नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नोएडा में 30.97 करोड़ की 30 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास, राज्यसभा सांसद सुरेंदर नागर, विधायक पंकज सिंह व सीईओ नोएडा हुए शामिल

1 min read

नोएडा, 23 दिसम्बर।

नौएडा प्राधिकरण की कुल रु0 30.97 करोड़ की 30 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर, विधायक पंकज सिंह व नोएडा की सीईओ रितु माहेश्वरी की मौजूदगी में पंचशील बालक इंटर कॉलेज में सम्पन्न हुआ। इस दौरान झुग्गी-झोपड़ी पुनर्वास योजना के अन्तर्गत आवंटियों को कब्जा प्रमाण पत्र हस्तान्तरित किये गये। कार्यक्रम में प्राधिकरण के दोनों ए.सी.ई.ओ. श्रीमती नेहा शर्मा एवं श्री प्रवीण मिश्र एवं अन्य अधिकारीगण भी उपस्थित रहे।

कार्यक्रम में रु0 22.62 करोड़ की 22 परियोजनायें लोकार्पित की गई तथा 8.35 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया। इसके अतिरिक्त झुग्गी-झोपड़ी पुनर्वास योजना के अन्तर्गत 114 भवनों के आवंटियों को भौतिक कब्जा हस्तान्तरण किया गया।

परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास के उपरान्त सभी गणमान्यों द्वारा सैक्टर-91 स्थित वेटलैण्ड में स्थापित Love Noida’ की सेल्फी स्पॉट का भ्रमण किया गया।

परियोजनाओं का विवरण निम्न प्रकार है

लोकार्पित परियोजनायें :

1. स्टार्ट अप- हब का निर्माण (रू0 2.61 करोड़)

नौएडा क्षेत्र की नई प्रतिभाओं को तथा उनके कौशल एवं हुनर को बढ़ावा देने एवं नए उद्योगों सृजन तथा उनकी स्थापना के दृष्टिगत नोएडा फेस-1 में पुराने कोर्ट कंपलेक्स के द्वितीय तल के पर लगभग 1193 वर्ग मीटर में स्टार्टअप हब विकसित किया गया है। इस स्टार्टअप हब को दो भागों में विकसित किया गया है- हॉल बी-1 तथा बी-2 हॉल बी-1 में कुल 5 केबिन कैफेटेरिया एवं सर्वर रूम निर्मित हैं। साथ ही वर्क स्टेशन हेतु लगभग 217 वर्ग मीटर का क्षेत्रफल ओपन सीटिंग एरिया के रूप में उपलब्ध है। हॉल बी-2 में 5 केबिन इलेक्ट्रिकल रूम एवं कॉन्फ्रेंस रूम निर्मित है तथा वर्क स्टेशन हेतु 215 वर्गमी० क्षेत्रफल ओपन सीटिंग एरिया के रूप में उपलब्ध है। दोनों हॉल्स के मध्य कॉमन पैसेज 3 मीटिंग रूम, वेटिंग एरिया तथा प्रवेश द्वार पर स्वागत कक्ष हेतु स्पेस उपलब्ध है। पुरुषों एवं महिलाओं के लिए अलग-अलग टॉयलेट का निर्माण किया गया है।

2. सैक्टर-43 में भूखण्ड सं०- जी. एच. – 01बी से एस. पी. एस. तक सीवर लाईन का शिफ्टिंग (रू0 5.92 करोड़)

ग्राम सदरपुर, छलेरा, बरौला तथा आगाहपुर एवं सैक्टर-46 47 48 45 42 43 44 के सीवरेज के निस्तारण हेतु एस.पी.एस.-43 में पूर्व में 1200एम. एम. व्यास की सीवर लाईन डाली गयी। थी, परन्तु भूखण्ड सं० जी.एच.-01बी के आवंटित हो जाने के कारण यह लाईन उक्त भूखण्ड के मध्य आने के कारण उक्त मुख्य गहरी सीवर लाईन को शिफ्ट किया जाना जनहित में आवश्यक था. जिसके दृष्टिगत इस सीवर लाईन को शिफ्ट करते हुए एस.पी.एस.-43 से कनेक्ट किया गया है, जिससे उक्त सैक्टरों एवं ग्रामों के सीवरेज का पूर्व की भांति सम्पूर्ण निस्तारण में सुविधा हुई है।

