नोएडा खबर

खबर सच के साथ

स्पेशल स्टोरी -बीजेपी ने नोएडा में संगठन व जनप्रतिनिधियों के बीच साधा जातीय गणित का संतुलन

1 min read

विनोद शर्मा
(नोएडा खबर डॉट कॉम न्यूज ब्यूरो)
नोएडा, 28 अगस्त,
नोएडा विधानसभा के चुनाव की तैयारियां शुरू हो गई हैं। विभिन्न राजनीतिक दल अपने-अपने हिसाब से मतदाताओं  के बीच पैठ बनाने की कोशिश में है। बीजेपी ने सांसद से लेकर संगठन के पदों में इस तरह का संतुलन साधा है ताकि शहरी और ग्रामीण वोटर पर अपनी पैठ बनी रहे।
वर्ष 2012 में जब पहली बार नोएडा विधानसभा बनी थी तब से यह सीट बीजेपी के खाते में रही है। वर्ष 2012 में पहली बार बीजेपी ने ब्राह्मण प्रत्याशी डॉ. महेश शर्मा को टिकट दिया और वे चुनाव जीते । 2014 में डॉ महेश शर्मा के लोकसभा के लिए चुने जाने के बाद डॉ महेश शर्मा की जगह बीजेपी ने वैश्य जाति की विमला बाथम को टिकट दिया। वे भी आसानी से यह चुनाव जीत गई। 2017 के चुनाव में बीजेपी ने फिर जातिगत समीकरणों से अलग ठाकुर के नाते राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह को टिकट दिया और वे भारी बहुमत से जीते। अब 2022 का चुनाव सामने है। इस समय स्थिति ऐसी हैं बीजेपी ने पंकज सिंह का कद और बढ़ा दिया है। उन्हें पार्टी ने प्रदेश उपाध्यक्ष के साथ-साथ बीजेपी युवा मोर्चा का प्रदेश प्रभारी बनाया है। वे मेरठ विधानसभा के प्रभारी भी है इस सीट को जिताने की जिम्मेदारी भी पंकज सिंह की है। लोकसभा चुनाव में पंकज सिंह को गोरखपुर लोकसभा का प्रभारी बनाया गया था। ऐसे समय में नोएडा विधानसभा सीट पर पंकज सिंह के अलावा बीजेपी में किसी अन्य नाम पर विचार मुश्किल है। इसके बावजूद सभी जातियों के साथ संतुलन साधने की बात है तो नोएडा महानगर के पूर्व जिला अध्यक्ष रहे गूर्जर जाति से बिजेंद्र नागर को पश्चिमी यूपी की क्षेत्रीय टीम में शामिल किया गया है। दादरी से पूर्व विधायक नवाब सिंह नागर इस समय लालबहादुर शास्त्री गन्ना विकास संस्थान के अध्यक्ष हैं। उन्हें बुलंदशहर विधानसभा का प्रभारी भी बनाया गया है। इसी तरह नोएडा विधानसभा से 2017 में टिकट मांगने वाले कैप्टन विकास गुप्ता कृषि अनुसंधान संस्थान के अध्यक्ष हैं उन्हें धौलाना विधानसभा का प्रभारी बनाया गया है। नोएडा में पूर्व विधायक रही विमला बाथम उत्तर प्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष के रूप में काम कर रही हैं।
इस समय नोएडा में सांसद डॉ महेश शर्मा ब्राह्मण, विधायक पंकज सिंह ठाकुर, महानगर जिलाध्यक्ष मनोज गुप्ता वैश्य व युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष रामनिवास यादव ओबीसी कैटिगरी से आते हैं। महिला मोर्चा में भी शारदा चतुर्वेदी शहरी महिलाओं के बीच गहरी पैठ रखती हैं। इनके अलावा पार्टी ने नोएडा के पूर्व महानगर अध्यक्ष राकेश शर्मा को प्रदेश कार्यकारिणी में शामिल किया है।
नए संगठन में नोएडा महानगर अध्यक्ष की जिम्मेदारी अब वैश्य जाति से मनोज गुप्ता कर रहे हैं। मनोज गुप्ता वैसे भी स्थानीय हैं और भंगेल गांव के रहने वाले हैं। युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष का जिम्मा रामनिवास यादव को सौंपा गया है। वे गढी चौखंडी के रहने वाले हैं और संघ व संगठन में उनकी पकड है। वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुडे रहे हैं। रामनिवास यादव अकेले यादव जाति से हैं जिन्हें युवा मोर्चा ने नोएडा में जिलाध्यक्ष बनाया है। महिला मोर्चा में शारदा चतुर्वेदी को जिलाध्यक्ष बनाया गया है जबकि पूर्व महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष डिंंपल आनंद को पार्टी ने जिला संगठन में जगह दी हुई है। एससी एसटी से गणेश जाटव को पार्टी ने जिला संगठन में अहम जिम्मेदारी सौंपी हुई है।  बीजेपी ने कई प्रकोष्ठ में अलग-अलग नेताओं को समायोजित कर बूथ स्तर तक की तैयारी कर ली है। यानी 2022 के चुनाव में नोएडा सीट को लेकर बीजेपी ने अपनी रणनीति लगभग तय कर ली है।

 3,732 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.