नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नोएडा की सीईओ रितु माहेश्वरी ने विकास कार्यों का लिया जायजा, शहर की दीवारों को साफ करने का निर्देश

1 min read

नोएडा, 2 मार्च।

नौएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्रीमती रितु माहेश्वरी द्वारा नौएडा के विभिन्न स्थलों का भ्रमण किया गया तथा नौएडा क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यों का निरीक्षण किया गया। स्वच्छ सर्वेक्षण के दृष्टिगत नौएडा में चल रहे सफाई, सौन्दर्यीकरण कार्यों की समीक्षा भी की गई तथा कार्यों में तीव्रता लाने एवं गुणवत्ता सम्बन्धी निर्देश दिये गये।

सर्वप्रथम सैक्टर-14ए से प्रस्थान कर उद्योग मार्ग होते हुये सैक्टर-14 की आन्तरिक सड़कों का निरीक्षण किया गया। तदोपरान्त उद्योग मार्ग के माध्यम से सैक्टर-1 की आन्तरिक सड़कें, टकसाल रोड आदि का निरीक्षण किया तथा विभिन्न स्थलों पर Direction Board ठीक कराने के निर्देश दिये गये। टकसाल रोड के उपरान्त उद्योग मार्ग का निरीक्षण किया गया, जहाँ सन्दीप पेपर मिल की दीवारें गन्दी पाई गई, जिसको सम्बन्धित कम्पनी के स्वामी से समन्व्य कर दीवारों को पुनः पेन्ट कराने के निर्देश दिये गये। इसके अतिरिक्त नौएडा की विभिन्न अवस्थापनाओं पर लगे अवैध Pamphlets को हटाने कार्यवाही एवं सम्बन्धित कम्पनियों पेनल्टी लगाने मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदया द्वारा निर्देशित किया गया।

उद्योग मार्ग निरीक्षण उपरान्त ग्राम झुण्डपुरा होते हुए एम0पी0-1 मार्ग निरीक्षण किया गया, जहाँ मोड समीप यू-टर्न पर चल रहे पेन्ट कार्य को 15 तक कराने निर्देश दिये गये।

एम0पी0-1 रोड़ निरीक्षण उपरान्त चौड़ा मोड़ होते अगाहपुर रोड़ क्रॉसिंग स्पाईस मॉल (स्मार्ट भारत मॉल) क्रॉसिंग होते एम०पी-2 निरीक्षण किया गया। स्पाईस मॉल पीछे रिक्त जोकि आवंटी द्वारा प्राधिकरण Surrender की गई है, को चारों ओर से कराने उक्त भूमि ‘नौएडा भूमि बोर्ड लगाये जाने निर्देश गये।

तदोपरान्त स्टेडियम रोड़ निरीक्षण किया गया स्पाईस मॉल एम0पी0-2 मार्ग तक के रोड फुटपाथ को कराने निर्देश दिये तत्पश्चात एम0पी0-2 एलिवेटेड रोड निरीक्षण किया गया ऐलिवेटेड रोड सैन्टल वर्ज के पेन्ट के कार्य को शीघ्रता से पूर्ण करने के निर्देश दिये गये। इसके अतिरिक्त विभिन्न स्थलों पर प्रगतिरत रिसर्फेसिंग के कार्यों को शीघ्रातिशीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिये गये। एम.पी.-2 एलिवेटेड रोड होते हुए अट्टा अण्डरपास एवं एक्सप्रेस वे के माध्यम से महामाया फ्लाईओवर के समीप “कालिन्दी कुंज प्रवेश द्वार” के कार्य की समीक्षा की गई, जहाँ प्रवेश द्वार के उद्यानीकरण एवं विद्युतीकरण कार्य को शीघ्र पूर्ण कराने हेतु सम्बन्धित खण्डों को निर्देशित किया गया एवं एन्ट्री गेट के समस्त कार्य 20 मार्च तक पूर्ण करने के निर्देश दिये गये।

