नोएडा खबर

खबर सच के साथ

गौतमबुद्धनगर : रंगदारी से अर्जित गैंगेस्टर योगेश डाबरा की डेढ़ करोड़ की सम्पत्ति का पुलिस प्रशासन ने किया अधिग्रहण

1 min read

गौतमबुद्धनगर, 16 जून।

पुलिस कमिश्नर गौतमबुद्धनगर श्रीमती लक्ष्मी सिंह के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश शासन द्वारा चिन्हित कुख्यात अपराधियों के विरुद्ध लगातार कड़ी कार्यवाही की जा रही है। इसी कड़ी में शुक्रवार को रंगदारी के पैसे से ग्रेटर नोएडा में बनी तीन मंजिला कोठी का अधिग्रहण पुलिस प्रशासन ने कर लिया। इसकी कीमत डेढ़ करोड़ बताई गई है।

पुलिस कमिश्नर लक्ष्मी सिंह के नेतृत्व में पुलिस कमिश्नरेट के पुलिस अधिकारियों द्वारा अपराधों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से अपराधियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है । 16 जून 2023 को पुलिस आयुक्त न्यायालय गौतमबुद्धनगर द्वारा 14(1) गैंगस्टर एक्ट की कार्यवाही के अंतर्गत थाना जारचा पुलिस द्वारा शासन से घोषित कुख्यात माफिया रणदीप भाटी गैंग के सक्रिय सदस्य योगेश डाबरा पुत्र श्यौराज सिंह निवासी ग्राम डाबरा थाना दादरी जो गैंग संख्या आई एस -298 का संक्रिय सदस्य है। योगेश डाबरा पर करीब 2 दर्जन से अधिक लूट, हत्या, डकैती और रंगदारी के अभियोग दर्ज है के विरूद्ध अब तक की सबसे बडी कार्यवाही की गई।मु0अ0सं0 1405 /2019 धारा 2/3 उ0प्र0 गिरोहबन्द एवं समाज विरोधी क्रियाकलाप (निवारण) अधिनियम-1986, चालानी थाना- दादरी गौतमबुद्धनगर की अचल सम्पत्ति थाना बीटा -2 स्थित सेक्टर बीटा 2 ब्लाक एच म0नं0 120 में 3 मंजिला मकान जिसकी अनुमानित कीमत करीब 01 करोड 50 लाख रूपये है,मुकदमा उपरोक्त मे अधिग्रहण किया गया। उक्त सम्पत्ति योगेश डाबरा द्वारा अवैध रूप से धन अर्जित कर अपने सगे भाई हरेन्द्र डाबरा के नाम पर की गयी थी।

अधिग्रहित सम्पत्ति का विवरण

थाना बीटा -2 स्थित सेक्टर बीटा 2 ब्लाक एच म0नं0 120 में 3 मंजिला मकान ।
अनुमानित कीमत करीब 01 करोड 50 लाख रूपये।

पुलिस कमिश्नर गौतमबुद्धनगर के निर्देशन में अपराधों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से अपराधियों के विरुद्ध आगे भी इसी प्रकार की कड़ी कार्यवाही निरंतर स्तर पर जारी रहेगी ।

 3,252 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.