नोएडा खबर

खबर सच के साथ

– हस्तशिल्प उत्पादों की हुई जबरदस्त खरीदारी, 75 हजार बी2बी एक्सपोर्ट ऑर्डर भी मिले

– पहले ही प्रयास में सफल हुआ सीएम योगी का यूपी के लघु उद्योगों को अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाने का संकल्प

– ग्रेटर नोएडा में यूपी इंटरनेशनल ट्रेड शो 2023 का हुआ समापन

– पांच दिवसीय इंटरनेशनल ट्रेड शो में पहुंचे तीन लाख से अधिक लोग

– यूपी के अलग अलग जिलों से 300 महिला उद्यमियों ने भी लिया हिस्सा

– इंटरनेशनल ट्रेड शो में 60 देशों के 500 बायर्स भी पहुंचे

ग्रेटर नोएडा, 25 सितंबर।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का प्रदेश के हस्तशिल्प और लघु उद्योगों को अंतरराष्ट्रीय फलक पर पहचान दिलाने का संकल्प यूपी इंटरनेशनल ट्रेड शो 2023 के जरिए पहले ही प्रयास में फलीभूत हो गया है। इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट में 21 से 25 सितंबर तक आयोजित हुए इंटरनेशनल ट्रेड शो का सोमवार को समापन हो गया। पांच दिन तक चले ट्रेड शो में तीन लाख से भी ज्यादा लोग खरीदारी के लिए पहुंचे। उपभोक्ताओं का सबसे ज्यादा फोकस प्रदेश के हस्तशिल्प, गारमेंट और इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादों को लेकर देखने को मिला। वहीं सबसे खास बात ये रही कि 75 हजार से ज्यादा बी2बी एक्सपोर्ट ऑर्डर भी एग्जीबिटर्स को प्राप्त हुए।

ट्रेड शो में 60 देशों के 500 विदेशी बायर्स ने लिया हिस्सा

ट्रेड शो में 200 से अधिक स्टॉल लगाए गए थे। इनमें उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जिलों से आई करीब 300 महिला उद्यमियों ने भी हिस्सा लिया। जिन महिलाओं ने उत्तर प्रदेश सरकार के उत्तर प्रदेश ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत अपना छोटा व्यापार स्थापित किया है, उन्हें भी यहां पर मौका दिया गया था। ट्रेड शो में 60 देशों के 500 विदेशी बायर्स ने हिस्सा लिया। इन्होंने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराया। आखिरी दिन उपस्थित अतिथियों में भारत सरकार के एमएसएमई मंत्रालय के केंद्रीय मंत्री नारायण राणे। एमएसएमई मंत्रालय के केंद्रीय राज्य मंत्री भानू प्रताप सिंह वर्मा, उत्तर प्रदेश सरकार के औधोगिक विकास और एक्सपोर्ट प्रमोशन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी व एमएसएमई और खादी वस्त्र के कैबिनेट मंत्री राकेश सचान मौजूद रहे।

अबतक का नंबर वन ट्रेड शो साबित हुआ : केंद्रीय मंत्री नारायण राणे

इस अवसर पर भारत सरकार के एमएसएमई मंत्रालय के केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने कहा कि उत्तर प्रदेश का वातावरण देख कर बहुत अधिक प्रसन्नता हो रही है। यह ट्रेड शो अभी तक का नंबर एक ट्रेड शो रहा है, जिसका श्रेय मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी को जाता है। उन्होंने कहा कि जिस तरह प्रदेश में हर क्षेत्र का विकास हो रहा है, वह जल्दी ही सर्वोत्तम प्रदेश बनेगा। 2030 तक हमारा देश को दुनिया की तीसरे नंबर की इकोनॉमी बनाने का लक्ष्य है, जिसे पूरा करने में उत्तर प्रदेश की सबसे बड़ी भूमिका होगी। उन्होंने कहा कि पहले उत्तर प्रदेश के लोग नौकरी के लिए दूसरे राज्यों में जाते थे, लेकिन प्रदेश में जिस तरह विकास हो रहा, उससे यह चीज साफ नजर आती कि अब यूपी के लोगों को अन्य राज्यों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी, क्योंकि यहां इंडस्ट्री के लिए बेहतरीन माहौल बन रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री विकास के हर मार्ग पर काम कर रहे हैं।

ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी बनने में मील का पत्थर साबित होगा ट्रेड शो : नंदी

इस अवसर पर उत्तर प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास और एक्सपोर्ट प्रमोशन मंत्री नंद गोपाल नंदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश सर्वोत्तम प्रदेश बनने के लिए अग्रसर है। इसी साल फरवरी में हुए यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में 17 देशों में रोड शो किए, इसका फायदा यह हुआ कि प्रदेश को 36 लाख करोड़ के निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए। उन्होंने कहा कि यह ट्रेड शो मुख्यमंत्री के सपने, प्रदेश को एक ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी बनाने में मील का पत्थर साबित होगा। नंदी ने कहा कि प्रदेश न केवल डोमेस्टिक और इंटरनेशनल एयरपोर्ट के मामले में तेजी से आगे बढ़ रहा है, इसी प्रकार एक्सप्रेस वे के मामले में भी देश के अन्य राज्यों से आगे है।

हर साल होगा आयोजन : राकेश सचान

एमएसएमई और खादी वस्त्र के कैबिनेट मंत्री राकेश सचान ने कहा कि यह ट्रेड शो प्रदेश में निवेश बढ़ाने के लिए मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि जिस तरह इस शो में उत्साह देखने को मिला है, उससे सरकार ने भी उत्साहित होकर हर साल इसका आयोजन किया जाएगा।

हर नये दिन के साथ बढ़ती गई भीड़

यूपी इंटरनेशनल ट्रेड शो 2023 के पहले दिन 21 सितंबर को अपेक्षाकृत कम भीड़ देखने को मिली, मगर इसके बाद हर नये दिन के साथ लोगों के आने का सिलसिला बढ़ता ही गया। दूसरे दिन 48000 लोग मेले में पहुंचे। वहीं तीसरे दिन मेले में आने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 70 हजार पहुंच गई। इसके बाद चौथे दिन 88 हजार से अधिक जबकि पांचवें और अंतिम दिन संख्या 90 हजार के पार पहुंच गई।

हस्तशिल्प उत्पाद रहे सबका आकर्षण

ट्रेड शो में लोगों की सबसे अधिक भीड़ हॉल नंबर 9, 10, 11, 12, 14 और 15 में हस्तशिल्प उत्पादों के स्टॉल पर रही। लोगों ने कपड़ों की भी जमकर खरीदारी की। प्रदर्शकों ने भी इसका लाभ उठाया और कपड़ों की बिक्री पर छूट भी दी। ट्रेड शो में उत्तर प्रदेश की सामाजिक, सांस्कृतिक विरासत के साथ ही खान-पान, वेश-भूषा, पर्यटन और प्रमुख उत्पादों की झलक देखने को मिली।

एग्जीबिटर्स ने सीएम योगी को बोला थैंक्यू

अपने हैंडलूम गारमेंट के साथ ट्रेड शो में पहुंची शैली ने बताया कि इंटरनेशनल ट्रेड शो के जरिए उन्हें अपने उत्पादों को प्रदर्शित करने का बहुत ही बढ़िया मंच मिला। सबसे अच्छी बात ये रही कि उन्हें इंटरनेशनल बायर्स भी बड़ी संख्या में मिले। वहीं गुलाबी मीनाकारी उद्योग से जुड़े नेशनल अवॉर्डी शिल्पकार तरुण कुमार सिंह ने बताया कि पहली बार इतने व्यवस्थित ढंग से उन्हें अपने उत्पादों को प्रदर्शित करने का मौका मिला है। उन्होंने बताया कि अच्छी सेलिंग होने के साथ ही साढ़े चार लाख के करीब ऑर्डर मिले हैं। वहीं आजगमढ़ से ब्लैक पॉटरी लेकर आए एग्जीबिटर विकास प्रजापति ने भी अच्छी खरीददारी और ऑर्डर मिलने की बात कही। इसके अलावा ट्रेड शो में पहुंची नई दिल्ली की अमीषा ने बताया कि यहां बहुत ही यूनिक आइटम देखने को मिल रहा है। अमीषा ने हर्बल प्रोडक्ट की खरीदारी की।

 17,999 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.