नोएडा खबर

खबर सच के साथ

-डीएम मनीष कुमार वर्मा के नेतृत्व में जनपद में प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना की जा रही है संचालित।

-प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना को लेकर आज डीएम मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में बैठक हुई संपन्न।

-जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना का जनपद में व्यापार प्रचार प्रसार करने के अधिकारियों को दिए निर्देश।

-जनपद में वृहद स्तर पर अभियान चलाकर निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना में कराए जाएं लाभार्थियों के पंजीकरण।

गौतमबुद्ध नगर, 30 अगस्त।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना का लाभ जनपद के प्रत्येक पात्र लाभार्थी तक पहुंचाने एवं जनपद के लिए निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप योजना में पंजीकरण कराने के उद्देश्य से बुधवार को डीएम मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में नगर निगम सहित सभी निकायों एवं खंड विकास अधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक संपन्न हुई। यह योजना 17 सितंबर से देश भर में लागू की जा रही है।

बैठक का सफल संचालन उपायुक्त उद्योग अनिल कुमार के द्वारा किया गया। बैठक में उपायुक्त उद्योग अनिल कुमार ने प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के संबंध में बैठक में उपस्थित अधिकारियों को पावर प्रजेंटेशन के माध्यम से जानकारी देते हुए बताया कि यह योजना भारत सरकार द्वारा 17 सितंबर 2023 से संपूर्ण देश में लागू की जा रही है। इस योजना का नोडल विभाग एमएसएमई है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना 5 वर्ष के लिए लागू की जा रही है, जिसके माध्यम से परंपरागत हस्तशिल्पियों एवं कारीगरों को विश्वकर्मा के रूप में विशिष्ट पहचान दिलाते हुए उनकी कौशल वृद्धि, उन्नतिशील टूल्स, कॉलेटरल फ्री लोन, डिजिटल भुगतान एवं ब्रांडिंग सपोर्ट करने का उद्देश्य निर्धारित किया गया है।

योजना में शामिल हैं 18 ट्रेड

उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत 18 ट्रेडों को सम्मिलित किया गया है, जिसमें बढई, लोहार, कुम्हार, सुनार, मोची, राजमिस्त्री, डलिया बुनकर, दर्जी, नाव निर्माता, अस्त्रकार, हथोड़ा और टूलकिट निर्माता, मरम्मत करने वाला, मूर्तिकार, टोकरी, चटाई, झाड़ू एवं कायर बुनकर, गुड़िया और खिलौने बनाने वाला, मछली का जाल बुनना वाला आदि इत्यादि शामिल हैं। प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक की आयु 18 वर्ष होनी चाहिए एवं लाभार्थी को जन सेवा केंद्र के माध्यम से अपने को किसी एक ट्रेड में पंजीकृत करना होगा। उन्होंने बताया कि योजना के तहत लाभार्थी को पांच दिवसीय प्रशिक्षण प्रदान कराया जाएगा, इसके उपरांत लाभार्थी को ₹15000 का ई वाउचर दिया जाएगा, जिससे लाभार्थी अपने ट्रेड से संबंधित टूल किट को खरीद सकेगा।

5 प्रतिशत की दर पर बैंक देगा लोन

उन्होंने बताया कि टूलकिट प्राप्त कर रोजगार प्रारंभ करने वाले लाभार्थी को इच्छुक होने पर 1 लाख रुपए तक का 5% के सामान्य ब्याज पर बगैर किसी गारंटी के ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। साथी उन्होंने यह भी बताया कि यदि लाभार्थी के द्वारा प्रथम फेस में लोन की धनराशि को चुकाने पर पुनः इच्छुक होने पर 2 लख रुपए तक का लोन 5% सामान्य ब्याज पर बगैर किसी गारंटी के उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना का लाभ उठाने के लिए पात्र इच्छुक लाभार्थी किसी भी जन सेवा केंद्र के माध्यम से वेबसाइट pmvishkarma.gov.in पर अपना ऑनलाइन आवेदन आगामी 15 सितंबर तक कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि अभ्यर्थियों का सत्यापन त्रिस्तरीय जनपद स्तर पर जिलाधिकारी द्वारा गठित चयन समिति के माध्यम से किया जाएगा। जिलाधिकारी ने बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त उद्योग सदस्य संयोजक जिला क्रियान्वयन समिति प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना गौतम बुद्ध नगर अनिल कुमार को निर्देश देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना को लेकर जनपद का जो लक्ष्य निर्धारित किया गया है, उसी के अनुरूप अपनी कार्य योजना तैयार करते हुए संबंधित विभागों के साथ समन्वय स्थापित कर लाभार्थियों का लक्ष्य के अनुरूप पंजीकरण कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए की इस योजना में पंचायती राज विभाग, नगर विकास विभाग, समाज कल्याण विभाग, कौशल विकास विभाग, आईटी एवं इलेक्ट्रानिक्स विभाग तथा जनपद के विकासखंडो तथा तहसीलों एवं ग्राम सचिव व अन्य विभागों के माध्यम से प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना का जनपद में व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार सुनिश्चित कराया जाए, ताकि प्रत्येक पात्र व्यक्ति तक योजना का लाभ पहुंच सके। जिलाधिकारी ने कहा कि प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना में निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप पंजीकरण कराने के उद्देश्य से जनपद में जन सुविधा केंद्र के माध्यम से शिविर लगाकर प्रत्येक पात्र व्यक्ति का पंजीकरण कराना सुनिश्चित किया जाए एवं प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना में जनपद के माननीय जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग लिया जाए। इस महत्वपूर्ण बैठक में मुख्य विकास अधिकारी जनार्दन सिंह, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व अतुल कुमार, जिला समाज कल्याण अधिकारी शैलेंद्र बहादुर सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी कुंवर सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ऐश्वर्या लक्ष्मी, नगर पालिका व नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी, कौशल विकास विभाग से जिला कार्यक्रम प्रबंधक पूनम सिंह तथा अन्य संबंधित विभाग अधिकारी गण उपस्थित रहे।

 13,317 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.