नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नोएडा में 21 अगस्त को दोपहर में ध्वस्त होंगे ट्विन टावर

1 min read

नोएडा, 19 जुलाई।

उच्चतम न्यायालय, नई दिल्ली द्वारा पारित आदेश के क्रम में भूखण्ड संख्या- जीएच-04. सैक्टर-93ए, नौएडा पर निर्मित ट्विन टावर्स के सुरक्षित ध्वस्तीकरण के लिए 21 अगस्त को दोपहर ढाई बजे का समय तय किया गया है । इसकी प्रगति रिपोर्ट पर 19.07.2022 को मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदया की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गयी।

बैठक में प्राधिकरण के अधिकारियों के अतिरिक्त प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड एवं अग्निशमन विभाग द्वारा भाग लिया गया। साथ ही बैठक में मै० सुपरटैक लि० मै० एडिफाईस इंजीनियरिंग, इम्राल्ड कोर्ट ऑनर्स रेजीडेन्ट वैलफेयर एसोसिएशन तथा एटीएस विलेज अपार्टमेन्ट ऑनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों द्वारा भाग लिया गया ।

ध्वस्तीकरण के संबंध में मै० एडिफाईस इंजीनियरिंग द्वारा स्टेटस रिपोर्ट प्रस्तुत की गयी। साथ ही उनके द्वारा यह भी बताया गया कि ध्वस्तीकरण की कार्यवाही दिनांक 21.08.2022 को दोपहर 2.30 बजे सम्पादित की जायेगी।

ध्वस्तीकरण के सभी पहलुओं तथा दोनों रेजीडेन्ट वैलफेयर एसोसिएशन के प्रतिनिधियों द्वारा बताई गई समस्याओं पर विचार-विमर्श के उपरान्त सर्वसम्मति से निम्नलिखित निर्णय लिये गयेः

1. मै० एडिफाईस इंजीनियरिंग द्वारा अवगत कराया गया कि प्रत्येक टावर के 11 प्राईमरी तथा 07 सेकेन्ड्री तलों पर स्थित पिलर्स में ड्रिलिंग के माध्यम से होल कर दिये गये है एवं पिलर्स पर जीओ फाईबर क्लॉथ रैपिंग की जा चुकी है। केवल 09 पिलर्स अवशेष है, जिनमें रैपिंग का कार्य अगले 03 दिनों में पूर्ण किये जाने के निर्देश दिये गये।

2. कन्सट्रक्शन एण्ड डिमॉलिशन वेस्ट के डिस्पोजल संबंध में मै० एडिफाईस इंजीनियरिंग द्वारा उपलब्ध करायी गयी रिपोर्ट का संयुक्त रूप से उ०प्र० प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तथा प्राधिकरण द्वारा आंकलन कर मै० एडिफाईस इंजीनियरिंग द्वारा दिनांक 31.07.2022 तक अंतिम कार्ययोजना प्राधिकरण में प्रस्तुत की जाये।

3. ध्वस्तीकरण के फलस्वरूप उत्पन्न होने वाली धूल से लॉन तथा Shrubs को बचाने के लिए प्लास्टिक शीट से कवर किये जाने के सुझाव पर मै० एडिफाईस इंजीनियरिंग द्वारा महाप्रबन्धक (सिविल) एवं विशेष कार्याधिकारी (उद्यान) से समन्वय स्थापित कर दिनांक 31.07.2022 तक कार्ययोजना तैयार कर ली जाये।

4. दिनांक 02.08.2022 से दिनांक 20.08.2022 तक विभिन्न तलों पर स्थित पिलर्स में किये गये होल्स में विस्फोटक सामग्री रखी जायेगी। इस दौरान मै० एडिफाईस इंजीनियरिंग के कर्मियों के अतिरिक्त ट्विन टावर्स के परिसर में प्रवेश निषिद्ध रहेगा। पुलिस विभाग से इस संबंध में मै० एडिफाईस इंजीनियरिंग द्वारा समन्वय स्थापित कर लिया गया है। मुख्य कार्यपालक अधिकारी, नौएडा द्वारा यह निर्देश दिये गये कि विस्फोटक रखे जाने की अवधि में ट्विन टावर्स के परिसर की निगरानी करने हेतु मै० एडिफाईस इंजीनियरिंग द्वारा सी.सी.टी.वी. कैमरें दिनांक 31.07.2022 तक स्थापित कर लिये जाये।

5. मैo एडिफाइस इंजीनियरिंग द्वारा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तथा नौएडा प्राधिकरण के साथ समन्वय स्थापित कर ब्लॉस्ट के समय इम्राल्ड कोर्ट तथा एटीएस विलेज को धूल से बचाने हेतु लगने वाली आयरन शीट की ऊंचाई का निर्धारण दिनांक 30.07.2022 तक अवश्य कर लिया जाये।

6. मै० एडिफाईस इंजीनियरिंग द्वारा अवगत कराया गया कि Vibration prediction report प्राप्त हो गयी है। इस रिपोर्ट के अनुसार अधिकतम वाईब्रेशन 34 एमएम प्रति सेकेण्ड की सम्भावना है, जबकि जोन-5 में सभी स्ट्रक्चर्स 300 एमएम प्रति सेकेण्ड के मानकों के अनुरूप डिजाईन किये जाते है। अतः स्ट्रक्चरल ऑडिट की आवश्यकता नहीं है।

7. स्ट्रक्चरल ऑडिट के संबंध में यह निर्णय लिया गया कि सी.बी.आर.आई. से Expert Opinion प्राप्त कर ली जाये। यदि सी.बी.आर.आई. द्वारा Critical Zone में स्ट्रक्चरल ऑडिट का सुझाव दिया जाता है, तो मै० सुपरटैक लि० द्वारा Reputed Consultant से तत्काल स्ट्रक्चरल ऑडिट कराया जाये। मै० सुपरटैक लि० द्वारा सी.बी.आर.आई. रूड़की को 03 दिन के अन्दर उनके द्वारा मांगी गयी धनराशि रू० 70.00 लाख का भुगतान किया जाये।

8. मै0 एडिफाईस इंजीनियरिंग द्वारा अवगत कराया गया कि पुलिस विभाग में एन. ओ. सी. हेतु सभी प्रपत्र जमा करा दिये गये है, उनके द्वारा एक सप्ताह में एन.ओ.सी. प्रदान कर दिये जाने की सम्भावना है। मुख्य कार्यपालक अधिकारी, नौएडा द्वारा यह निर्देश दिये गये कि पुलिस विभाग द्वारा एक सप्ताह में एन.ओ.सी. प्रदान कर दी जाये।

9. पुलिस विभाग तथा फायर विभाग से मै० एडिफाईस इंजीनियरिंग द्वारा समन्वय स्थापित Evacuation Zone का निर्धारण एक सप्ताह में कर लिया जाये।

10. एन. डी. आर.एफ. के साथ एक सप्ताह में बैठक आयोजित की जाये।

 7,796 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.