3. ग्राम रायपुर के सामुदायिक केन्द्र भवन में ओपन हॉल का निर्माण कार्य (रु0 25.44लाख)

ग्राम रायपुर के ग्रामवासियों की सुविधा हेतु रायपुर के सामुदायिक केन्द्र में एक ओपन हॉल / बरामदा का निर्माण कराया गया है, जिससे बरसात, आंधी तूफान आदि के समय में सामुदायिक केन्द्र में होने वाले समारोह में खाने पीने की व्यवस्था प्रभावित न हो।

4. ऑपरेशन कॉयाकल्प के अन्तर्गत विभिन्न परिषदीय विद्यालयों में विकास कार्य (रु0 14.04 लाख)

ऑपरेशन कायाकल्प के अन्तर्गत नौएडा के 05 प्राथमिक विद्यालय एवं 03 उच्च प्राथमिक विद्यालयों में मूलभूत अवस्थापना सुविधाओं से संतृप्त करने हेतु विभिन्न मलूभूत कार्य कराये गये हैं, जिनमें क्लासरूम का अनुरक्षण, रंगाई-पुताई, पेयजल व्यवस्था, शौचालयों का अनुरक्षण, शिक्षण सहायक सामग्री, फर्स्ट एड बॉक्स आदि का कार्य कराया गया है।

5. 3 सैक्टरों में फाउन्टेन की स्थापना (रु068.33 लाख)

नौएडा शहर को सुन्दर एवं और अधिक आकर्षक बनाने के दृष्टिगत 3 सैक्टरों के चार स्थलों पर यथा-सैक्टर-27 में ए व ई-ब्लॉक, सैक्टर-99 ग्रीन व्यू अपार्टमेन्ट एवं सैक्टर-100 पाथ-वे स्कूल के पीछे सेन्ट्रल पार्क में फाउन्टेन का निर्माण कराया गया है। उक्त फव्वारों में विभिन्न रंगों की लाईटों का प्रावधान किया गया है जिससे उक्त फव्वारा रात्रि के समय ओर अधिक आकर्षक लगता है। उक्त फाउन्टेन्स की लागत क्रमशः रु० 32.42 लाख रु0 17.90 लाख एवं रु० 14.04 लाख अर्थात कुल रु० 68.33 लाख आई है।

6. 8 स्थानों पर ‘I Love Noida’ सेल्फी प्वॉईंट की स्थापना

नौएडावासियों को आकर्षक सेल्फी प्वॉईंट उपलब्ध कराने एवं सौन्दर्यीकरण के के दृष्टिगत नौएडा प्राधिकरण द्वारा नौएडा के 8 स्थानों पर ‘I Love Noida’ स्लोगन की सेल्फी प्वॉइंट की स्थापना की गई है। ये सेल्फी प्वॉईंट, सैक्टर-6 (इन्दिरा गांधी कला केन्द्र), सैक्टर-39-40 टी-प्वॉईट, सैक्टर-63 मैट्रो स्टेशन, सैक्टर-61 साई मन्दिर, सैक्टर-51-52, 71-72 अण्डरपास, सैक्टर-90 गोलचक्कर आदि स्थलों पर स्थित हैं।

7. ग्राम अटटा में शौचालय का पुनर्निर्माण एवं भूखण्ड की चारदीवारी का निर्माण कार्य (रू0 40.55 लाख)

ग्राम-अट्टा के निवासियों द्वारा ग्राम में पूर्व निर्मित जीर्ण-शीर्ण शौचालय के स्थान पर नवीन शौचालय एवं भूखण्ड की चारदीवारी का निर्माण हेतु अनुरोध किया जा गया था। उक्त मांग के दृष्टिगत तथा स्वच्छ भारत मिशन की मंशा के अनुरूप नौएडा शहर को खुले में शौच मुक्त रखने के दृष्टिगत ग्राम अट्टा में शौचालय का निर्माण महिला / पुरुष दोनों के प्रयोग हेतु किया गया है।

8. सैक्टर-16ए में फुटपाथ, लैण्डस्कैपिंग, सीटिंग एरिया आदि का निर्माण कार्य (रु0 3.33 करोड़)

