नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नेफोवा ने मुख्यमंत्री से मिलकर गौतमबुद्धनगर के बायर्स की समस्याओं का ज्ञापन दिया

1 min read

ग्रेटर नोएडा, 22 जुलाई।

नेफोवा अध्यक्ष अभिषेक कुमार गुरुवार को लखनऊ में जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह के नेतृत्व में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर गौतम बुद्ध नगर के घर ख़रीदारों की समस्या और ग्रेनो वेस्ट की ज़रूरतों की पूरा कराने के लिए ज्ञापन दिया।

अभिषेक कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री से मिलकर घर ख़रीदारों की ज्वलंत समस्याओं को उनके संज्ञान में लाया जिससे उनका शीघ्रता से निवारण हो सके।

मुख्यमंत्री से मुलाकात में जिन मुद्दों का ज्ञापन दिया –

1. बने हुए फ्लैटों की रजिस्ट्री – गौतमबुद्ध नगर में सुपरटेक, साया, प्रतीक, महागुन, गौर, इत्यादि जैसे कई बिल्डर हैं जिन्होंने अपने हज़ारों फ्लैटों का कब्ज़ा दे दिया है, लोग रह भी रहे हैं, परन्तु अभी तक उन फ्लैटों की रजिस्ट्री नहीं हुयी है। रजिस्ट्री ना होने का मुख्य कारण बिल्डरों का प्राधिकरण पर पैसा बकाया होना है। मुख्यमंत्री से अनुरोध है कृप्या बिल्डर और प्राधिकरण को निर्देशित करते हुए बने हुए फ्लैटों की अविलम्ब रजिस्ट्री शुरू करवाने की कृपा करें।

2. स्पोर्ट सिटी का मामला – गौतमबुद्ध नगर में कई परियोजनाओं को स्पोर्ट सिटी के नाम से जारी किया गया था जिसमे खेल कूद की सुविधाओं के साथ रिहायसी फ्लैट भी बनाने थे। ऐसे कुछ परियोजनाओं में रिहायसी फ्लैट तो बन गए हैं परन्तु खेल कूद की सुविधाएँ विकसित नहीं हुयी हैं जिसके वजह से इन रिहायसी परियोजनाओं को प्राधिकरण से OC/CC नहीं मिल रहा और नाही रजिस्ट्री हो रही। इस परियोजनाओं में प्राधिकरण चाहे तो सभी रिहायसी परियोजनाएँ बनाने वाले बिल्डरों से शुल्क वसूल कर खेल कूद की सुविधाएँ विकसित कर सकती है जिससे रजिस्ट्री करवाने की बाधा दूर हो। मुख्यमंत्री जी से विनम्र अनुरोध है इन परियोजनाओं में बने हुए फ्लैटों की रजिस्ट्री का उपाय सुनिश्चित करवाने की कृपा करें।

3. आधे अधूरे बने बिल्डर परियोजना – गौतमबुद्ध नगर में मेफेयर, विक्ट्रीवन, फ्रेंच, श्री राधा स्काई, सुपरटेक, इत्यादि जैसे कई बिल्डर हैं जिन्होंने परियोजना को आधा ही बना कर छोड़ दिया है और लोग उसी आधे अधूरे प्रोजेक्ट में रहने को मजबूर हैं। इन परियोजनाओं में मूलभूत सुविधाओं का भी आभाव है। बिजली और पानी की व्यवस्था सुदृढ़ नहीं है और नाही परियोजना में क्लब, जिम, स्विमिंग पूल बना कर नहीं दिया है। मुख्यमंत्री से कहा है इन परियोजनाओं को पूरा करने हेतु सम्बंधित बिल्डर और प्राधिकरण को निर्देशित करें।

4. ग्रेटर नोएडा वेस्ट में सरकारी मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल – ग्रेटर नोएडा वेस्ट निवासी कई सालों से कई मंचो पर माँग कर रहे हैं कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट में बढ़ती हुयी आबादी को देखते हुए ग्रेटर नोएडा वेस्ट में एक सरकारी मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल की बहुत ज्यादा जरुरत है। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में काफी संख्या में हाई-राइज परियोजनाएँ बनी है जिसमे करीब 3.5-4 लाख लोग रह रहे। आने वाले 2 साल में इस क्षेत्र की जनसँख्या दोगुनी हो जाएगी, परन्तु इस क्षेत्र में सरकारी अस्पताल के नाम पर “प्राइमरी और सामुदायिक हेल्थ सेंटर” है। मौजूदा हेल्थ सेंटर जनसँख्या को देखते हुए नाकाफ़ी है, साथ ही इन हेल्थ सेंटरों पर मूलभूत सुविधाओं का भी आभाव है। ना X-ray की सुविधा है ना अल्ट्रासॉउन्ड की और नाही अलग अलग स्पेशलिटी के डॉक्टर की उपलब्धता है। मुख्यमंत्री जी से विनम्र अनुरोध है कृप्या ग्रेटर नोएडा वेस्ट में सरकारी मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल बनवाने की कृपा करें।

इन मुद्दों के अलावा ग्रेनो वेस्ट में अण्डरपास, फ्लाईओवर, रामलीला मैदान, खेल-कूद स्टेडियम, डिग्री कॉलेज, केंद्रीय विद्यालय, इत्यादि की जरुरतों के बारे में भी मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया जिन्हें उपलब्ध कराने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण प्रयासरत है और मुख्यमंत्री से अनुरोध किया कि इन जरूरतों की उपलब्धता को गति प्रदान करवाने की कृपा करें।

अभिषेक कुमार ने बताया कि सभी मुद्दों को मुख्यमंत्री जी ने गौर से सुना और सभी समस्याओं के समाधान हेतु आश्वाशन दिया है। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वह लगातार घर ख़रीदारों के समस्याओं के निवारण हेतु कटिबद्ध हैं और इन सभी समस्याओं का भी जल्द से जल्द निवारण किया जाएगा।

 1,289 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.