सैक्टर-18 अण्डरपास में पिलर्स पर ए.सी.पी. शीट लगाने का कार्य मानक अनुरूप कराये जाने एवं टाईल का कार्य शीघ्र पूर्ण कराये जाने के निर्देश दिये गये।

तदोपरान्त नौएडा-ग्रेटर नौएडा एक्सप्रेस वे के समानान्तर मार्गों से होते हुये वर्क सर्किल-9 के क्षेत्र में सैक्टर-124 से 135 तक एवं सम्बन्धित ग्रामों का भ्रमण किया गया जहाँ पर अधिकतम अनुरक्षण का कार्य पूर्ण पाया गया। अवशेष कार्यों को एक सप्ताह में पूर्ण करने के निर्देश दिये गये साथ ही खाली भूखण्डों की सफाई कराने के निर्देश दिये गये। इसके अतिरिक्त सैक्टर-129 से 132 के मध्य मार्ग पर ड्रेन के निर्माण का कार्य प्रगतिरत पाया गया, जिसको आगामी 15 से 20 दिन में पूर्ण करने के निर्देश दिये गये। इसके अतिरिक्त ग्राम नगली वाजिदपुर का भी भ्रमण किया गया।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा सैक्टर-130 में नाले पर प्लास्टिक वेस्ट से निर्मित जाल लगाने के कार्य का निरीक्षण किया गया। उल्लेखनीय है कि वर्क सर्किलों द्वारा नालियों पर प्लास्टिक वेस्ट से निर्मित जाल लगाने की कार्यवाही की जा रही है, जिसके अन्तर्गत कुल प्रस्तावित 150 जालों के सापेक्ष लगभग 100 जाल लगाये जा चुके हैं।

नौएडा ग्रेटर-नौएडा एक्सप्रेस-वे पर 2.36 किमी0 चैनेज पर निर्माणाधीन अण्डरपास कार्य को पनः प्रारम्भ कराये जाने हेतु एवं संविदाकार पर पेनल्टी लगाये जाने के निर्देश दिये गये।

इसके अतिरिक्त अन्य दो स्थलों पर एक्सप्रेस-वे के चैनेज 10.300 किमी0 पर एडवान्ट मॉल के समीप निर्माणाधीन अण्डरपास को 31 मई 2022 तक तथा चैनेज 19.400/ किमी0 पर ग्राम कोण्डली के समीप निर्माणाधीन अण्डरपास को 30 अप्रैल 2022 तक पूर्ण करने के निर्देश दिये गये। साथ ही निर्माणाधीन अण्डरपास के निर्माण के कारण एक्सप्रेस-वे पर होने वाली टूट-फूट को तत्काल नियमित रूप से ठीक कराते रहें, ताकि एक्सप्रेस-वे पर यातायात का आवागमन प्रभावित न हो। साथ ही परियोजना को समयान्तर्गत पूर्ण कराने हेतु निर्देशित किया गया। अनुपालन न होने की दशा में संविदाकार के विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये।

नौएडा ग्रेटर-नौएडा एक्सप्रेस-वे की रिसर्फेसिंग कार्य को 30 अप्रैल तक पूर्ण कराने के निर्देश दिये गये।