सैक्टर-16ए में पार्किंग के उपयोग को और अधिक सुविधाजनक बनाने के दृष्टिगत स्टोन क्लैडिंग, वाटर प्रूफिंग, फुटपाथ, फॉल सीलिंग एवं ग्लेजिंग आदि का निर्माण कार्य कराया गया है। इसके अतिरिक्त पार्किंग के सौन्दर्यीकरण तथा हरित वातावरण प्रदान करने के दृष्टिगत पार्किंग के ऊपर लैण्डस्कैपिंग एवं परिसर में बैठने हेतु सीटिंग ऐरिये का निर्माण भी कराया गया है।

9. डी०एस०सी० रोड पर सिंचाई नाले से हिन्डन पुस्ता तक फुटपाथ नवीनीकरण का कार्य (रू0 89.77 लाख)

डी.एस.सी. मार्ग नौएडा का एक अति महत्वपूर्ण मुख्य मार्ग है। सिंचाई नाले से हिन्डन पुस्ता तक इस मार्ग की लम्बाई लगभग 4.00 किमी0 है। इस मार्ग के साथ साथ निर्मित फुटपाथ जगह-जगह पर क्षतिग्रस्त हो गया था। मार्ग के मध्य में बनी सेन्ट्रल वर्ज भी गाड़ियों के धूएं आदि से धूमिल हो गयी थी, जिसके कारण इस सड़क के सौन्दर्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा था। अतः सड़क के सौन्दर्यीकरण के दृष्टिगत इस सड़क के फुटपाथ, यू-टर्न, चौराहों-तिराहों पर बने ट्राईपोड को सुदृढ करते हुए पूरे फुटपाथ का नवीनीकरण कराया गया है।

10. सैक्टर-112 में ग्रीन बेल्ट की अवशेष चारदिवारी का निर्माण (रु0 1.59 करोड़)

सैक्टर-112 में मास्टर ग्रीन बेल्ट का विकास कार्य प्रस्तावित था। ग्रीन बेल्ट के विकास कार्य के अन्तर्गत लगाये जाने वाले पेड़-पौधों की सुरक्षा के दृष्टिगत जी०आई० चैन लिंक द्वारा चारदीवारी का निर्माण कार्य पूर्ण किया गया है।

11. सैक्टर-73,74,75,76,77 78 व 122 में नाली के उच्चीकरण का कार्य (रु0 1.30 करोड़)

सैक्टर-73, 74 75 76 77 78 एवं 122 में सड़क की पटरी की तरफ नालियों की दीवार नीची होने के कारण कचरा-मलवा इत्यादि नालियों में चला जाता था, जिसके दृश्टिगत सड़क की तरफ की नाली की दीवार की मरम्मत करते हुए दीवार को ऊँचा करा दिया गया है।

12. सैक्टर- 77 में ग्रीन बेल्ट की चारदिवारी का निर्माण (रु0 1.26 करोड़)

सैक्टर-77 में मास्टर ग्रीन बेल्ट का विकास कार्य प्रस्तावित था। ग्रीन बेल्ट के विकास कार्य के अन्तर्गत लगाये जाने वाले पेड़-पौधों की सुरक्षा के दृष्टिगत जी०आई० चैन लिंक द्वारा चारदीवारी का निर्माण कार्य पूर्ण किया गया है।

13. ग्राम सर्फाबाद में सी०सी० रोड, नाली का निर्माण व जाल लगाने का कार्य (रु0 1.09 करोड़)

ग्राम सर्फाबाद में ए स्कायर मॉल से मुंशी के मकान तक एवं रामबीर, छोटेलाल वाली गली में नाली व सड़क टूटी होने के कारण जल भराव की स्थिति रहती थी, जिससे ग्रामीणों के आवागमन में अत्याधिक परेशानी का सामना करना पड़ता था । इन गलियों सी०सी० रोड व नाली की मरम्मत का कार्य पूर्ण किये जाने से जन सामान्य के आवागमन की समस्या का निदान हो गया है।

14. ग्राम पर्थला खंजरपुर की विभिन्न गलियों में सड़क, नाली की मरम्मत / निर्माण एवं स्टील जाल लगाने का कार्य (रु0 81.76 लाख )

ग्राम पर्थला खंजरपुर की विभिन्न गलियों में सड़क टूटी होने के कारण जल भराव की स्थिति रहती थी, जिससे ग्रामीणों के आवागमन में अत्याधिक परेशानी का सामना करना पड़ता था। इन गलियों सी०सी० रोड़ व नाली की मरम्मत का कार्य पूर्ण किये जाने से जन सामान्य के आवागमन की समस्या का निदान हो गया है।

