नोएडा खबर

खबर सच के साथ

सीईओ नोएडा ने सेक्टर 51-52 मेट्रो स्टेशन के आसपास किया निरीक्षण, खामियां देख रह गए दंग

1 min read

नोएडा, 28 दिसम्बर।

नोएडा प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ लोकेश एम ने गुरुवार को सेक्टर 51-52 मेट्रो स्टेशन के आसपास का निरीक्षण किया। वहां पर कई जगह व्यवस्था में खामियां मिली जिस पर प्राधिकरण के सीईओ ने अधिकारियों को दंडित किया और कई जगह फटकार भी लगाई। हीरा स्वीट्स पर 5 लाख की पैनल्टी भी लगाई। होशियारपुर में मेन रोड पर अवैध टैक्सी स्टैंड भी मिले।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी, नौएडा द्वारा सैक्टर 51-52 मैट्रो स्टेशन फुट ओवर ब्रिज तथा उसके आसपास के क्षेत्र का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान क्षेत्र में कुछ कमियाँ पायी गयी।

1. एन०एम०आर०सी० सैक्टर-51 मेट्रो स्टेशन (एक्वा लाईन) से डी०एम०आर०सी० सैक्टर-52 मेट्रो स्टेशन (ब्लू लाईन) के मध्य फुटओवर ब्रिज / स्कॉईवॉक के निर्माण कार्य ( जिसके सिविल कार्य की लागत रु0 10.54 करोड़ है,) का निरीक्षण किया गया। वरिष्ठ प्रबन्धक, वि० / यां० द्वारा अवगत कराया गया कि एस्कलेटर एवं ट्रेवलेटर लगाने का कार्य मार्च, 2023 के अंत तक पूर्ण कर लिया जायेगा। मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा कार्य की धीमी प्रगति पर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए एस्कलेटर एवं ट्रेवलेटर लगाने का कार्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये गये।

वरिष्ठ प्रबन्धक, वर्क सर्किल-3 द्वारा अवगत कराया गया कि एस्कलेटर एवं ट्रेवलेटर लगाने के उपरांत सिविल कार्य एक से डेढ़ माह में पूर्ण हो जायेगा। मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा कार्य को गति प्रदान करते हुए यथाशीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिये गये। निरीक्षण के समय सैक्टर-51 मेट्रो स्टेशन के नीचे सीवर ओवरफ्लो पर मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदय द्वारा कड़ी नाराजगी व्यक्त की गई। उक्त स्थल का उपमहाप्रबन्धक (जल) द्वारा तत्काल आज  28.12.2023 को जलखण्ड-तृतीय के वरि० प्रबन्धक के साथ संयुक्त निरीक्षण किया गया। स्थल पर पाया गया कि सीवर लाईन के अन्दर वैस्ट मेटेरियल का काफी भाग मैनहोल के अन्दर उपलब्ध होने के कारण मुख्य मार्ग पर सीवर ओवरफ्लो की शिकायत लगातार प्राप्त हो रही है। उपरोक्त प्रकरण में स्थल पर कार्य की संवेदनशीलता के दृष्टिगत शिथिलता प्रतीत हो रही है। इस समस्या का तत्काल निराकरण करने हेतु सम्बन्धित वरि० प्रबन्धक जलखण्ड-तृतीय को स्थल पर समुचित दिशा निर्देश दिये गये है। इस सीवर ओवरफ्लो निस्तारण में हुयी लापरवाही के दृश्टिगत इस क्षेत्र में तैनात सीवर कार्यों हेतु जलखण्ड-तृतीय के सम्बन्धित स्टाफ के विरूद्ध दण्डीय कार्यवाही निम्नानुसार अधिरोपित है :-

1. फील्ड सुपरवाईजर (संविदा) को 6 माह के लिए सेवा से वंचित

2. अवर अभियन्ता (संविदा), श्री विरेन्द्र सिंह को 3 माह हेतु सेवा से वंचित

3. प्रबंधक, श्री प्रभान्पू प्रसाद सिंह प्रतिकूल प्रवष्टि

4 वरि० प्रबन्धक, श्री कपिल सिंह, प्रतिकूल प्रवेष्टि

उक्त के अन्तर्गत खण्डीय आख्या व संस्तुति के क्रम में मैसर्स हीरा स्वीट्स द्वारा अपने रेस्टोरेन्ट के उत्सर्जित अवशिष्ट के अनुचित निस्तारण के क्रम में उन पर घनराशि 5 लाख (पाँच लाख रूपये मात्र) का अर्थदण्ड तत्काल अधिरोपित किया गया।

सैक्टर 51 से सैक्टर 52 (होशियारपुर) की तरफ जाने वाले मार्ग पर कई अवैध टैक्सी स्टैण्ड चल रहे है जिस कारण वहाँ यातायात अवरूद्ध हो रहा है तथा जाम की स्थिति बन रही है। सम्बन्धित वर्क सर्किल द्वारा क्षेत्र का भ्रमण नहीं किया जा रहा है। अगर भ्रमण किया गया होता तो उन्हें ज्ञात होता कि कहाँ-कहाँ अवैध टैक्सी स्टैण्ड चल रहे हैं तथा उससे क्या परेशानी हो रही है। अपने कार्यों के प्रति उदासीनता के लिए क्षेत्र के वरि० प्रबन्धक वर्क सर्किल को प्रतिकूल प्रविष्टि दी जाती है।

उप महा प्रबन्धक सिविल तत्काल पुलिस विभाग से समन्वय कर वहाँ संचालित अवैध टैक्सी स्टैण्ड को हटवाया जाना सुनिश्चित करें तथा यह भी सुनिश्चित करें कि पुनः वहाँ टैक्सी स्टैण्ड का संचालन न होने पाये।

4. अण्डरपास से सैक्टर 51 की तरफ बने फुटपाथ की स्थिति खराब पायी गयी। सैन्ट्रल वर्ज का पेन्ट खराब पाया गया। जगह-जगह से पेन्ट उखड़ गया है। तत्काल उसकी मरम्मत एवं पेन्ट का कार्य कराया जाये ।

 9,725 total views,  2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.