नोएडा खबर

खबर सच के साथ

एमिटी विश्वविद्यालय में तीन दिवसीय “इनबुश एरा वर्ल्ड सम्मिट 2022″का समापन

1 min read

 

-अकादमिकों को एमिटी ग्लोबल एंड एकेडमिक लीडरशिप अवार्ड से किया सम्मानित

नोएडा, 26 फरवरी।

छात्रों को व्यापारिक और शोध के सन्दर्भ में जानकारी प्रदान करने के लिए एमिटी इंटरनेशनल बिजनेस स्कूल द्वारा ’’ स्थायी विश्व स्तरीय संगठन बनाने के लिए व्यक्ति, ध्येय, साझेदारी, ग्रह और प्रदर्शन का पोषण’’ पर आयोजित त्रिदिवसीय बृहद अंर्तराष्ट्रीय व्यापार और शोध सम्मेलन इनबुश एरा वर्ल्ड सम्मेलन 2022 का आज समापन हो गया। इस समापन समारोह में एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष डा अशोक कुमार चौहान, एमिटी विश्वविद्यालय के चांसलर डा अतुल चौहान, एमिटी विद्यालय समूह की चेयरपरसन डा अमिता चौहान और एमिटी ग्रुप वाइस चांसलर डा गुरिंदर सिंह द्वारा योर्कविल विश्वविद्यालय की अध्यक्ष डा जुलिया क्रिस्टीन हुगेस, एमोरी विश्वविद्यालयस के गोयजुएटा बिजनेस स्कूल के प्रोफेसर ऑफ बिजनेस ड जगदीश सेठ अॅास्ट्रीया के साल्जबर्ग विश्वविद्यालय के डा शाहनवाज, नार्थ कारोलीना विश्वविद्यालय की प्रोवोस्ट डा तोन्या ए स्मित जैकसन और नाइजिरिया के बेन्यु स्टेट विश्वविद्यालय के रेक्टर एंड सीईओ के डा प्रदीप शर्मा को एमिटी ग्लोबल एंड एकेडमिक लीडरशिप अवार्ड से सम्मानित किया गया।
योर्कविल विश्वविद्यालय की अध्यक्ष डा जुलिया क्रिस्टीन हुगेस ने संबोधित करते हुए कहा कि एमिटी द्वारा इस सम्मान को प्राप्त करते अत्यंत प्रसन्नता हो रही है। हम छात्रों की क्षमता विकास, विश्व को परिवर्तीत करने की शक्ति के विकास के लिए कार्य करते है जिससे विश्व पर सकरात्मक प्रभाव पड़े।
एमोरी विश्वविद्यालयस के गोयजुएटा बिजनेस स्कूल के प्रोफेसर ऑफ बिजनेस ड जगदीश सेठ ने संबोधित करते हुए कहा कि प्राचीन विश्व क्रमांक यूएस कनाडा, जापान और वेस्टर्न यूरोप के मध्य तक सीमीत था और जीडीपी का 75 प्रतिशत इन 15 देशों द्वारा उत्पन्न होता था। कम्यूनिस्म का समापन, स्मार्ट फोन और सोशियल मिडिया, आधुनिक देशों का उदय, नये व्यापारिक नियम, साइबर सुरक्षा की आवश्यकता ने इस विश्व क्रमांक को बदला है। उन्होने नये विश्व क्रमांक की जानकारी प्रदान की।
एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष डा अशोक कुमार चौहान ने कहा कि जहां चाह होती है वहां राह होती है अगर आप इसका अनुकरण करेगें तो जीवन में अवश्य सफल होगें। हम ंविचार करना होगा कि आने वाला विश्व कैसा होगा और सभी के लिए विश्व को बेहतर स्थान किस प्रकार बनाना होगा।
एमिटी विश्वविद्यालय के चांसलर डा अतुल चौहान ने संबोधित करते हुए कहा कि जो कहते है और कर के दिखाते वो जीवन में सदैव सफल होते है और नेतृत्व करते है। इस सम्मेलन मंें वैश्विक अकादमिक क्षेत्रों के दिग्गजों, कोरपोरेट दिग्गज आकर जुड़े और छात्रों को मार्गदर्शन प्रदान किया। हम युवाओं के सकरात्मक परिवर्तन के लिए प्रतिबद्ध है।
समापन समारोह के अंर्तगत ‘‘इ इंटरनेशनल बिजनेस प्लान प्रतियोगिता एवं प्रशिक्षण – थिंकक्बटर’’ प्रतियोगिता में अद्वितीय राजवंश, लक्षित सेठ और सान्वी बंसल की टीम को प्रथम पुरस्कार, एमिटी इंटरनेशनल स्कूल गुडगांव की वंशिका अग्रवाल, एमिटी ग्लोबल बिजनेस स्कूल चेन्नई के अर्जुन, अनिश, नितिन, सैयद मोहम्मद उमर और कुशल की टीम को द्वितीय पुरस्कार, एमिटी इंटरनेशनल बिजनेस स्कूल नोएडा के आर्यन ठुकराल, शिवंाश कालरा, रिया डोगरा, प्रवण की टीम को तृतीय पुरस्कार सम्मानित किया गया। एमिटी इंटरनेशनल बिजनेस स्कूल की इशिता शर्मा को ‘‘ मोस्ट क्यूरियस एंटरप्रिन्यौर’’ अवार्ड, एमिटी इंटरनेशनल स्कूल नोएडा के पांच छात्र अभिमन्यु नेगी, श्रेयास गुप्ता, दिशिता जलान, अस्मित कंसल, संजली शर्मा की टीम मोस्ट डायनमिक एंटीप्रिन्यौर अवार्ड, यूटीपी मलेशिया की सुश्री गायत्री को ‘‘ मोस्ट सस्टेनेबिलिटी ड्राइवेन एंटीप्रिन्यौरियल प्रोजेक्ट अवार्ड से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर हैकथॉन प्रतियोगिता, केस स्टडी प्रतियोगिता, बेस्ट रिर्सच पेपर प्रतियोगिता के विजेताओं के नामो की घोषणा की गई।

 7,260 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.