15. ग्राम सोरखा जाहिदाबाद में सी०सी० पेवमेन्ट, नाली का निर्माण एवं बोर्ड लगाने का कार्य (रू0 64.79 लाख)

ग्राम सोरखा जाहिदाबाद में शिव मन्दिर से ओमवीर के मकान तक एवं बाल्मिकी वाली गली में नाली व सड़क टूटी होने के कारण जल भराव की स्थिति रहती थी, जिससे ग्रामीणों के आवागमन में अत्याधिक परेशानी का सामना करना पड़ता था। इन गलियों सी०सी० रोड़ व नाली की मरम्मत का कार्य पूर्ण किये जाने से जन सामान्य के आवागमन की समस्या का निदान हो गया है।

16. फेस- ।। में भूखण्ड संख्या बी-200 से बी – 207ए, एवं बी-193ए से बी-186 तक फुटपाथ नवीनीकरण का कार्य (रु062.20 लाख)

फेस ।। में संख्या बी 202 से बी 207ए तक तथा बी 208 से बी 210बी तक की 45.00मी0 चौड़ी सड़क का क्षेत्र स्वू स्लपदह हाने के कारण इस क्षेत्र में प्रायः वर्षा ऋतु में जल भराव हो जाता था, जिसके कारण सडक बार बार क्षतिग्रस्त हो जाती थी, जिसके सड़क के इस भाग को सीमेन्ट कंक्रीट से ऊँचा कर दिया गया था तथा सड़क के ऊँचा होने के कारण फुटपाथ का लेवल सडक की सतह के बराबर हो गया था। अतः उक्त क्षेत्र के उद्यमियों के अनुरोध एवं जनमानस के हित के दृष्टिगत सडक के इस भाग में फुटफाथ का नवनिर्माण कराया गया है। इसके अतिरिक्त विभिन्न स्थानों पर निर्मित फुटपाथ का नवीनीकरण कराया गया है, जिससे पैदल यात्रियों को सुविधा हो रहा है।

17. सेक्टर-83 में पार्क, वाणिज्यिक एवं फैसिलिटी भूखण्डों के सामने इन्टरलॉकिंग टाईल लगाने का कार्य (रु0 59.46 लाख)

सैक्टर-83 में पार्को, वाणिज्यिक एवं फैसिलिटी भूखण्डों के सामने कच्ची फटरी फर इन्टरलॉकिंग टाईल लगाने हेतु नौएडा इन्डस्ट्रीज वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा अनुरोध किया गया था। मांग के अनुसार स्थल कच्चा होने के कारण उक्त स्थलों पर झाडियां उग जाती थी जिसमें अज्ञात व्यक्तियों द्वारा देर-सबेर कूडा मलबा आदि डाल दिया जाता था, जिससे सड़क पर गन्दगी रहती थी। अतः मांग एवं आवश्यकता को दृष्टिगत रखते हुए उक्त स्थलों पर इन्टरलॉकिंग टाईल लगाकर उक्त स्थलों को सौन्दर्यीकृत किया गया है।

18. सैक्टर-37, अम्बेडकर विहार में सामुदायिक केन्द्र में फिनिशिंग एवं मरम्मत कार्य (रु0 28.18 लाख)

अम्बेडकर विहार के निवासियों द्वारा काफी समय से सामुदायिक केन्द्र के नवीनीकरण हेतु अनुरोध किया जा रहा था, जिसके कम में अम्बेडकर विहार, सैक्टर-137 में निर्मित सामुदायिक केन्द्र का फिनिशिंग एवं मरम्मत का कार्य सम्पादित कराया गया है। उक्त परिसर में शीघ्र ही ग्रामवासियों हेतु पुस्तकालय भी प्रारम्भ होने जा रहा है।

19. सैक्टर-126 में 30.00मी0 चौड़ी सड़क की फुटपाथ एवं नाली के निर्माण कार्य (रुo 18.62 लाख)

सैक्टर-126 में संस्थागत इकाईयों की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए 30.00 मीटर चौडी सड़क के साथ बरसात के पानी की निकासी हेतु नाली का निर्माण तथा पैदल यात्रियों हेतु सडक के साथ फुटपाथ का निर्माण कार्य कराया गया है।

शिलान्यास की गई परियोजनायें :

1. सैक्टर-8 में नाली व पुलिया का उच्चीकरण कार्य (रु0 2.10 करोड़)