तदोपरान्त एक्सप्रेस वे से होते हुये सर्किल-8 के क्षेत्र का निरीक्षण किया गया जहाँ पर सैक्टर- 108 में Judges Colony के सामने खाली भूखण्डों की सफाई कराने के निर्देश दिये गये। सैक्टर-108 में वाणिज्यिक भूखण्ड पर निर्माणाधीन कार्य के नाम के बोर्ड एवं ले-आउट प्लान स्थल पर सम्बन्धित संविदाकार के माध्यम से लगवाने हेतु निर्देशित किया गया। इसके अतिरिक्त ऐल्डिको क्रॉसिंग से फेलिक्स हॉस्पिटल को जाने वाले मार्ग पर सैन्ट्रल वर्ज एवं आर.सी.सी शोल्डर पर पेन्टिंग कराने के निर्देश दिये गये तथा साथ ही सैक्टर-105 के मार्ग पर निर्माणाधीन टाईल के कार्यों को जन स्वास्थ्य विभाग से समन्वय करते हुये स्वच्छता के साथ क्रियान्वित कराने के निर्देश दिये गये।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी  द्वारा सैक्टर-137 में Dog Park का निरीक्षण किया गया, जहाँ पार्क के समस्त उद्यानीकरण कार्य समयान्तर्गत पूर्ण करने हेतु उद्यान विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया। साथ ही सैक्टर की ग्रीन बेल्ट के निरीक्षण के दौरान ग्रीन बेल्ट के समुचित अनुरक्षण हेतु संविदाकार को निर्देश जारी करने हेतु निर्देशित किया गया। इसके अतिरिक्त Dog Park की पहुँच मार्ग को समयान्तर्गत एवं गुणवत्तापरक रूप से पूर्ण कराने हेतु निर्देशित किया गया।

इसके अतिरिक्त मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदया द्वारा नौएडा प्राधिकरण के समस्त खाली भूखण्डों पर “नौएडा भूमि” के बोर्ड लगाये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

तदोपरान्त मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदया द्वारा सैक्टर-91 पहुँचकर निर्माणाधीन वेटलैण्ड का निरीक्षण किया गया तथा परियोजना के उद्यानीकरण कार्य को प्रारम्भ कराते हुए समस्त कार्य 20 मार्च तक पूर्ण कराने हेतु निर्देशित किया गया।

वेटलैण्ड के निरीक्षणोपरान्त मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदया द्वारा डी०एस०सी० मार्ग पर निर्माणाधीन भंगेल एलिवेटेड रोड के कार्यस्थल पर पहुँचकर कार्य का समीक्षा की गई, जहाँ बरौला टी-प्वाईंट के समीप एलिवेटेड रोड के Bearing का कार्य चलता हुआ पाया गया। मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदया द्वारा परियोजना की प्रगति बढ़ाने हेतु सम्बन्धित वरिष्ठ प्रबन्धक एवं परियोजना की कार्यदायी संस्था उ०प्र० राज्य सेतु निगम लि० के प्रतिनिधियों को निर्देशित किया गया। साथ ही वरिष्ठ प्रबन्धक को सेतु निगम के अधिकारियों के साथ परियोजना की प्रगति के सम्बन्ध में नियमित रूप से बैठक आहूत किये जाने हेतु भी निर्देशित किया गया।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदया द्वारा निरीक्षण के दौरान प्रदत्त निर्देशों का विभागवार विवरण:

सिविल

1. शहर के अनुरक्षण हेतु सिविल विभाग द्वारा किया गया कार्य अच्छा है, विशेष रूप से सेन्ट्रल वर्ज, फुटपाथ एवं सड़कों का अनुरक्षण कार्य ।

प्रमुख बिंदु लंबित –

1. 70-80% अनुरक्षण पूरा हो गया है, सभी वर्क सर्किलों द्वारा अनुरक्षण के शेष कार्य 15 मार्च तक पूर्ण कर लिये जायें।

2. वर्क सर्किल-3 का कार्य संतोषजनक नहीं पाया गया, वर्क सर्किल के प्रभारी को चेतावनी पत्र जारी किया जाए और वर्क सर्किल 15 मार्च तक सभी अनुरक्षण कार्यों को आगे बढ़ाए।

3. सभी वर्क सर्किलों को साइन बोर्ड पर तुरंत काम करने की जरूरत है, कई क्षतिग्रस्त हैं, पोस्टर से भरे हुए हैं, न केवल मुख्य सड़कों पर बल्कि आन्तरिक सड़कों पर भी प्रत्येक साइन बोर्ड की सफाई / मरम्मत का कार्य प्राथमिकता के आधार पर शुरू कर 15 मार्च तक पूरा कर लिया जाए।

4. शहर भर में कई आम दीवारों पर लिखित प्रचार संदेश चित्रित किए गए हैं। सभी वर्क सर्किलों को उन्हें सफेद रंग से अथवा RWA / ग्रामवासियों के सहयोग से आकर्षक कला के माध्यम से तुरंत पेन्ट करने की आवश्यकता है।

