. स्थाई गौवंश आश्रय स्थल का भी निरीक्षण किया गया, जहाँ वर्क सर्किल – 9 के वरिष्ठ प्रबंधक तथा जनस्वास्थ्य- ।। के परियोजना अभियंता को ओपन एरिया की ड्रेसिंग कराने, गोबर गैस प्लांट के चारों और सौंदर्यीकरण व गोबर से लॉग मेकिंग मशीन एवं गमला बनाने तथा दिए बनाने की मशीन को दो दिनों में स्थापित कराने के निर्देश दिए गए। गौशाला के बाहर रास्तों के सम्मुख नालियों पर प्रीकास्ट सिलेबस गाने व खड़जों पर जिन स्थानों पर खड़ंजा छतिग्रस्त है। उसकी मरम्मत कराने हेतु निर्देशित किया गया।तदोपरान्त पी. जी. एम. श्री राजीव त्यागी द्वारा जल- बाह्य संस्था के अन्तर्गत सैक्टर-168 में निर्माणाधीन 100 एम.एल.डी. क्षमता के एस.टी.पी. के निरीक्षण किया गया। उल्लेखनीय है कि शासन द्वारा विभिन्न परियोजनाओं को 100 दिनों में पूर्ण किये जाने हेतु लक्ष्य निर्धारित किये गये हैं, जिनको इस माह में पूर्ण किये जाने का लक्ष्य है, जिसके अन्तर्गत सैक्टर-168 में निर्माणाधीन एस.टी.पी. भी सम्मिलित है। उक्त परियोजना लगभग पूर्णता पर है तथा अन्तिम चरण में है। वर्तमान में परियोजना 99 प्रतिशत पूर्ण हो चुका है। शीघ्र ही उक्त परियोजना का लोकार्पण किया जा सकता है। निरीक्षण दौरान निम्न निर्देश दिये गयेः

1. संविदाकार को परियोजना का नया ले-आउट प्लान तैयार कर दिनांक 27.06.2022 तक पुनः दिखाने हेतु निर्देशित किया गया।

2. पूरे प्लान्ट का Unit-wise फ्लो चार्ट तैयार करने हेतु निर्देशित किया गया।

3. शीघ्र ही लोकार्पण के दृष्टिगत पूरे प्लान्ट परिसर की भली-भांति साफ-सफाई एवं अन्तिम फिनिशिंग कार्य की गति और तेज करने हेतु निर्देशित किया गया।

तदोपरान्त सैक्टर-123 में निर्माणाधीन 80 एम.एल.डी. एस.टी.पी. के निरीक्षण किया गया। वर्तमान में परियोजना का 82 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। निरीक्षण के दौरान निम्न निर्देश दिये गयेः

1. एस. टी. पी. का पहुँच मार्ग का निर्माण शीघ्र-अतिशीघ्र पूर्ण कराया जाये।

2. एस. टी. पी. परिसर में पूर्णतः साफ-सफाई रखी जाये।

3. इलैक्ट्रिकल एवं मैकेनिकल उपकरणों का इन्स्टॉलेशन शीघ्र-अतिशीघ्र किया जाये।

4. शासन द्वारा दिये गये निर्देशों के क्रम में परियोजना के लक्ष्य के दृष्टिगत कार्य किये जाएं।

 6,368 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.