औद्योगिक सैक्टर-8 में विभिन्न प्रकार की औद्योगिक इकाईयां संचालित है। इस सैक्टर में पूर्व निर्मित नाली एवं पुलिया काफी क्षतिग्रस्त अवस्था में हैं, जिससे वर्षाऋतु में जल भराव की समस्या उत्पन्न हो जाती है, जिस हेतु नाली एवं पुलियों के सुदृढीकरण एवं अपग्रेडेशन का कार्य कराया जाना प्रस्तावित है। सैक्टर में जगह-जगह पर इन्टरलॉकिंग टाईल्स भी क्षतिग्रस्त हो गई हैं एवं रि-सर्फेसिंग का कार्य कराने के पश्चात् सडक की पटरी काफी नीची हो गई है, जिससे जनमानस को आवागमन में असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। उक्त कार्य के अन्तर्गत टाईलों की मरम्मत का कार्य भी कराया जाना प्रस्तावित है।

2. ग्राम नयागांव में अवशेष सी०सी० रोड एवं नाली का अनुरक्षण कार्य (रु0 1.27 करोड़)

ग्राम नयागांव में निर्मित सड़कें एवं नालियाँ जोकि अत्याधिक क्षतिग्रस्त स्थिति में है, उनकी मरम्मत किये जाने हेतु ग्रामवासियों अनुरोध किया गया। स्थल निरीक्षण के दौरान ग्रामवासियों की सुविधा एवं कार्यस्थल की तात्कालिक आवश्यकता के दृष्टिगत प्रस्तावित कार्य कराया जाना अति आवश्यक है। इस कार्य को कराये जाने से ग्रामवासियों को आवागमन सुविधा होगी एवं ग्राम की आन्तरिक गलियों में यातायात व्यवस्था भी सुदृढ बनेगी।

3. ग्राम- मामूरा में क्षतिग्रस्त सी०सी०रोड व नालियों की मरम्मत एवं सी०सी० पेवमेंट का कार्य (रू0 1.27. करोड़)

ग्राम मामूरा की विभिन्न गलियों में सड़क एवं नालियों क्षतिग्रस्त है, जिसके कारण ग्रामवासियों को असुविधा होती है। ग्रामवासियों द्वारा क्षतिग्रस्त सड़क व नालियों की मरम्मत कार्य कराने हेतु अनुरोध किया गया है। ग्रामवासियों की सुविधा के दृष्टिगत ग्राम मामूरा में सड़क व नालियों की मरम्मत का कार्य कराया जाना आवश्यक है।

4. सैक्टर-140ए की आन्तरिक सड़कों पर सुदृढीकरण का कार्य (रु0 1.27 करोड़ )

सैक्टर 140ए नौएडा के महत्वपूर्ण औद्योगिक सैक्टरों में से एक है, जिसमें विभिन्न औद्योगिक इकाई कार्यशील तथा निर्माणाधीन है, जिसके कारण कारण सैक्टर के मार्गों पर यातायात का घनत्व काफी अधिक रहता है। भारी वाहनों के अत्यधिक आवागमन के कारण सैक्टर की आन्तरिक सड़कें काफी क्षतिग्रस्त हो गयी है जिसके कारण निर्माणाधीन इकाईयों को निर्माण सामग्री एवं अन्य मैटेरियल स्थल तक ले जाने में काफी कठनाई झेलनी पड़ती है। अतः उद्यमियों एवं सैक्टर में स्थित इकाईयों में कार्यरत कर्मियों की सुविधा हेतु तथा उद्योगों को बढ़ावा देने के दृष्टिगत उक्त सैक्टर की सड़कों का सुदृढीकरण किया जाना अत्यावश्यक है। अतः उक्त के दृ ष्टिगत सैक्टर-140ए की आन्तरिक सडकों फर सुदृढीकरण का कार्य प्रस्तावित किया गया।

5. सैक्टर-63 में ई-189 एवं एफ-352 तक पार्किंग क्षेत्र में सुधार कार्य (रु0 85.72 लाख)

सैक्टर-63 नौएडा का महत्वपूर्ण औद्योगिक सैक्टर है, जिसमें विभिन्न प्रतिष्ठित संस्थाओं के कार्यालय एवं कारखाने स्थित हैं। इन इकाईयों में कार्यरत कमियों के वाहनों की पार्किंग की सुविधा उपलब्ध कराने के दृष्टिगत सैक्टर-63 में भूखण्ड संख्या ई-189 एवं एफ-352 के साथ निर्मित नियोजित पार्किंग का सुधार कार्य किया जायेगा ताकि उद्यमियों एवं औद्यागिक इकाईयों में काम करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों को वाहनों की सुरक्षित पार्किंग की सुविधा प्राप्त हो सके।