5. विभिन्न स्थलों पर कई सड़क किनारे-जंगली घास उग गई है तथा अनावंटित भूखण्ड भी कचरे और घास से भरे हैं। सभी वर्क सर्किलों को तत्काल दोनों बिन्दुओं पर कार्यवाही करने की आवश्यकता है।

6. अवशेष वर्क सर्किलों – 4,5,6,7 के क्षेत्रों एवं कार्यों का भ्रमण 15 मार्च को एक ही समय पर किया जायेगा। सभी वर्क सर्किलों द्वारा तब तक समस्त अनुरक्षण कार्य आवश्यक रूप से पूर्ण करना सुनिश्चित किया जाये।

उद्यान

1. सम्पूर्ण शहर में जगहों पर पौधे गायब / सूखे हैं। सभी तीनों खण्डों द्वारा 14 मार्च तक नये गमले व पौधे लगाये जायें।

2. सड़क किनारे ग्रीन बेल्ट, कचरे से भरा, अनुचित रखरखाव और झुग्गियों आदि द्वारा अतिक्रमण किया गया है, सभी उप निदेशक इन दोनों बिन्दुओं पर कार्यवाही करें।

3. मार्गों पर पेड़ों की छंटाई भलीभाँति नहीं की जा रही है, जो कि रात्रि में स्ट्रीट लाईट के प्रकाश को सड़क पर आने से बाधित करता है तथा सड़कों पर अंधेरा रहता है। अतः पेड़ों की छंटाई करायी जाये, ताकि सड़कों पर पर्याप्त प्रकाश व्याप्त रहे।

जल / सीवर विभाग

1. सड़क किनारे नलकूप भवनों, पानी की टंकियों को तत्काल प्राथमिकता के आधार पर अच्छे कलाकृतियों से रंगने की आवश्यकता है।

बीओटी
1. सभी फुट ओवर ब्रिज पोस्टरों से भरे हुए है।

2. सभी Central / side verges / boards पोस्टरों से भरे हुए हैं सभी की साफ-सफाई करते हुए पोस्टर लगाने वालों पर भारी जुर्माना लगाएं।

जनस्वास्थ्य

1. साधारणतः शहर में साफ-सफाई अच्छी दिखई दी और सफाईकर्मी कार्य पर लगे हुए पाये गये। जनस्वास्थ्य विभाग यह सुनिश्चित करें कि यह स्थिति प्रतिदिन होनी चाहिए न कि केवल निरीक्षण के दौरान ।

2. सड़क किनारे उगी अनावश्यक घास की सफाई को प्राथमिकता के आधार पर तत्काल 15 मार्च तक पूरा कर लिया जाए

3. C&D Waste Remediation Plan जर्जर दिखते हैं, उनके बाहरी हिस्से में अच्छी दीवार कला होनी चाहिए जैसा कि एलिवेटेड रोड के नीचे किया गया है। उन्हें साफ और व्यवस्थित किया जाये।

4. स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 से सम्बन्धी वॉल-पेन्टिंग का कार्य प्राथमिकता के आधार पर किये जाने की आवश्यकता है। डिजाइनों को सर्वोच्च प्राथमिकता पर मंजूरी प्राप्त करते हुए सीएसआर / अन्य माध्यम से शीघ्रातिशीघ्र कार्यवाही की जाये।

विद्युत्त / यांत्रिकी

1. समस्त मुख्य मार्गों पर लाईटें क्रियाशील करते हुए मार्गों को प्रकाशमान किया जाये।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदया द्वारा निर्देशित किया गया कि अगला भ्रमण 15 मार्च को किया जायेगा, जिसमें न केवल सिविल अनुरक्षण कार्य, अपितु उद्यान, बी.ओ.टी. तथा जल / सीवर अनुरक्षण कार्य की स्थिति की भी समीक्षा की जायेगी।

 2,540 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.