नोएडा खबर

खबर सच के साथ

गौतमबुद्धनगर : पुलिस कमिश्नर लक्ष्मी सिंह की पहल, अपराध नियंत्रण को स्मार्ट पुलिसिंग की तैयारी

1 min read

गौतमबुद्धनगर, 28 जून।

मुख्यमंत्री उ0प्र0 श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा श्रावण मास कांवड़ यात्रा , बक़रीद व अन्य त्योहार की तैयारी व क़ानून व्यवस्था के संदर्भ में वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग आयोजित की गई।इसमें पुलिस आयुक्त गौतम बुद्ध नगर श्रीमती लक्ष्मी सिंह द्वारा स्मार्ट पुलिसिंग के लिए जियोस्पेशियल(Geospatial) डेटा इंटेलिजेंस प्लेटफ़ॉर्म, गौतमबुद्धनगर कमिश्नरेट
के संदर्भ में प्रस्तुतिकरण दिया गया है। यह प्लेटफार्म स्मार्ट पुलिसिंग व माइक्रोप्रिडिक्टिव पुलिसिंग के लिए बेहतर इंटरफ़ेस उपलब्ध कराएगा।

इस महत्वपूर्ण पहल से अपराधों को चिन्हित करने,संवेदनशील स्थानों को चिन्हित करने, महिला सम्बन्धी अपराधों पर प्रभावी अंकुश लगाने में मदद मिलेगी। स्मार्ट पुलिसिंग प्लेटफार्म में अपराध सम्बन्धी आंकडे ऐसे हॉट स्पॉट(hotspot) जो महिला सम्बन्धी अपराधों और चोरी के स्थानों, संभावित अपराध आदि को मैप के माध्यम से प्रदर्शित कर पायेगा। इसकी मुख्य विशेषता यह रहेगी कि आसानी से आपराधिक घटनाओं की निगरानी की जा सकेगी। अपराध के हॉट स्पॉट की पहचान,अपराध की फ्रिक्वेन्सी तथा ऐसे प्लेटफार्म को उजागर करेगा जिससे पुलिस को उन स्थानों पर आवश्यक संसाधन व निगरानी में वृद्धि की आवश्यकता है।

इस प्लेटफार्म से पूरे क्षेत्र में इकोनामिक, प्रोफाइलिंग(econoic profiling) की जा सकेगी, जिससे सम्भावित जोखिम कारको के बारे में विस्तृत जानकारी मिल सकेगी। आपराधिक घटनायें, हॉट स्पॉट व अन्य कारक आदि का सम्पूर्ण डेटा व्यापक मैप के माध्यम से प्रदर्शित होगा जो हमे वास्तविक स्थिति के समीप ले जायेगा। इसमें कई तरह की उपयोगी सुविधायें जैसे ब्रेसमैप(Basemap) जिनमे सडक के नाम स्थलों अन्य चिन्हित स्थानों की जानकारी व्यापक रूप से प्रदर्शित होगी। आंकडे विजेट(stats widget)जिसमें आपरधिक घटनाओं की संख्या, श्रेणियां व कई तरह के रूझानों के बारे में जानकारी तत्काल मिल जाया करेगी।

स्मार्ट पुलिसिंग पहल के तहत थाना स्तर पर एरिया स्पेसिफिक अपराध मैपिंग(Area Specific crime maping), पुलिस स्टेशनों का तुलनात्मक आंकडे जिसमें पुलिस का संख्याबल, वाहन संख्या, महिला पुलिस कर्मियों की संख्या घटित अपराध की संख्या आदि के बारे में जानकारी मिल सकेगी जिससे आवश्यकतानुसार थाना स्तर पर संसाधनों में वृद्धि करने में सहयोग मिलेगा।
स्मार्ट पुलिसिंग का मुख्य उद्देश्य प्रदेश की पुलिसिंग को अपडेट करते हुये वर्तमान में गठित अपराधों की प्रवृत्ति को पहचान कर पुलिस को भी अपडेट करना है जिससे अपराध नियंत्रण, सम्भावित अपराधों पर प्रभावी अंकुश लगाते हुये नागरिकों को सम्पूर्ण सुरक्षा प्रदान की जा सके।

 3,708 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.