6. गिझोड़ मार्ग पर (एम0पी0-2 से सैक्टर-52 के प्रवेश द्वार तक) ग्राम गिझोड की तरफ आर०सी०सी० ड्रेन का निर्माण कार्य (रु0 85.54 लाख)

गिझोड़ मार्ग पर (ग्राम-गिझोड़ की तरफ) नाला क्षतिग्रस्त है, जिसके कारण पानी की निकासी में बाधा उत्पन्न होती है। सफाईगिरी कार्यक्रम में स्थल भ्रमण के दौरान ग्रामवासियों द्वारा क्षतिग्रस्त मुख्य नाले को आर०सी०सी० से बनाने की मांग की गई। निवासियों की सुविधा के दृष्टिगत बरसाती पानी की निकासी हेतु गिझोड़ मार्ग फर एम0पी0-2 मार्ग से सैक्टर-52 के प्रवेश द्वार तक गिझोड़ की तरफ आर०सी०सी० ड्रैन का निर्माण कराया जाना प्रस्तावित है।

7. सैक्टर-70 व 71 के मध्य 30 मीटर चौड़ी सडक पर आर०सी०सी० सेन्ट्रल वर्ज का कार्य (रु0 74.45) लाख )

सैक्टर- 70 व 71 के मध्य 30.00 मीटर चौड़ी सड़क पर आर०सी०सी० सेन्ट्रल वर्ज के निर्माण कार्य हेतु सेक्टर के निवासियों द्वारा मांग की गयी है। उक्त मार्ग फर कर्व-स्टोन से निर्मित सेन्ट्रल वर्तमान में क्षतिग्रस्त है, जिसके कारण निवासियों को असुविधा उत्पन्न होती है। अतः यातायात के सुगम आवागमन एवं निवासियों की सुविधा के दृष्टिगत सैक्टर-70 व 71 के मध्य सड़क पर सेन्ट्रल वर्ज का निर्माण कार्य कराया जाना आवश्यक है।

8. सैक्टर-76 में यूरिनल ब्लॉक का निर्माण (रु0 1.27 करोड़)

सैक्टर-76 में पार्क के आस-पास चार वेन्डिंग जोन है, जिसमें बड़ी संख्या में लोगों का आवागमन रहता है तथा स्थानीय निवासियों द्वारा यूरीनल के निर्माण की मांग व आवश्यकता के दृष्टिगत पार्क के सामने यूरीनल ब्लॉक का निर्माण कार्य प्रारम्भ कराया गया है।

झुग्गी-झोपड़ी पुनर्वास योजना के अन्तर्गत आवंटियों को भवनों का भौतिक हस्तांतरण

• सैक्टर-122, नौएडा में झुग्गी-झोपड़ी पुर्नवास योजना के अन्तर्गत वर्ष 2015 में 3568 नग भवनों ( 3458 नग दो कमरों के एवं 110 नग एक कमरों के) का निर्माण कार्य रू0 208.49 करोड़ की लागत से पूर्ण किया गया है।

● वर्ष 2020 तक 299 भवनों का आवंटन किया गया है, जिनमें से कुल 222 भवनों के आवंटियों द्वारा वर्क सर्किल-6 से भौतिक कब्जा लिया गया है। विगत कई वर्षों में भवनों का आवंटन / हस्तान्तरण न होने के कारण मौके पर सभी भवन बन्द रहने से उनकी स्थिति अत्यन्त खराब हो रही है।

● वर्तमान में मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदया द्वारा झुग्गी-झोपड़ी पुनर्वास योजना हेतु चलाये गये • विशेष अभियान के अन्तर्गत विभिन्न सैक्टरों की झुग्गियों में निवासित परिवारों को अभियान के तहत झुग्गियों खाली कराते हुए सैक्टर-122 में निर्मित भवनों का आवंटन किया जा रहा है।

• वर्तमान में 525 भवनों की मरम्मत का कार्य पूर्ण कराते हुए 114 भवनों का भौतिक कब्जा हस्तान्तरण दिया जा रहा है।

