नोएडा खबर

खबर सच के साथ

नोएडा, 16 फरवरी।

नोएडा शहर की स्थापना के साथ ही दिल्ली की तर्ज पर दिल्ली परिवहन निगम की रूट नंबर बस सेवा 1978 में इस शर्त पर शुरू हुई थी कि दिल्ली जैसा रेट और रूट होंगे इसके बदले में नोएडा प्राधिकरण ने सेक्टर 16 में डीटीसी की डिपो के लिए जमीन दी थी यह डिपो आज भी चल रहा है और डीटीसी की बस नोएडा शहर को सेवा दे रही हैं।

उत्तर प्रदेश सरकार ने 2006 में दिल्ली परिवहन निगम की बजाए यूपी रोडवेज की सिटी बस सेवा शुरू कर दी इसके लिए मुलायम सिंह सरकार ने सेक्टर 35 के मोरना में यूपी रोडवेज के बस अड्डे की शुरुआत की। इस डीटीसी डिपो को स्थापित हुए लगभग 44 साल होने जा रहे हैं और यूपी रोडवेज के बस अड्डे को स्थापित किए हुए 16 साल होने जा रहे हैं जब डीटीसी बस सेवा शुरू हुई थी तब शहर में जगह-जगह बस स्टैंड बनाए गए थे ताकि धूप और बरसात में यात्रियों को दिक्कत ना हो धीरे-धीरे शहर ने स्वरूप बदला। बसों के रूट नंबर बदले गए और सड़कों के विस्तार ने बस स्टैंड को भी गायब कर दिया। आज अधिकतर बस स्टैंड गायब हैं लोगों को धूप और बरसात से बचने को कोई सुविधा नही है।

2012 में अखिलेश सरकार ने नोएडा में सिटी बस के रूप में नोएडा मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के अंतर्गत बस सेवा शुरू की। योगी सरकार में सिटी बस बंद हो गई। सेक्टर 35 में यूपी रोडवेज का बस अड्डा 16 साल बाद आज भी जस का तस है। इसके बजाय अखिलेश सरकार ने सेक्टर 82 में एक नया बस अड्डा बनाया जो पिछले 5 सालों में बनकर तैयार नहीं हो पाया है , वही सिटी बस बंद होने के कारण लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। डीटीसी को भी इंटरस्टेट बस सर्विस में बदल दिया गया। पहले दिल्ली और नोएडा के बीच में रूट नंबर और रेट लगभग समान थे अब दिल्ली और नोएडा के बीच में बस यात्रियों पर अतिरिक्त भार लगता है। जबकि दिल्ली मेट्रो में यह छूट लागू है।

विधानसभा चुनाव के दौरान विभिन्न प्रत्याशियों से चर्चा के दौरान यह मुद्दा उठा कि डीटीसी की बस सेवा का क्यों नहीं विस्तार किया जाता,  जो रूट पहले से तय हैं उन्हें आगे भी बढ़ाया जा सकता है और जैसे-जैसे नोएडा ग्रेटर नोएडा बने हैं उसके हिसाब से डीटीसी बस सेवाओं को बढ़ाया जा सकता है आनंद विहार से इंदिरापुरम होते हुए ग्रेटर नोएडा वेस्ट तक डीटीसी की बस सेवा शुरू की जा सकती है इसी तरीके से शाहदरा से आने वाली बस सेवा को सेक्टर 62 से सेक्टर 78 तक ले जाया जा सकता है,  दिल्ली से आने वाली डीटीसी की बस सेवाओं को एक्सप्रेस वे के रास्ते सेक्टर 93 व 137 तक भी ले जाया जा सकता है इन बस सेवाओं के विस्तार पर चर्चा कौन करें, जिला अधिकारी की कोई महत्वपूर्ण भूमिका नहीं है नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी पब्लिक ट्रांसपोर्ट को अपने कार्य का हिस्सा नहीं मानते। पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू होने के बाद डीटीसी की बस सेवा के विस्तार के बारे में किसको कार्य करना है यह कौन तय करेगा। जनता लगातार मांग करती रहती है आज नोएडाखबर.कॉम  के माध्यम से इस महत्वपूर्ण बिंदु पर चर्चा की जा रही है। नोएडा विधानसभा से प्रत्याशी पंखुड़ी पाठक आम आदमी पार्टी प्रत्याशी पंकज गाना अब आना अवाना बसपा प्रत्याशी कृपाराम शर्मा नए डीटीसी की बस सेवा को विस्तार से लागू करने का मुद्दा उठाया था यही बात नूरा के अध्यक्ष रंजन तोमर और नोएडा सिटीजन फोरम के अध्यक्ष पी एस जैन ने भी उठाई थी आने वाले समय में इस मुद्दे पर चर्चा जरूर होगी और यह नोएडा शहर की जनता के बीच बहस का मुद्दा बनेगा।

(Noidakhabar.com के लिए वरिष्ठ पत्रकार विनोद शर्मा की रिपोर्ट)

 3,692 total views,  2 views today

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published.

साहित्य-संस्कृति

चर्चित खबरें

You may have missed

Copyright © Noidakhabar.com | All Rights Reserved. | Design by Brain Code Infotech.