नोएडा खबर

खबर सच के साथ

गौतमबुद्ध नगर, 22 अगस्त।

गौतम बुद्ध नगर जिले के नोएडा शहर में आपने विधायक पंकज सिंह के तेवर जरूर देखे होंगे यह देखकर आपके मन में ख्याल आ रहा होगा कि आखिर नेताओं को इस तरह का गुस्सा क्यों आ रहा है।

यहां किसानों के लंबे चले आ रहे आंदोलन के बाद विधायक पंकज जी के घेराव करते समय उनकी मांगों की अफसरों द्वारा की जा रही अनदेखी के कारण यह हालात पैदा हुए और उसका गुस्सा उनके बोलने के अंदाज में साफ दिखाई दे रहा था आखिर हो भी क्यों नहीं वे क्षेत्र के जनप्रतिनिधि हैं जनता ने उन्हें चुना है और जनता के मुद्दों पर उन्हें वादा करने का अधिकार भी है और जब वह वादा पूरा नहीं होता है तब ऐसे ही हालात पैदा होते हैं।

दरअसल यह आंदोलन पिछले 2 साल से चल रहा है पिछली बार विधायक पंकज सिंह और सांसद डॉ महेश शर्मा ने सेक्टर 6 प्राधिकरण कार्यालय के सामने किसानों के मुद्दों को जल्दी से जल्दी से जल्दी हल करने का वादा किया था कई बार प्राधिकरण कार्यालय में मीटिंग हुई और कई बार लखनऊ में भी लेकिन समाधान अभी तक नहीं हुआ जब किसानों का सफर जवाब देने लगा तब भारतीय किसान परिषद के अध्यक्ष सुखबीर खलीफा ने विधायक पंकज सिंह का घर घेरने की घोषणा कर दी। इस वार्ता के द्वारा जनप्रतिनिधि विधायक पंकज सिंह ने भी घोषणा कर दी कि अब वह किसानों की तरफ से धरने पर बैठेंगे अगर आईडीसी ने इस मुद्दे पर गौर नहीं किया तो।

बात यहीं खत्म नहीं होती यह वादा करने और वादा निभाने का समय है चुनाव को मात्र 9 महीने रह गए हैं सांसद के साथ-साथ जनप्रतिनिधि के रूप में विधायक की भी जिम्मेदारी है कि वे किसानों की समस्याओं को हल कराएं पिछले महीने ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यक्रम से ठीक पहले ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के एडिशनल सीईओ आनंद वर्धन ने किसानों का आंदोलन समाप्त करने के लिए एक समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए और इसमें राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर मदद के रूप में थे जब बोर्ड बैठक हुई तो समझौता पत्र के अनुसार कोई फैसला नहीं हुआ इस पर किसान भड़क गए और जनप्रतिनिधि के रूप में सांसद सुरेंद्र नागर ने भी चुप्पी साध ली।

यहां भी किसानों के समझौता पत्र को मानने में अफसरों ने अड़ंगा लगा दिया। किसान संघ ग्रेटर नोएडा में लगभग 100 दिन से बैठे हैं। बायर्स के मुद्दे भी अधर में है। लिफ्ट एक्ट को लेकर गौतमबुद्ध नगर विकास समिति ने सांसद, तीनों विधायक के सामने ज्ञापन दिया है। विधानसभा में इस मुददे को विधायक पंकज सिंह व धीरेन्द्र सिंह ने उठाया। सरकार अब एक्शन में आई है।

अतिक्रमण के मुद्दे पर भी अफसर कोई फैसले नही कर पा रहे हैं। यमुना और हिंडन के डूब क्षेत्र में बाढ़ के दौरान अतिक्रमण की हकीकत प्राधिकरण और प्रशासन के अफसर जान गए। अब एक्शन का इंतज़ार है। बिजली इंफ्रास्ट्रक्चर पर नोएडा की जनता  चिल्लाकर ऊर्जामंत्री से अपनी शिकायत कर आई मगर कोई असर नही। यह तस्वीर ऐसे जिले की हैं जहां पूरी यूपी में आने वाले इन्वेस्टमेंट का 26 प्रतिशत निवेश आने वाला है।

विनोद शर्मा वरिष्ठ पत्रकार

नोएडा खबर डॉट कॉम के लिए।

 3,824 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.