जनहित में किये गये महत्वपूर्ण कार्यों / परियोजनाओं का विवरण (19,125 करोड़)

कार्यक्रम के दौरान माननीय जनप्रतिनिधियों द्वारा अपने अभिभाषण में नौएडा प्राधिकरण द्वारा किये गये विकास कार्यों के सम्बन्ध में अवगत कराया गया। गौरतलब है कि नौएडा वर्ष 2017 से अब तक कुल 14607 करोड़ के कार्य पूर्ण कराये जा चुके हैं, जिनमें रु. 8467 करोड़ की मैट्रो परियोजनायें जैसे- नौएडा-ग्रेटर नौएडा एक्वा लाइन मेट्रो, बॉटेनिकल गार्डन-कालिंदी कुंज मेट्रो, सैक्टर-32 से सैक्टर-62 ब्लूलाइन ऐक्सटेंशन मेट्रो परियोजना का निर्माण कराया गया है। कुल रु० 3062 करोड़ के अन्य महत्वपूर्ण विकास परियोजनाओं का लोकार्पण कराया गया है, जिसमें मुख्यतः 6 स्थानों यथा-सैक्टर-1, 3, 5, 16ए, 18, 38ए पर मल्टीलेवल कार पार्किंग का निर्माण, जिला चिकित्सालय / कोविड हॉस्पिटल, सेक्टर-39 का निर्माण, 3 स्थानों यथा- एन.टी.पी.सी. क्रॉसिंग, सैक्टर-94, 95 तिराहे पर एवं सैक्टर-60, 61 क्रॉसिंग पर अण्डरपास का निर्माण, शिल्पहाट, इन्डोर स्टेडियम, शूटिंग रेंज, सैक्टर-38ए एवं 148 में निर्मित विद्युत उपकेन्द्र, 2 स्थलों पर लाईट एण्ड साउण्ड शो, विभिन्न पार्कों का निर्माण- शहीद भगत सिंह पार्क, बायोडायवर्सिटी पार्क, औषधी पार्क, कमान्ड कन्ट्रोल सेन्टर व ट्रैफिक पार्क (पुलिस आयुक्त कार्यालय) का निर्माण, एल०ई०डी० स्ट्रीट लाईटों की स्थापना आदि सम्मिलित हैं। इसके अतिरिक्त रु. 3078 करोड़ की लागत से सड़क निर्माण, नाली निर्माण, पथ-प्रकाश, विद्युतीकरण, जल / सीवर उद्यानीकरण, साफ-सफाई एवं यातायात सम्बन्धी कुल 5887 नग कार्य पूर्ण कराये गये हैं। माननीय जनप्रतिनिधयों द्वारा यह भी उल्लेख किया गया कि अब तक नौएडा क्षेत्र में अब तक 1.05 लाख एल०ई०डी० लाईटें लगाई गई हैं, जिसमें से शहरी क्षेत्र में 85,000 नग तथा ग्रामीण क्षेत्र में 20,000 नग एल0ई०डी० लाईटें स्थापित की गई हैं।

साथ ही वर्तमान में रु. 3393 करोड़ की लागत की विभिन्न महत्वपूर्ण परियोजनायें प्रगतिरत है, जिनमें सैक्टर-82 सिटी बस टर्मिनल का निर्माण, एक्सप्रेस-वे की रिसर्फेसिंग, कोण्डली अण्डरपास का निर्माण, गौवंश आश्रय स्थल, दो नये एस.टी.पी. 50 क्यूसेक गंगाजल परियोजना, दो अण्डरपासों का निर्माण, आई.टी.एम.एस. परियोजना, दो एलिवेटेड रोड एवं एक फ्लाईओवर का निर्माण, हैबिटेट सेन्टर, गोल्फ कोर्स, प्रवेश द्वार आदि का निर्माण आदि सम्मिलित हैं, जो कि शीघ्र ही पूर्ण कर जनमानस को समर्पित की जायेंगी।

उपरोक्त के अतिरिक्त रु. 1125 करोड़ की लागत से एक्वा लाइन एक्सटेंशन मेट्रो परियोजना का कार्य शीघ्र ही प्रारम्भ कराया जाना है।

इस प्रकार पूर्ण किये गये प्रगतिरत प्रगतिरत आदि कार्यों की लागत रु0 19.125 करोड़ की जनहितकारी परियोजनायें जनमानस को समर्पित की गई।

 4,447 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.