नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नई दिल्ली, 28 नवम्बर।

वैश्विक स्तर पर मानवाधिकारों के प्रति लोगों को जागरूक कर रही प्रसिद्ध सामाजिक संस्था इंटरनेशनल इक्विटेबल ह्यूमन राइट्स सोशल काउंसिल ने शनिवार को ह्यूमन राइट्स वर्कशॉप और इंडो-इंटरनेशनल आइकन अवार्ड्स 2023 का आयोजन किया।

नई दिल्ली के इंडिया इस्लामिक कल्चरल सेंटर में आयोजित इस भव्य आयोजन के तहत मानवाधिकारों के प्रति लोगों को जागरूक किया गया तथा उन्हें बेसिक जानकारी दी गई।
इंडिया इस्लामिक कल्चरल सेंटर के सभागार में इंटरनेशनल इकवेटेबल ह्यूमन राइट्स सोशल कौंसिल द्वारा इंडो-इंटरनेशनल आइकॉन अवार्ड: 2023 एवं ह्यूमन राइट्स वर्कशॉप का आयोजन किया गया जिसके मुख्य अतिथि मारवाह ग्रुप के प्रमुख संदीप मारवाह थे। शहजाद मुहम्मद खान पूर्व राष्ट्रपति एपीजे कलाम सहाब के प्रेस सेक्रेटरी, भाजपा अल्पसंख्यक के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और केंद्रीय वक्फ परिषद और अखिल भारतीय हज समिति (भारत सरकार) के पूर्व सदस्य, पद्मश्री सरदार जितेंद्र सिंह शंटी। भारत के सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ वकील डॉ.रोमेश गौतम, प्रसिद्ध पत्रकार और मानवाधिकार कार्यकर्ता प्रोफेसर नीलम महाजन सिंह और अन्य ने विशेष अतिथि के रूप में भाग लिया।

राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय सिन्हा ने अपने स्वागत भाषण में सभी अतिथियों का स्वागत किया तथा संस्था द्वारा किये जा रहे सामाजिक एवं कल्याणकारी कार्यों से अपना परिचय दिया। श्री संजय सिन्हा ने घोषणा की कि हाजी इरफान अहमद साहब की राजनीतिक एवं सामाजिक सेवाओं को देखते हुए उन्हें संस्था के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में दायित्व दिया गया है।
इस दौरान राष्ट्रीय सहारा दैनिक समूह के संपादक अब्दुल माजिद निज़ामी, कुमार विशु जी (धार्मिक गायक), वरिष्ठ पत्रकार निदा अहमद, पसमांदा मुस्लिम समाज उत्थान समिति संघ के अध्यक्ष एहसान अब्बासी, भारत भारती से जगन्नाथ जी, अमित गुप्ता, बिट्टू साजिद खान, पवन वर्मा, शुभद्रा गायकवाड़, रुखसाना शेख, प्रीति गुप्ता, सूफ़ी गायक समीर खान नियाजी, राजेश कुमार, गुफरान आफ़रीदी और अन्य को इंडो इंटरनेशनल आइकन अवार्ड: 2023 से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की एंकरिंग निधि सिंह और एतवा शर्मा ने संयुक्त रूप से की।
इस अवसर पर बोलते हुए मुहम्मद इरफान अहमद ने कार्यक्रम के आयोजकों विशेषकर संजय सिन्हा को बधाई दी और शुभकामनाएं व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रमों की बहुत जरूरत है और भारत के विभिन्न स्थानों पर इससे संबंधित कार्यक्रम आयोजित किए जाने चाहिए. ऐसा होना चाहिए ताकि लोग अपने अधिकारों से लैस हों और वे अपना अधिकार ले सकें, जो उनका मूल अधिकार भी है। शंटी जी और संदीप मारवाह जी ने भी कार्यक्रम की सराहना की और सभी पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी, जबकि एस.एम. खान सहाब ने मानवाधिकार पर बात की और अंत में संस्था के अध्यक्ष संजय सिन्हा ने धन्यवाद ज्ञापित दिया।

 28,259 total views,  2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.